Cardiac Asthma In Hindi | हार्ट फेल का कारण बन सकता है कार्डियक अस्थमा

Cardiac asthma in Hindi : यदि आपको कार्डियक अस्थमा के बारे में अभी तक नहीं पता, तो यह पोस्ट आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकती है। इस पोस्ट में हमने हृदय अस्थमा के लक्षण (Cardiac asthma ke lakshan), कार्डियक अस्थमा के कारण और इलाज के बारे में बताया है।

और पढ़ें – हार्ट अटैक : कब, कैसे और क्यों – जानिए हर एक सवाल का जवाब

कार्डियक अस्थमा क्या है? | What is cardiac asthma in Hindi

कार्डिएक अस्थमा (हृदय अस्थमा) एक ऐसी स्थिति है जिसमें हृदय की बाईं ओर से रक्त पंप करने की क्षमता कम हो जाती है। हृदय की पंप करने की क्षमता कम होने के कारण फेफड़ों में द्रव जमा हो जाता है, जिससे रोगी को सांस लेने में तकलीफ होती है और धड़कन तेज हो जाती है।

और पढ़ें – थायराइड के प्रारंभिक लक्षण, कारण और इलाज

कार्डियक अस्थमा के अधिकांश लक्षण ब्रोन्कियल अस्थमा (Bronchial asthma) से मिलते हैं जिसकारण कार्डियक अस्थमा रोग को कभी-कभी ब्रोन्कियल अस्थमा से जोड़ दिया जाता है और दुर्भाग्यवश गलत इलाज मिलने के कारण कार्डिएक अस्थमा संभावित रूप से जीवन के लिए खतरा हो जाता है। इसलिए कार्डियक अस्थमा में अस्थमा शब्द देखकर इस बीमारी को बिलकुल भी ब्रोन्कियल अस्थमा (दमा की बीमारी) से ना जोड़ें।  

और पढ़ें – गुर्दे की विफलता के लक्षण और कारण

कार्डियक अस्थमा के लक्षण | Symptoms of Cardiac Asthma in Hindi

कार्डियक अस्थमा
कार्डियक अस्थमा के मुख्य  लक्षणों (Cardiac asthma ke lakshan) में शामिल हैं:
  • फेफड़ों से घरघराहट (wheezing sound) की आवाज आना,
  • साँस में कमी महसूस होना,
  • खाँसी होना,
  • थूक के साथ खून आना,
  • झागदार थूक निकलना,
  • लेटते समय सांस लेने में तकलीफ होना,
  • सांस लेते समय सीटी जैसी आवाज (whistling sound) आना,
  • रात में लक्षण और भी बदतर होना।
एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि कार्डियक अस्थमा (हृदय अस्थमा) के लक्षण हार्ट फेल के शुरुआती लक्षण होते हैं जैसे:
  • बेहोशी,
  • छाती में दर्द या सीने में भारीपन,
  • अधिक थकान लगना,
  • अनियमित हृदय गति,
  • त्वचा नीली पड़ना,
  • पैरों या टखनों में सूजन होना,
  • रात के समय अधिक बार पेशाब जाने का मन होना।

और पढ़ें – पॉलीसिस्टिक किडनी रोग: कहीं आप तो इस रोग से पीड़ित नहीं

कार्डियक अस्थमा और ब्रोन्कियल अस्थमा में अंतर | Difference between cardiac asthma and bronchial asthma in Hindi

हृदय अस्थमा के लक्षण

Cardiac asthma vs Bronchial asthma in Hindi

1. कार्डिएक अस्थमा हृदय (Heart failure) से सम्बंधित रोग है, जबकि ब्रोन्कियल अस्थमा श्वसन मार्ग या वायुमार्ग की सूजन (Inflammation and irritation of the airways) से सम्बंधित रोग है।

2. कार्डिएक अस्थमा फेफड़ों में तरल पदार्थ के भरने के कारण या हार्ट फेल के कारण हो सकता है, जबकि ब्रोन्कियल अस्थमा की सूजन किसी पदार्थ के प्रति एलर्जी (Allergy) के कारण से हो सकता है या कभी-कभी, पर्यावरणीय कारकों (Environmental factors), जैसे धुएं, धूल, वायु प्रदूषण, या किसी अन्य कारण से भी हो सकता है।

3. ब्रोन्कियल अस्थमा से पीड़ित रोगी आमतौर पर सुबह या दिन के दौरान लक्षणों को महसूस करते हैं, जबकि हृदय अस्थमा के रोगी आमतौर पर रात में लक्षणों को महसूस करते हैं, ज्यादातर लोगों का कहना है कि जब वे रात में सोते हुए कुछ घंटों के बाद उठते हैं तो उनको ऐसा महसूस होता है की वे डूब रहे हैं या वे अच्छे से सांस नहीं ले पा रहे हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि दिल की विफलता वाले लोगों में लंबे समय तक बिस्तर पर लेटे रहने से उनके फेफड़ों में तरल पदार्थ जमा हो जाता है, जिससे सांस लेने में तकलीफ होती है। हालांकि, कुछ देर बैठ जाने पर ये लक्षण कम हो जाते हैं।

4. कार्डिएक अस्थमा के रोगियों को अक्सर टखनों (Ankles) में सूजन का अनुभव होता है।

5. ब्रोन्कियल अस्थमा किसी भी आयु के लोगों को हो सकता है जबकि कार्डिएक अस्थमा ज्यादातर वृद्ध लोगों (Old people) में या हृदय रोगियों में देखा जाता है।

और पढ़ें – हर्पीस सिम्पलेक्स वायरस: लक्षण, कारण और इलाज

कार्डियक अस्थमा और ब्रोन्कियल अस्थमा में समानता | Similarities between cardiac asthma and bronchial asthma in Hindi

Cardiac asthma vs Bronchial asthma in Hindi

कार्डिएक अस्थमा और ब्रोन्कियल अस्थमा में समानता यह है कि दोनों ही रोग में साँस में कमी महसूस होती है, खाँसी होती है, सांस लेते समय घरघराहट या सीटी जैसी आवाज आती है। इसलिए इस रोग का शुरुवात में पकड़ पाना मुश्किल हो जाता है।

हालांकि, रोगी की चिकित्सा इतिहास, जोखिम के कारणों और कुछ रक्त परीक्षणों द्वारा कार्डियक अस्थमा और ब्रोन्कियल अस्थमा में अंतर किया जा सकता है।

कार्डियक अस्थमा का कारण | Causes of cardiac asthma in Hindi

Causes of cardiac asthma in Hindi
कार्डिएक अस्थमा का प्रमुख कारण दिल की विफलता (हार्ट फेल) है। इसके आलावा फेफड़ों में तरल पदार्थ जमा होना भी कार्डिएक अस्थमा (हार्ट फेल) का कारण है।
वयस्कों में दिल की विफलता का सबसे आम कारण कोरोनरी धमनी की बीमारी (Coronary artery disease) है। कोरोनरी धमनी रोग तब होता है जब हृदय को रक्त पहुंचने वाली धमनियां संकुचित या अवरुद्ध हो जाती हैं।  यह आमतौर पर रक्त वाहिकाओं में बुरे कोलेस्ट्रॉल (LDL cholesterol) के निर्माण के कारण हो सकता है।
अन्य स्थितियां जो दिल की विफलता (हार्ट फेल) के विकास का कारण (Cardiac asthma causes in Hindi) हो सकती हैं उनमें शामिल हैं:
  • दिल के दौरे का इतिहास,
  • असामान्य हृदय गति,
  • अनियंत्रित उच्च रक्तचाप,
  • हृदय के वाल्व में विकार,
  • दिल की कमजोरी (Cardiomyopathy),
  • हाइपर थायराइड,
  • हृदय की मांसपेशियों की सूजन (Myocarditis),
  • जन्मजात (Congenital) हृदय दोष,
  • रक्त (खून) की कमी,
  • मधुमेह (Diabetes),
  • फेफड़ों की गंभीर बीमारी,
  • मोटापा,
  • किडनी की खराबी।

और पढ़ें – सर्वाइकल पेन क्यों होता है, जानिए इसके लक्षण, कारण, बचाव और उपचार

कार्डियक अस्थमा का निदान | Diagnosis of cardiac asthma in Hindi

Diagnosis of cardiac asthma in Hindi
जैसा की अब आप जान गए हैं कि कार्डिएक अस्थमा के लक्षण दमा के लक्षण से मिलते हैं इसलिए इस बीमारी के शुरुवात में इसका निदान करना मुश्किल हो सकता है। हालांकि, डॉक्टर दोनों के बीच अंतर करने के लिए सबसे पहले रोगी का चिकित्सा इतिहास (medical history) और जोखिम कारकों का विश्लेषण कर सकते हैं ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि कहीं दिखने वाला अस्थमा हार्ट फेल का कारण तो नहीं।
इसके आलावा डॉक्टर कुछ परीक्षण (test) भी कर सकते हैं। इन परीक्षणों में शामिल हैं:

1. शारीरिक परीक्षण द्वारा हृदय अस्थमा का निदान – Physical examination

डॉक्टर ब्रोन्कियल अस्थमा को कार्डिएक अस्थमा से अलग करने के लिए आपकी सांस की तकलीफ का पैटर्न देख सकते हैं। डॉक्टर मरीज की सांस लेते समय उसके फेफड़ों में असामान्य आवाज और असामान्य हृदय गति का परीक्षा कर सकते हैं।

2. बी-टाइप नैट्रियूरेटिक पेप्टाइड (बीएनपी) रक्त परीक्षण – B-type natriuretic peptide (bnp) blood test

यह टेस्ट रक्त में बीएनपी (BNP) हार्मोन का पता लगता है जो बढ़े हुए वेंट्रिकुलर दबाव के कारण निकलता है।

3. इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम द्वारा हृदय अस्थमा का निदान – Electrocardiogram

एक इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम आपके दिल की विद्युत गतिविधि पर नज़र रखता है और आपके दिल की लय में असामान्यताओं की पहचान करने में मदद करता है।

4. इकोकार्डियोग्राम द्वारा कार्डियक अस्थमा का निदान – Echocardiogram (echo) 

इकोकार्डियोग्राम एक प्रकार का अल्ट्रासाउंड ही होता है जो ध्वनि तरंगों का उपयोग कर आपके दिल की तस्वीर खींचता है। डॉक्टर तस्वीर को देख कर आपका दिल कितना रक्त पंप कर रहा है उसका अनुमान लगा सकते हैं।

5. एक्स – रे द्वारा कार्डियक अस्थमा का निदान – Chest X-ray

छाती का एक्स-रे आपके फेफड़ों में बढ़े हुए दिल या तरल पदार्थ की पहचान करने में मदद कर सकता है।

6. श्वास परीक्षण द्वारा कार्डियक अस्थमा का निदान – Breath test

डॉक्टर फेफड़ों की समस्याओं की जांच के लिए स्पिरोमेट्री टेस्ट (Spirometry test) या पीक फ्लो टेस्ट (Peak flow test) की सलाह दे सकते हैं।

7. अन्य इमेजिंग तकनीक द्वारा कार्डियक अस्थमा का निदान – Other Imaging Techniques

आपके दिल के स्वास्थ्य का आकलन करने के लिए चित्र बनाने के लिए सीटी स्कैन (CT scan) या एमआरआई स्कैन (MRI scan) का भी उपयोग किया जा सकता है।
सीटी स्कैन एक प्रकार का 3-डी इमेजिंग टेक्नोलॉजी है जो दिल की विस्तृत जानकारी देती है जबकि एमआरआई स्कैन शक्तिशाली चुंबकीय और रेडियो तरंगों का उपयोग करके हृदय की विस्तृत जानकारी देती है।
 

कार्डिएक अस्थमा का इलाज | Cardiac asthma treatment in Hindi

ब्रोन्कियल अस्थमा का इलाज (Treatment for cardiac asthma in Hindi) मौखिक (Oral) या साँस की दवाओं से किया जाता है जो वायुमार्ग को खोलने का कार्य करते हैं। जबकि, कार्डियक अस्थमा का इलाज (उपचार) उसके कारण पर निर्भर करता है जैसे कि दिल की विफलता (हार्ट फेल) या लीक वाल्व।
कार्डियक अस्थमा (हृदय अस्थमा) के उपचार हेतु डॉक्टर मरीज का रक्तचाप नियंत्रित करने,फेफड़ों से अतिरिक्त तरल पदार्थ को बहार निकलने आदि के लिए हृदय सम्बंधित दवाएं शामिल कर सकते हैं।
आमतौर पर हार्ट फेल के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं में शामिल हैं:
  • बीटा-ब्लॉकर्स,
  • एंजियोटेंसिन-परिवर्तित एंजाइम (एसीई) अवरोधक,
  • एंजियोटेंसिन II रिसेप्टर ब्लॉकर्स (ARBs),
  • डिगॉक्सिन,
  • नाइट्रेट्स।
इसके आलावा वाल्व का लीक होना या जन्मजात हृदय दोष (Congenital heart defect) होने पर डॉक्टर सर्जरी (शल्य चिकित्सा) भी कर सकते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion)

कार्डिएक अस्थमा एक ऐसी स्थिति है जो हृदय की खराबी के कारण पैदा होती है। कार्डिएक अस्थमा के कई लक्षण अन्य श्वसन विकारों के समान हो सकते हैं। इन लक्षणों में फेफड़ों से घरघराहट की आवाज, साँस में कमी और खाँसी प्रमुख हैं।

कार्डिएक अस्थमा के अधिकांश लक्षण ब्रोन्कियल अस्थमा (Bronchial asthma) से मिलने के कारण कभी-कभी इस रोग को दमा (अस्थमा) की बीमारी से जोड़ दिया जाता है। कार्डिएक अस्थमा का गलत निदान या गलत इलाज रोगी के जीवन को खतरे में डाल सकता है। इसलिए इस रोग का सही तरीके से निदान व इलाज करना बेहद जरुरी है। कार्डिएक अस्थमा बीमारी किसी भी तरह से लाइलाज नहीं है; बस इस रोग को ठीक से मॉनिटर करने की जरूरत होती है। एक सटीक निदान और उचित उपचार रोगी को फिर से स्वस्थ कर सकता है।

और पढ़ें – कैमोमाइल चाय के 10 फायदे और नुकसान

ये हैं कार्डियक अस्थमा के लक्षण, कारण और इलाज (Cardiac asthma in Hindi) के बारे में बताई गई पूरी जानकारी। कमेंट में बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी। अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे जरूर शेयर करें।

ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए।

सन्दर्भ (References)

  • Athanazio R. Airway disease: similarities and differences between asthma, COPD and bronchiectasis. Clinics (Sao Paulo). 2012;67(11):1335-1343.
  • Buckner K. Cardiac asthma. Immunol Allergy Clin North Am. 2013 Feb;33(1):35-44. doi: 10.1016/j.iac.2012.10.012. Epub 2012 Dec 23.
  • Malik A, Brito D, Chhabra L. Congestive Heart Failure. [Updated 2021 Aug 11]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2021 Jan.
  • Tanabe T, Rozycki HJ, Kanoh S, Rubin BK. Cardiac asthma: new insights into an old disease. Expert Rev Respir Med. 2012 Dec;6(6):705-14. doi: 10.1586/ers.12.67.
  • Ray P, Birolleau S, Lefort Y, et al. Acute respiratory failure in the elderly: etiology, emergency diagnosis and prognosis. Crit Care. 2006;10:R82.
  • Lombardo TA, Harrison TR. Cardiac asthma. Circulation. 1951;4:920-929.
  • Hamilton JG. Cardiac asthma. Br Med J. 1955;1:39-41.
  • Causes of heart failure. (2017). heart.org/en/health-topics/heart-failure/causes-and-risks-for-heart-failure/causes-of-heart-failure
  • Heart failure: Diagnosis. (2018). nhs.uk/conditions/heart-failure/diagnosis/

इस ब्लॉग [WEB POST GURU: THE ULTIMATE GUIDE TO HEALTHY LIVING] में आने और पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.