C Reactive Protein (CRP) in Hindi

C Reactive Protein (CRP) | सीआरपी बढ़ने के लक्षण, कारण और उपाए

C Reactive protein in Hindi : सी-रिएक्टिव प्रोटीन रक्त में पाया जाने वाला एक प्रोटीन है, जिसका उच्च स्तर किसी गंभीर संक्रमण या बीमारी का संकेत हो सकता है। आज C reactive protein test शरीर में संक्रमण का एक महत्वपूर्ण मार्कर (marker) माना जाता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि अधिकांश मामलों में सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) संक्रमण के शुरुआत में ही बन जाते हैं, जिससे हम किसी गंभीर बीमारी का पता पहले ही लगा सकते हैं। इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको सीआरपी बढ़ने के लक्षण, कारण और कम करने के उपाए बता रहे हैं।

तो चलिए अब इस पोस्ट को शुरू करते हैं।

Contents hide

सी रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) क्या है? | What is C reactive protein (CRP) in Hindi

CRP means in Hindi

सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) की खोज 1930 में टायलेट और फ्रांसिस ने न्यूमोकोकस संक्रमण से पीड़ित रोगियों के सीरम की जांच के दौरान की थी। (1)

सी-रिएक्टिव प्रोटीन एक प्रकार का एक्यूट इंफ्लेमेटरी प्रोटीन (acute inflammatory protein) हैं जिसे लीवर शरीर में सूजन या संक्रमण के दौरान बनाता है।

इन्फेक्शन के दौरान हमारा इम्यून सिस्टम अधिक सक्रीय हो जाता है और संक्रमण दूर करने के लिए वह अधिक मात्रा में इंटरल्‍यूकिन-6 (IL-6) बनता है। ब्लड में मौजूद IL-6, सीआरपी के उत्पादन को प्रेरित करते हैं। इसलिए सीआरपी की उपस्थिति किसी संक्रमण या सूजन का संकेत हो सकता है। (2)

और पढ़ें – मेनियार्स रोग क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

उच्च सीआरपी होने का क्या अर्थ है? | CRP High means in Hindi

c reactive protein high in Hindi

सी-रिएक्टिव प्रोटीन का उच्च स्तर हृदय धमनियों की सूजन को दर्शाता है, जो हार्ट अटक का पहला संकेत हो सकता है।

इसके अलावा उच्च सीआरपी तीव्र सूजन या संक्रमण का संकेत भी हो सकता है। (4)

यह सूजन या संक्रमण बैक्टीरियल इन्फेक्शन, पाचन सम्बन्धी बीमारी, स्व – प्रतिरक्षित रोग, फंगल इन्फेक्शन, कैंसर, मोटापा, सीलियक रोग, हृदय रोग, ऑस्टियोमाइलाइटिस बीमारी के कारण से हो सकता है।

और पढ़ें – जानिए घबराहट के दौरे क्या हैं, और क्यों आते हैं।

सीआरपी बढ़ने के लक्षण | Symptoms of High CRP in Hindi

सीआरपी बढ़ने के लक्षण, Symptoms of high CRP in Hindi

ब्लड में उच्च सी-रिएक्टिव प्रोटीन का होना किसी संक्रमण (infection) या सूजन (inflammation) का संकेत हो सकता है।

इन दोनों ही स्थितियों में उच्च सी-रिएक्टिव प्रोटीन के लक्षण अलग अलग हो सकते हैं।

बैक्टीरिया संक्रमण के कारण उच्च सी-रिएक्टिव प्रोटीन के लक्षणों में शामिल हैं – (2 & 5)

  • उच्च बुखार,
  • तीव्र हृदय गति,
  • अधिक पसीना, ठंड लगना, या कंपकंपी,
  • अनियंत्रित या लगातार उल्टी या दस्त,
  • सांस लेने में दिक्क्त,
  • दाने या पित्ती निकलना,
  • होंठ, मुंह और त्वचा का सूखना,
  • चक्कर आना या बेहोशी,
  • तेज सिरदर्द, शरीर में दर्द, जकड़न, या पीड़ा।

और पढ़ें – क्रोहन (क्रोन) रोग क्या है, जानिए इसके लक्षण, कारण व उपचार

सूजन के कारण उच्च सी-रिएक्टिव प्रोटीन के लक्षणों में शामिल हैं -(2 & 5)

  • थकावट,
  • मांसपेशियों में दर्द, अकड़न और कमजोरी,
  • हल्का बुखार,
  • ठंड लगना और सिरदर्द,
  • जी मिचलाना, भूख न लगना और अपच,
  • सोने में कठिनाई या अनिद्रा,
  • वजन घटना।

और पढ़ें – Acid reflux (हाइपर एसिडिटी) और खट्टी डकार से छुटकारा पाने का घरेलू इलाज

सीआरपी बढ़ने के कारण – Causes of C Reactive Protein in Hindi

सीआरपी बढ़ने का कारण निम्नलिखित रोग या संक्रमण हो सकते हैं। जिसमें शामिल हैं – (3)

  • बैक्टीरियल इन्फेक्शन: जैसे सेप्सिस,
  • वायरस संक्रमण जैसे कोरोना वायरस,
  • इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज: एक पाचन संबंधी समस्या है जो आंतों में सूजन और रक्तस्राव का कारण बनता है,
  • ऑटोइम्यून विकार जैसे ल्यूपस या रुमेटीइड गठिया,
  • ऑस्टियोमाइलाइटिस बीमारी : हड्डी का संक्रमण,
  • उच्च ट्राइग्लिसराइड्स और कम एचडीएल कोलेस्ट्रॉल,
  • अंग और ऊतक की चोट,
  • फंगल  इन्फेक्शन,
  • कैंसर,
  • मोटापा,
  • सीलियक रोग,
  • हृदय रोग।

और पढ़ें –  थायराइड के प्रारंभिक लक्षण, कारण और इलाज

सीआरपी ब्लड टेस्ट | C Reactive Protein (CRP) Test in Hindi

सीआरपी टेस्ट, hs-CRP in Hindi

CRP test kya hai in Hindi

सीआरपी ब्लड टेस्ट एक महत्वपूर्ण जांच है, जो रक्त में सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) की मात्रा को मापता है। ब्लड में सीआरपी का उच्च स्तर, शरीर में किसी इन्फेक्शन को दर्शाता है। हालांकि, सीआरपी टेस्ट यह नहीं बताता की इन्फेक्शन कहाँ स्थित है। (6)

सीआरपी ब्लड परीक्षण कराने से पहले उपवास करने या तरल पदार्थों से परहेज करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, डॉक्टर सीआरपी परीक्षण के साथ अन्य परीक्षण भी करवा सकते हैं, और इसके लिए 9-12 घंटे का उपवास की आवश्यकता हो सकती है।

अगर आप किसी भी तरह की दवा या हर्बल प्रोडक्ट ले रहे हैं तो टेस्ट से पहले डॉक्टर को उसके बारे में जरूर बताएं।

और पढ़ें – हर्पीस सिम्पलेक्स वायरस: लक्षण, कारण और इलाज

सीआरपी ब्लड टेस्ट के प्रकार | Types of CRP Blood Tests in Hindi

सीआरपी ब्लड टेस्ट दो प्रकार के होते हैं।

  • परंपरागत सी-रिएक्शन प्रोटीन (Standard C-reactive protein) परीक्षण और
  • उच्च-संवेदनशीलता सी-रिएक्टिव प्रोटीन (High-sensitivity C-reactive protein/ hs-CRP) परीक्षण।

ये दोनों ही टेस्ट ब्लड में सी-रिएक्टिव प्रोटीन को मापते हैं।

1. परंपरागत सी-रिएक्टिव प्रोटीन (Standard C-reactive protein)

परंपरागत सी-प्रतिक्रिया प्रोटीन परीक्षण विभिन्न बीमारियों को उजागर करने में मदद करता है। जैसे- मधुमेह, उच्च रक्तचाप, वायरल  संक्रमण, बैक्टीरियल इन्फेक्शन, ट्यूमर, कैंसर आदि।

2. हाई-सेंसिटिव सी-रिएक्टिव प्रोटीन (High-sensitivity C-reactive protein/ hs-CRP)

उच्च-संवेदनशीलता सी-रिएक्टिव प्रोटीन (hs-CRP) परीक्षण परंपरागत सी-प्रतिक्रिया प्रोटीन परीक्षण की तुलना में थोड़ा अलग परीक्षण है, जो हृदय रोग की पूर्व सूचना प्रदान करता है।

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (एएचए) और सीडीसी (CDC) के अनुसार, उच्च-संवेदनशीलता सी-रिएक्टिव प्रोटीन (hs-CRP) परीक्षण आमतौर पर हृदय रोग और स्ट्रोक की पूर्व-सूचना प्रदान करता है।

hs-CRP टेस्ट, ब्लड में प्रोटीन के निम्न स्तर (0.5–10 mg/L) को मापता है, जबकि नियमित सी-रिएक्शन प्रोटीन टेस्ट, ब्लड में प्रोटीन के उच्च स्तर (10–1,000 mg/L) को मापता है।

और पढ़ें – हृदय रोग क्या है? जानिए इसके प्रकार, लक्षण, कारण और बचाव

सीआरपी ब्लड टेस्ट कैसे किया जाता है? | CRP test procedure in Hindi

सीआरपी ब्लड टेस्ट के लिए ब्लड सीरम सैंपल (serum sample) की आवश्यकता होती है। इसके लिए आपकी बांह या हाथ की नस से ब्लड लिया जाता है। इस टेस्ट के लिए लगभग 2-3 ml रक्त कि जरुरत होती है।

और पढ़ें – नींद के दौरान सांस का बार-बार रुकना (लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज)

सीआरपी का सामान्य स्तर क्या है? | CRP Test Normal Range in Hindi

c reactive protein level in Hindi

स्वस्थ वयस्कों में परंपरागत सीआरपी (standard CRP) का सामान्य स्तर 0.8 मिलीग्राम / लीटर  से लेकर 3.0 मिलीग्राम / लीटर तक होता है।

3.0 मिलीग्राम / लीटर से ऊप्पर का स्तर असमान्य सीआरपी माना जाता है। (7 & 8)

3 mg/L और 10 mg/L के बीच का स्तर आमतौर पर मधुमेह, उच्च रक्तचाप, तंबाकू और धूम्रपान का कारण हो सकता है।

10 mg/L और 100 mg/L के बीच का स्तर वायरल  संक्रमण (COVID-19 आदि), ट्यूमर और कैंसर आदि का संकेत हो सकता है।

100 mg/L से ऊप्पर का स्तर बैक्टीरियल संक्रमण का संकेत ​हो सकता है।

और पढ़ें – इस्केमिक हृदय रोग क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

हाई-सेंसिटिव सीआरपी का सामान्य स्तर क्या है? | Normal Range of hs-CRP Test in Hindi

उच्च-संवेदनशीलता सीआरपी ( hs-CRP ) का सामान्य स्तर 1 मिलीग्राम प्रति लीटर या उससे कम माना जाता है।

यदि ब्लड में hs-CRP का स्तर 1 मिलीग्राम प्रति लीटर या उससे कम है तो यह हृदय रोग के लिए कम जोखिम होता है।

hs-CRP का 1-3 मिलीग्राम प्रति लीटर से अधिक का स्तर हृदय रोग के लिए मध्यम जोखिम होता है, जबकि एचएस-सीआरपी का स्तर 3 मिलीग्राम प्रति लीटर से अधिक है तो यह हृदय रोग के लिए उच्च जोखिम वाला हो सकता है। (9)

हालांकि, 10 मिलीग्राम प्रति लीटर से अधिक सीआरपी स्तर एक तीव्र कोरोनरी प्रक्रिया को दर्शाता है, जैसे कि दिल का दौरा।

hs-CRP परीक्षण रेंज (hs-CRP test range)

जोखिम

(Risk)

hs-CRP स्तर

(hs-CRP Level)

कम-जोखिम वाला समूह (Low risk) 1 milligram (mg) per liter or less
मध्य जोखिम वाला समूह (Moderate risk) Between 1 and 3 mg per liter
उच्च जोखिम वाला समूह (High risk) Greater than 3 mg per liter
Acute plaque rupture (a stroke or heart attack) Greater than 10 mg per liter

Note- इस बात का ध्यान रखें कि यदि आपका hs-CRP स्तर अधिक है, तो इसका निश्चित रूप से यह मतलब नहीं है कि आपको कोई हृदय रोग है। हृदय रोग का और अधिक मूल्यांकन करने के लिए डॉक्टर अन्य परीक्षण करवा सकते हैं।

और पढ़ें – हार्ट फेल का कारण बन सकता है कार्डियक अस्थमा

सीआरपी टेस्ट रिपोर्ट कैसे पढ़ें | CRP Test Report in Hindi

सीआरपी टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव या पोस्टिव दोनों में से कोई भी हो सकती है।

निगेटिव सीआरपी टेस्ट का क्या मतलब है?- CRP test negative means in Hindi

सीआरपी टेस्ट नेगेटिव मतलब है शरीर में किसी इन्फेक्शन का ना होना। हालांकि इस बात का ध्यान रहे कि कभी-कभी इन्फेक्शन या सूजन होने के बाबजूद भी सीआरपी टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आ सकती है।

और पढ़ें – साइनोसाइटिस (साइनस) के लक्षण, कारण और इलाज (आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक)

पॉजिटिव सीआरपी टेस्ट का क्या मतलब है? – CRP positive means in Hindi

ब्लड में सीआरपी का उच्च स्तर या CRP टेस्ट का पॉजिटिव होना शरीर में किसी संक्रमण या सूजन को दर्शाता है। हालांकि, ये संक्रमण और सूजन शरीर के किस अंग में मौजूद है यह टेस्ट में पता नहीं चलता है।

सीआरपी टेस्ट नॉन रिएक्टिव और रिएक्टिव का मतलब क्या है? – CRP test reactive and non reactive means in Hindi

सीआरपी टेस्ट नॉन रिएक्टिव का मतलब है कि व्यक्ति में कोई संक्रमण नहीं है। मतलब टेस्ट वैल्यू सामान्य स्तर पर है। जबकि, सीआरपी टेस्ट रिएक्टिव का मतलब है कि व्यक्ति में कोई संक्रमण है। मतलब टेस्ट वैल्यू सामान्य स्तर से ऊप्पर है।

सीआरपी का उच्च स्तर खराब क्यों माना जाता है? | Why Are Higher Levels of CRP Bad in Hindi

अध्ययनों से पता चलता है कि सीआरपी का उच्च स्तर शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि सीआरपी खुद से शरीर की सूजन को बढ़ा सकता है, ह्रदय की रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है और साथ ही शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव पैदा कर सकता है। (10)

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन द्वारा 2003 में किये गए एक अध्ययन के अनुसार, सीआरपी के निम्न स्तर वाले लोगों की तुलना में सीआरपी के उच्च स्तर वाले लोगों में दिल का दौरा पड़ने की संभावना दो से तीन गुना अधिक थी। (11)

2013 में की गई एक स्टडी में शोधकर्ताओं ने पाया कि 10 मिलीग्राम/ली से अधिक सीआरपी का स्तर एक घातक हृदय रोग के विकास के जोखिम को जन्म दे सकता है।(12)

और पढ़ें – हार्ट अटैक (Myocardial infarction) के लक्षण,कारण और बचाव

अन्य अध्ययनों से पता चला है कि सीआरपी रक्त वाहिकाओं की दीवारों और रक्त वाहिका की मांसपेशियों में inflammatory molecules को बढ़ा सकते हैं, जो बाद में  रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

इसके अलावा, सीआरपी इंसुलिन सिग्नलिंग को रोक सकते हैं, जिससे शुगर मांसपेशियों के ऊतकों में प्रवेश नहीं कर पता है और जिसकारण मासपेशियां कमजोर पड़ने लगती हैं। (13 & 14)

और पढ़ें – जानिए हार्ट अटैक कब, कैसे और क्यों आता है।

संक्रमण के कितने दिन बाद उच्च सीआरपी स्तर सामान्य हो जाता है? | CRP Recovery Time in Hindi

संक्रमण के 4-6 घंटे बाद सीआरपी का स्तर बढ़ना शुरू हो जाता है, जो हर 8 घंटे में दोगुना हो सकता है और 36-72 घंटों के भीतर चरम पर पहुंच सकता है।

हालांकि, सीआरपी का स्तर संक्रमण के लगभग 3-4 दिनों के बाद सामान्य हो जाता है।

सी-रिएक्टिव प्रोटीन कम करने के उपाय | Tips to Lower CRP Level in Hindi

How to Lower High Levels of CRP in Hindi

सीआरपी कम करने के घरेलू उपाय – How to decrease CRP level at home in Hindi?

उच्च सीआरपी स्तर घरेलू उपचार (C reactive protein Ka upchar in Hindi) द्वारा ठीक किया जा सकता है। इन घरेलू उपचार में शामिल हैं- (15 & 16)

व्यायाम : उच्च सी-रिएक्टिव प्रोटीन को कम करने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करें।

पर्यावरणीय तनाव से दूर रहें  : उच्च सीआरपी स्तर को कम करने के लिए पर्यावरणीय तनाव (environmental stress) से दूर रहें जिसमें धुएं, स्मॉग और प्रदूषण प्रमुख हैं।

अतरिक्त वजन को कम करें : अधिक वजन और मोटापे से ग्रस्त लोगों में, वजन घटाने और वसा में कमी, सीआरपी के स्तर में कमी ला सकती है।

पौष्टिक आहार लें : एक स्वस्थ आहार आपके उच्च सी-रिएक्टिव प्रोटीन के स्तर को कम कर सकती है। माना जाता है कि उच्च फाइबर युक्त फल और सब्जियां उच्च सीआरपी के स्तर को कम करने में मदद कर सकती हैं।

और पढ़ें – किडनी रोगियों के लिए कम प्रोटीन डाइट

शराब कम पियें : हल्के शराब का सेवन (1 गिलास/ दिन), निम्न सीआरपी स्तरों के साथ जुड़ा हुआ है। इसलिए सी-रिएक्टिव प्रोटीन को कम करने के लिए शराब का सेवन कम करें और धूम्रपान बिलकुल भी ना करें।

योग और ध्यान करें : योग और ध्यान, सी-रिएक्टिव प्रोटीन के निम्न स्तर से जुड़ा हुआ है। अध्ययनों से पता चलता है कि योग या ध्यान यदि 7 से 16 सप्ताह (साप्ताहिक 1 – 3 घंटे) तक किये जाएं तो यह सीआरपी के उच्च स्तर में महत्वपूर्ण सुधार ला सकते हैं।

कॉफी और ग्रीन टी पियें  : शोध से पता चलता है कि जो लोग कॉफी और ग्रीन टी पीते हैं उन लोगों में सीआरपी का स्तर कम देखा गया।

एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि पुरुषों में कॉफी का बढ़ा हुआ स्तर, सीआरपी के स्तर को कम करता है। हालांकि महिलाओं में इसका कोई असर नहीं देखा गया है।

इसके अतिरिक्त, कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि ग्रीन टी का अर्क पुरुषों और महिलाओं में सीआरपी के स्तर को कम करता है।

और पढ़ें –  इन एंटीऑक्सीडेंट आहार से करें अपना वजन कम।

सीआरपी ब्लड टेस्ट किसे करवाना चाहिए? | Who should get the CRP blood test in Hindi

ऐसे व्यक्ति जिन्हें हृदय रोग हो या हृदय रोग होने की सम्भावना अधिक हो, डॉक्टर अक्सर सीआरपी टेस्ट करवाने की सलाह देते हैं।

इसके अलावा डॉक्टर उन व्यक्तियों को भी सीआरपी टेस्ट करवाने की सलाह दे सकते हैं जिनमें सीआरपी स्तर बढ़ने की अधिक सम्भावना रहती है। इन व्यक्तियों में शामिल हैं – (17)

  • कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति,
  • पुरुष जिनकी उम्र 45 या उससे अधिक हो, और ऐसी महिलाऐं जिनकी उम्र 55 या उससे अधिक हो,
  • पिछले पांच वर्षों से धूम्रपान का इतिहास ,
  • हृदय रोग का पारिवारिक इतिहास,
  • उच्च रक्तचाप वाले व्यक्ति,
  • ऐसे व्यक्ति जिनका रक्त कोलेस्ट्रॉल अधिक हो,
  • टाइप  2  डायबिटीज से ग्रस्त व्यक्ति,
  • ऐसे व्यक्ति जिनका वजन अधिक हो,
  • ऐसे लोग जिन्हें बैक्टीरियल इन्फेक्शन या फंगल इन्फेक्शन हुआ हो,
  • इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज से पीड़ित व्यक्ति,
  • ऑटोइम्यून विकार से पीड़ित व्यक्ति,
  • कैंसर से पीड़ित व्यक्ति,
  • अधिक वाजनीय व्यक्ति,
  • ऐसे व्यक्ति जिनकी हल में ही सर्जरी हुए हो।

और पढ़ें – आयरन की कमी को दूर करते हैं ऐसे आहार।

सीआरपी ब्लड टेस्ट कब करवाना चाहिए? | When should I get the CRP blood test done in Hindi

डॉक्टर अक्सर संक्रमण का संदेह होने पर या संक्रमण के समय सीआरपी ब्लड टेस्ट करवाते हैं, साथ ही जो व्यक्ति पुरानी बीमारी से पीड़ित होते हैं उनका भी सीआरपी टेस्ट करवा सकते हैं।

इसके अलावा सीआरपी ब्लड टेस्ट का उपयोग आपके उपचार की निगरानी के लिए भी करवाया जा सकता है।

ब्लड में सीआरपी का स्तर सूजन के आधार पर बढ़ता या गिरता है। यदि किसी व्यक्ति का सीआरपी स्तर नीचे चला जाता है, तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि सूजन के लिए किये जाने वाला उपचार ठीक से चल रहा है।

और पढ़ें – हृदय रोगियों के लिए डाइट प्लान।

उच्च सी-रिएक्टिव प्रोटीन और कोरोना संक्रमण के बीच सम्बन्ध | C Reactive Protein and COVID in Hindi

High CRP and corona virus infection in Hindi

c-reactive protein covid in Hindi

डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना से संक्रमित ज्यादातर लोगों में सीआरपी का स्तर अधिक देखा गया है। इसलिए सी-रिएक्टिव प्रोटीन टेस्ट, कोरोना संक्रमण की निगरानी में अहम भूमिका निभा सकता है।

कई डॉक्टरों का मानना है कि कोरोना संक्रमण के 4-5 दिन बाद सीआरपी टेस्ट फायदेमंद हो सकता है, जिससे शरीर में या फेफड़ों में होने वाली सूजन का पता चल सकता है।

और पढ़ें – कोरोना की तीसरी लहर के लक्षण और कारण

कोविड-19 में सीआरपी का सामान्य स्तर | CRP Normal Range in Covid-19 in Hindi

रक्त में सीआरपी का समान्य स्तर 3 मिलीग्राम/लीटर से कम होता है।

अध्ययन के अनुसार, कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में सीआरपी स्तर काफी ऊंचा (औसत 20 से 50 मिलीग्राम/लीटर) देखा गया है।

निष्कर्ष | Conclusion

सी-रिएक्टिव प्रोटीन ब्लड में मौजूद एक पदार्थ है जिसे लीवर शरीर में सूजन या इन्फेक्शन के दौरान बनाता है। सी-रिएक्टिव प्रोटीन का उच्च स्तर विभिन्न प्रकार की बिमारियों को दर्शाता है। हालांकि, सीआरपी टेस्ट से यह पता नहीं चलता है कि इन्फेक्शन शरीर के किस भाग में हुआ है।

शरीर में सीआरपी के स्तर का पता लगाने के लिए डॉक्टर परंपरागत सीआरपी (standard CRP) या/ और  एचएस-सीआरपी (hs-CRP) परीक्षणों का उपयोग कर सकते हैं।

परंपरागत सी-प्रतिक्रिया प्रोटीन मधुमेह, उच्च रक्तचाप, वायरल  संक्रमण, बैक्टीरियल इन्फेक्शन आदि बीमारियों को उजागर करने में मदद करता है। जबकि एचएस-सीआरपी टेस्ट का उपयोग हृदय रोग की सूचना देता है।

CRP का सामान्य स्तर 0.8 मिलीग्राम / लीटर  से लेकर 3.0 मिलीग्राम / लीटर तक माना जाता है, जबकि, >3.0 mg/L से अधिक स्तर असमान्य माना जाता है।

इसके आलावा hs-CRP का सामान्य स्तर <1 मिलीग्राम / लीटर  से कम माना जाता है, जबकि एचएस-सीआरपी का असमान्य स्तर >1 मिलीग्राम/ लीटर से अधिक माना जाता है।

अगर हाल ही में आपने अपने शरीर में कुछ ऐसे बदलाव देखे हैं जो समय के साथ ठीक नहीं हो रहे हैं और ये बदलाव आपको परेशान कर रहे हैं, तो आपको तुरंत अपने डॉक्टर से इन लक्षणों के बारे में बात करनी चाहिए। ये लक्षण एक गंभीर बीमारी का संकेत हो सकते हैं और सीआरपी परीक्षण डॉक्टर द्वारा किए गए परीक्षणों में से एक हो सकता है।

और पढ़ें – फूड पाइजनिंग के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज

और पढ़ें – हर्बल चाय (हर्बल टी) के 8 फायदे और नुकसान।


ये है सी-रिएक्टिव प्रोटीन के बारे में बताई गई पूरी जानकारी। कमेंट में बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी। यदि आपको C Reactive protein in Hindi पोस्ट पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें।

वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें। 

सन्दर्भ (References)

  1. Nehring SM, Goyal A, Bansal P, et al. C Reactive Protein. [Updated 2021 May 10]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2021 Jan. | Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK441843/
  2. Sproston NR, Ashworth JJ. Role of C-Reactive Protein at Sites of Inflammation and Infection. Front Immunol. 2018;9:754. Published 2018 Apr 13. | Available from:  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5908901/
  3. Landry A, Docherty P, Ouellette S, Cartier LJ. Causes and outcomes of markedly elevated C-reactive protein levels. Can Fam Physician. 2017;63(6):e316-e323. | Available from:  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5471098/
  4. Nehring SM, Goyal A, Bansal P, Patel BC. C Reactive Protein. 2021 May 10. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2021 Jan. | Available from:  https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/28722873/
  5. Sproston NR, Ashworth JJ. Role of C-Reactive Protein at Sites of Inflammation and Infection. Front Immunol. 2018;9:754. | Available from:  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5908901/
  6. Riese H, Vrijkotte TG, Meijer P, Kluft C, de Geus EJ. Diagnostic strategies for C-reactive protein. BMC Cardiovasc Disord. 2002;2:9. Published 2002 May 23. | Available from:  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC115848/
  7. Lee Y, McKechnie T, Doumouras AG, Handler C, Eskicioglu C, Gmora S, Anvari M, Hong D. Diagnostic Value of C-Reactive Protein Levels in Postoperative Infectious Complications After Bariatric Surgery: a Systematic Review and Meta-Analysis. Obes Surg. 2019 Jul;29(7):2022-2029.। Available from:  https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30895509/
  8. Johns I, Moschonas KE, Medina J, Ossei-Gerning N, Kassianos G, Halcox JP. Risk classification in primary prevention of CVD according to QRISK2 and JBS3 ‘heart age’, and prevalence of elevated high-sensitivity C reactive protein in the UK cohort of the EURIKA study. Open Heart. 2018;5(2):e000849.| Available from:  https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30564373/
  9. Testing :  https://www.testing.com/tests/high-sensitivity-c-reactive-protein-hs-crp/
  10. Escadafal C, Incardona S, Fernandez-Carballo BL, Dittrich S. The good and the bad: using C reactive protein to distinguish bacterial from non-bacterial infection among febrile patients in low-resource settings. BMJ Glob Health. 2020;5(5):e002396. | Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7259834/
  11. Libby P, Ridker PM, Maseri A. Inflammation and atherosclerosis. Circulation2002; 105: 1135–1143. | Available from: ahajournals.org/doi/10.1161/01.CIR.0000093381.57779.67
  12. Cozlea DL, Farcas DM, Nagy A, et al. The impact of C reactive protein on global cardiovascular risk on patients with coronary artery disease. Curr Health Sci J. 2013;39(4):225-231. | Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3945266/
  13. Hribal ML, Fiorentino TV, Sesti G. Role of C reactive protein (CRP) in leptin resistance. Curr Pharm Des. 2014;20(4):609-615. | Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4155811/
  14. Montecucco F, Mach F. New evidences for C-reactive protein (CRP) deposits in the arterial intima as a cardiovascular risk factor. Clin Interv Aging. 2008;3(2):341-349. | Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2546477/
  15. Kuczmarski MF, Mason MA, Allegro D, Zonderman AB, Evans MK. Diet quality is inversely associated with C-reactive protein levels in urban, low-income African-American and white adults. J Acad Nutr Diet. 2013;113(12):1620-1631. | Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3833870/
  16. Yamashita K, Yatsuya H, Muramatsu T, Toyoshima H, Murohara T, Tamakoshi K. Association of coffee consumption with serum adiponectin, leptin, inflammation and metabolic markers in Japanese workers: a cross-sectional study. Nutr Diabetes. 2012;2(4):e33. Published 2012 Apr 2. | Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3347755/
  17. Providence  C-reactive Protein (CRP) Testing | Available from: https://oregon.providence.org/forms-and-information/a/ask-an-expert-c-reactive-protein-crp-testing/
  18. Ali N. Elevated level of C-reactive protein may be an early marker to predict risk for severity of COVID-19. J Med Virol. 2020;92(11):2409-2411. | Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7301027/

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.