Kidney Failure in Hindi

Symptoms Of Kidney Failure | किडनी खराब होने के प्रारंभिक लक्षण, कारण और उपाय

Symptoms Of Kidney Failure in Hindi : इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको किडनी खराब होने के प्रारंभिक लक्षण, कारण और उपाय के बारे में विस्तार से समझा रहे हैं।

किडनी खराबी (किडनी फेलियर) क्या है? | Kidney failure meaning in Hindi

Kidney Failure in Hindi,गुर्दे की विफलता

गुर्दे की खराबी या विफलता एक ऐसी स्थिति है जिसमें एक या दोनों गुर्दे काम करना बंद कर देते हैं। इस स्थिति को अंग्रेजी भाषा में किडनी फेलियर भी कहा जाता है।

गुर्दे रक्त से अपशिष्ट उत्पादों (Waste products) को फ़िल्टर करते हैं और उन्हें मूत्र के माध्यम से निकालते हैं, साथ ही गुर्दे रक्तचाप को नियंत्रित करते हैं, इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखते हैं, और साथ ही लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करने में मदद करते हैं।

किडनी खराबी के दो प्रमुख कारण हैं। जिसमें पेहला कारण है क्रोनिक किडनी डिजीज (Chronic kidney disease) और दूसरा एक्यूट किडनी डिजीज (Acute kidney disease)।

किडनी खराब होने के प्रारंभिक चरण में कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं। इलाज ना करने या इलाज में देरी होने पर किडनी की बीमारी समय के साथ और भी ज्यादा खराब होने लगती है और एक समय ऐसा आता है कि किडनी पूरी तरह कार्य करना बंद कर देती है। इसलिए किडनी की समय-समय में जाँच करवाना जरुरी है।

किडनी के पूरी तरह खराब होने पर व्यक्ति डायलिसिस या किडनी ट्रांसप्लांट के बिना जीवित नहीं रह सकता है।

डायलिसिस एक प्रक्रिया हैं जिसमें शरीर के बाहर रक्त को मशीनों द्वारा फ़िल्टर कर अपशिष्ट पदार्थों को हटा दिया जाता है और दोबारा रक्त को शरीर में डाल दिया जाता है। डायलिसिस, किडनी फेलियर का अस्थायी इलाज है।

हालांकि, किडनी ट्रांसप्लांट में, परिवार के किसी व्यक्ति की स्वस्थ किडनी को सर्जरी द्वारा रोगी में लगा दी जाती है।

चलिए अब किडनी खराब होने के लक्षण और उपाय के बारे में पढ़ते हैं।

और पढ़ें – पॉलीसिस्टिक किडनी रोग: कहीं आप तो इस रोग से पीड़ित नहीं

किडनी खराब होने के प्रारंभिक लक्षण | Symptoms of kidney failure in Hindi | किडनी फेलियर के लक्षण

Symptoms Of Kidney Failure in Hindi
Symptoms Of Kidney Failure

किडनी की बीमारी के शुरूआती दौर में कोई लक्षण दिखाए नहीं देते हैं। लेकिन जैसे-जैसे रोग आगे बढ़ता है निम्नलिखित लक्षण (किडनी खराब होने के लक्षण हिंदी में) प्रकट हो सकते हैं

  • यूरिन (मूत्र) में रक्त आना,
  • शरीर में सूजन,
  • पीठ दर्द और मांसपेशियों में ऐंठन,
  • त्वचा पे लाल चकत्ते या खुजली,
  • थकान, सिरदर्द और भूख कम लगना,
  • सांस लेने में कमी,
  • भूख मे कमी,
  • रक्त में फास्फोरस, कैल्शियम, या विटामिन डी का असामान्य स्तर,
  • असामान्य मूत्र परीक्षण,
  • उच्च रक्त चाप और सिरदर्द।  

और पढ़ें – किडनी रोगियों के लिए कम प्रोटीन डाइट, जानिए क्यों है जरुरी

1. गुर्दे की विफलता (किडनी फेलियर) के लक्षण यूरिन (मूत्र) में रक्त आना – Symptoms of kidney failure in Hindi

मूत्र में रक्त की मौजूदगी हेमट्यूरिया (Hematuria) के रूप में जानी जाती है। हालांकि यह कई बिमारियों (जैसे urinary tract infection-UTI) का  कारण भी हो सकता है 

इसलिए, अगर मूत्र में रक्त आए तो एक बार अपने डॉक्टर से इस सम्बन्ध में बात जरूर करें। 

और पढ़ें – जानिए ओमेगा-3 की कमी से होने वाले रोग और उनके लक्षण 

2. खराब किडनी के लक्षण शरीर में सूजन – Kidney failure symptoms in Hindi

गुर्दे का प्रमुख कार्य रक्त से अतिरिक्त तरल पदार्थों को शरीर से बहार निकलना है। पर जब ऐसा नहीं होता है, तो अतरिक्त द्रव आपके शरीर में जमा हो जाता है जिससे एड़ी, हाथ, पैर और चेहरे में सूजन हो सकती है।

इसके आलावा फेफड़ों और आंखों के आसपास में भी सूजन आ सकती है। इसलिए शरीर में सूजन किडनी खराब (किडनी फेल का संकेत) होने का संकेत हो सकता है।

और पढ़ें –  फ्लेक्सिटेरियन डायट : जानिए इसके फायदे, नुकसान और डाइट प्लान

3. पीठ दर्द और मांसपेशियों में ऐंठन है किडनी खराब होने के संकेत  – Kidney damage symptoms Hindi

किडनी खराब होने पर आप पीठ या बाजू में दर्द को महसूस कर सकते हैं। आमतौर पर यह दर्द पीठ के बीच के साइड की तरफ होता है।

इसलिए अगर ऐसा कोई दर्द हो तो यह किडनी खराब होने का शुरुआती लक्षण हो सकता है।

और पढ़ें – कैफीन क्या है, जानिए इसके स्रोत, मात्रा, फायदे और नुकसान 

4. किडनी फेलियर के लक्षण हैं त्वचा पे लाल चकत्ते या खुजली होना  – Kidney problem symptoms Hindi

आपके रक्त में अपशिष्ट उत्पादों का निर्माण त्वचा की प्रतिक्रिया का कारण बन सकता है, जिसके परिणामस्वरूप चकत्ते या गंभीर खुजली हो सकती है।

खुजली अक्सर रक्त में फास्फोरस के उच्च स्तर के कारण होती है, जो अक्सर किडनी पेशेंट में देखी जाती है। इसलिए त्वचा पे लाल चकत्ते या खुजली या सूखी त्वचा का होना किडनी खराब होने का संकेत हो सकता है। 

और पढ़ें – फाइबर युक्त आहार क्या हैं? जानिए इनके स्रोत, फायदे और नुकसान

5. किडनी खराब होने के प्रारंभिक लक्षण हैं थकान, सिरदर्द और भूख कम लगना – Sign of kidney failure in Hindi

गुर्दा की कार्यक्षमता कम होने से रक्त में विषाक्त पदार्थों (Toxins) का निर्माण हो सकता है जिससे आप में ऊर्जा की कमी हो सकती है।

इसके अलावा गुर्दे लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करते हैं, परन्तु किडनी के खराब हो जाने पर हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी हो जाती है जिसे एनीमिया कहा जाता है।

एनीमिया के कारण गुर्दे रोगियों में थकान, सिरदर्द, भूख कम लगना, सहनशक्ति में कमी, चक्कर आना, कमजोरी आदि जैसे किडनी फेलियर के लक्षण (किडनी खराबी के लक्षण) दिखाई देते हैं।  

और पढ़ें – कीटो या केटोजेनिक डाइट क्या है? जानिए इस डाइट के फायदे और नुकसान

6. किडनी फेल होने का लक्षण है सांस लेने में कमी – Early symptoms of kidney disease in Hindi

जब गुर्दे अतिरिक्त तरल पदार्थों को शरीर से बहार नहीं निकाल पाते हैं, तो ये अतिरिक्त पदार्थ फेफड़ों में जमा होने लगते हैं, जिससे आपको सांस लेने में तकलीफ हो सकती है।

इसके अलावा खून की कमी भी सांस फूलने का कारण हो सकता है। इसलिए सांस लेने में कमी किडनी फेल होने का लक्षण हो सकता है। 

और पढ़ें – लो कार्ब डाइट (कम कार्बोहाइड्रेट डाइट) के फायदे

7. किडनी खराबी के शुरुआती लक्षण भूख मे कमी  – Kidney disease symptoms in Hindi

शरीर में विषाक्त पदार्थों का निर्माण अपनी भूख कम कर सकता है। भूख की कमी से आप थका हुआ महसूस करेंगे और किसी भी कार्य में मन नहीं लगेगा। 

भूख की कमी किडनी फेल होने का लक्षण हो सकता है।

और पढ़ें – जानिए ऐसे खाद्य पदार्थ जो करें इम्यूनिटी कमजोर

8. खराब किडनी के प्रारंभिक लक्षण हैं फास्फोरस, कैल्शियम, या विटामिन डी का असामान्य स्तर – Early symptom of kidney failure in Hindi

गुर्दा की खराबी, इलेक्ट्रोलाइट के असंतुलन का कारण बन सकता है, जैसे कम कैल्शियम का स्तर या उच्च फास्फोरस के स्तर का होना, जिससे मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है।

मांसपेशियों में ऐंठन किडनी खराब होने के लक्षण हो सकते हैं।

और पढ़ें – सुपरफूड क्या हैं, जानिए सुपरफूड के स्वास्थ्यवर्धक फायदे

9. किडनी खराब होने की पहचान है असामान्य मूत्र परीक्षण – Kidney failure in Hindi

प्रोटीन्यूरिया का होना, किडनी के खराब होने का संकेत हो सकता है। मूत्र में प्रोटीन की उच्च मात्रा प्रोटीन्यूरिया कहलाता है।

स्वस्थ गुर्दे अपशिष्ट और तरल पदार्थ को छानते हैं, जिससे प्रोटीन रक्त में वापस आ जाता है।

परन्तु ,जब गुर्दे ठीक से काम नहीं करते हैं, तो यह प्रोटीन आपके मूत्र के माध्यम से बाहर आ जाते हैं। जो किडनी खराब होने की पहचान है

और पढ़ें – हर्बल चाय के 8 स्वास्थ्यवर्धक फायदे और नुकसान

10. किडनी की बीमारी के संकेत उच्च रक्त चाप – Early symptoms of kidney disease in Hindi

उच्च रक्तचाप किडनी की बीमारी का संकेत हो सकता है। गुर्दे की बीमारी के कारण अतिरिक्त तरल पदार्थ और सोडियम रक्त में बढ़ने लगता है, जो उच्च रक्तचाप का कारण बन सकता है।

उच्च रक्तचाप गुर्दे की रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचते हैं और समय के साथ गुर्दे की बीमारी को और भी ज्यादा खराब कर सकते हैं। 

इसके अलावा उच्च रक्तचाप, सिरदर्द  का कारण भी बन सकता है। जो किडनी फेल होने का लक्षण हो सकता है।

और पढ़ें – प्रेगनेंसी के बाद डिप्रेशन : जानिए लक्षण, कारण, इलाज और बचाव 

किडनी खराबी (किडनी फेलियर) के प्रकार | Types of Kidney Failure in Hindi

गुर्दे की खराबी दो प्रकार की होती है-

1. एक्यूट किडनी फेलियर- किडनी का खराब होना (Acute kidney failure in Hindi)

एक्यूट किडनी फेलियर (AKF), जिसे  तीव्र गुर्दे की चोट के रूप में भी जाना जाता है,किडनी में अचानक से होने वाली विफलता है, आमतौर पर कुछ घंटों या दिनों के भीतर। जोकि एक आपातकालीन चिकित्सकीय स्थिति होती है।

एक्यूट किडनी फेलियर, गुर्दे में आघात या गुर्दे के क्षेत्र में रक्त के प्रवाह में कमी के कारण हो सकता है। इसके आलावा किसी रुकावट के कारण भी हो सकता है, जैसे कि किडनी स्टोन, या बहुत उच्च रक्तचाप।

2. क्रोनिक किडनी फेलियर – किडनी खराब होना (Chronic kidney failure in Hindi)

क्रोनिक किडनी फेलियर (Kidney failure in Hindi), क्रोनिक किडनी डिजीज (Chronic kidney disease) के नाम से भी जानी जाती है, एक ऐसी स्थिति है जिसमें गुर्दे धीरे-धीरे क्षतिग्रस्त होते हैं और उनकी कार्यप्रणाली कुछ समय बाद पूरी तरह खराब हो जाती है। 

और पढ़ें –  क्रोनिक किडनी डिजीज: कही मौत का कारण ना बन जाए यह रोग

किडनी खराब होने के कारण | Causes of kidney failure in Hindi

मधुमेह (Diabetes) और उच्च रक्तचाप (High blood pressure), किडनी खराब होने के दो मुख्य कारण हैं, जो किडनी फलिएर के दो-तिहाई मामलों के लिए जिम्मेदार होते हैं। 

मधुमेह वह स्थिति है जिसमें शर्करा (Sugar) की मात्रा रक्त में बहुत अधिक हो जाती है, जिससे शरीर के गुर्दे (Kidney failure in Hindi), हृदय, रक्त वाहिकाओं, नसों और आंखों सहित कई अंगों को नुकसान होने लगता है।

जबकि उच्च रक्तचाप तब होता है जब आपके रक्त वाहिकाओं (Blood vessels) की दीवारों पर आपके रक्त का दबाव बढ़ने लगता है।

उच्च रक्तचाप दिल के दौरे, स्ट्रोक और क्रोनिक किडनी रोग (Chronic kidney disease) का एक प्रमुख कारण हो सकता है। इसके अलावा, क्रोनिक किडनी रोग भी उच्च रक्तचाप का कारण बन सकता है।

और पढ़ें – ब्लैक फंगस क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण, इलाज और रोकथाम

गुर्दे की खराबी (क्रोनिक किडनी डिजीज) के अन्य कारणों में शामिल हैं –

  1. ग्लोमेरुलर रोग (ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस), रोगों का एक समूह जो गुर्दे की फ़िल्टरिंग इकाइयों में सूजन और क्षति का कारण बनता है। ये विकार गुर्दे की खराबी का तीसरा प्रमुख कारण है।
  2. वंशानुगत रोग (Hereditary disease), जैसे कि पॉलीसिस्टिक किडनी रोग, जिसके कारण गुर्दे में बड़े सिस्ट बन जाते हैं और आसपास के ऊतकों को नुकसान पहुंचने लगते हैं।
  3. उम्र (Age), गुर्दे की बीमारी के लिए एक जोखिम कारक है, विशेष रूप से 60 साल से अधिक होने पर क्रोनिक किडनी रोग (सीकेडी) होने की सम्भावना अधिक होती है।
  4. ल्यूपस (Lupusऔर अन्य रोग, जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करते हैं। गुर्दे की खराबी का कारण बनते हैं।
  5. गुर्दे की पथरी (Kidney stone), ट्यूमर या बढ़े हुए प्रोस्टेट ग्रंथि जैसी समस्याओं के कारण गुर्दे खराब हो जाते हैं। 
  6. बार-बार यूरिनरी इन्फेक्शन (Urinary infectionहोना भी गुर्दे की खराब का कारण हो सकता।

किडनी बचाव के घरेलू उपाय | Kidney Disease Treatment In Hindi

किडनी बचाव के घरेलू उपाय में शामिल हैं-

  • किडनी बचाव  के लिए खूब पानी पिएं,
  • क्रैनबेरी जूस पीने से आप किडनी का बचाव कर सकते हैं,
  • अनार का रस पीने से किडनी का बचाव हो सकता है,
  • तुलसी का रस पीने से किडनी स्वस्थ रहती है,
  • नींबू का रस किडनी के बचाव के लिए लाभ दायक होता है,
  • इसके अलावा अजवाइन का रस पियें,
  • सेब का सिरका लें,
  • खजूर खाएं,
  • शराब की मात्रा को नियंत्रित रखें,
  • कैफीन की मात्रा को सीमित रखें।

और पढ़ें – जानिए क्या हैं किडनी बचाव के 11 घरेलू उपाय  (विस्तार से)

किडनी खराब (किडनी फेलियर) के तथ्य | The Facts of Kidney Failure in Hindi

  • गुर्दे की बीमारी का जल्द पता लगाने से गुर्दे की विफलता (किडनी का खराबी) को बढ़ने से रोका जा सकता है। 
  • किडनी के काम करने की दर को ग्लोमेरुलर फिल्ट्रेशन रेट (जीएफआर) द्वारा नापा जाता है।
  • उच्च रक्तचाप, किडनी के खराब होने का कारण बनता है या किडनी की खराबी, उच्च रक्तचाप का कारण बनता है।
  • मूत्र में प्रोटीन का होना, किडनी की खराबी का संकेत हो सकता है।
  • किडनी खराबी के उच्च जोखिम वाले समूहों में मधुमेह (Diabetes), उच्च रक्तचाप (High blood pressure) और गुर्दे की विफलता के पारिवारिक इतिहास (Family history of kidney failure) वाले लोग शामिल हैं।
  • दो प्रमुख परीक्षणों (Test) द्वारा किडनी की खराबी का पता लगाया जा सकता है: जिसमें यूरिन एल्ब्यूमिन और सीरम क्रिएटिनिन शामिल हैं।

और पढ़ें –  सर्वाइकल दर्द में करें इन खाद्य पदार्थों का परहेज


ये हैं किडनी खराब होने के प्रारंभिक लक्षण, कारण और उपाय के बारे में जानकारी। कमेंट में बताएं आपको यह पोस्ट (Symptoms Of Kidney Failure in Hindi) कैसी लगी। अगर आपको पोस्ट पसंद आई हो, तो इसे शेयर जरूर करें।

वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें। 

संदर्भ (References)

  • Bindroo S, Quintanilla Rodriguez BS, Challa HJ. Renal Failure. [Updated 2021 Aug 13]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2021 Jan-. Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK519012/
  • Vaidya SR, Aeddula NR. Chronic Renal Failure. [Updated 2021 Jul 16]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2021 Jan-. Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK535404/
  • Chen TK, Knicely DH, Grams ME. Chronic Kidney Disease Diagnosis and Management: A Review. JAMA. 2019;322(13):1294-1304.
  • Thomas R, Kanso A, Sedor JR. Chronic kidney disease and its complications. Prim Care. 2008;35(2):329-vii. 
  • Benjamin O, Lappin SL. End-Stage Renal Disease. [Updated 2021 Feb 4]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2021 Jan-. Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK499861/
  • Goyal A, Daneshpajouhnejad P, Hashmi MF, et al. Acute Kidney Injury. [Updated 2021 Aug 14]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2021 Jan-. Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK441896/
  • Murtagh FE, Addington-Hall J, Edmonds P, Donohoe P, Carey I, Jenkins K, Higginson IJ. Symptoms in the month before death for stage 5 chronic kidney disease patients managed without dialysis. J Pain Symptom Manage. 2010 Sep;40(3):342-52.
  • Fraser SD, Blakeman T. Chronic kidney disease: identification and management in primary care. Pragmat Obs Res. 2016;7:21-32. Published 2016 Aug 17.
  • Acute kidney injury (AKI). (n.d.).https://www.kidney.org/atoz/content/AcuteKidneyInjury.
  • Choosing a treatment for kidney failure. (2018).https://www.niddk.nih.gov/health-information/kidney-disease/kidney-failure/choosing-treatment.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सेब का सिरका पीने के फायदे | Benefits of Apple Cider Vinegar एसिडिटी और खट्टी डकार का इलाज | Home Remedies for Acidity and Burping खाली पेट आंवला जूस पीने के फायदे | Amla Juice Benefits कच्चा प्याज खाने के फायदे | Benefits of Raw Onion अच्छी और गहरी नींद आने के उपाय | Home Remedies for Insomnia Benefits of Giloy in Winter | सर्दी में गिलोय के फायदे