गुलाब के डंठल की चाय

Rosehip Benefits In Hindi: गुलाब के डंठल (रोजहिप) की चाय है फायदेमंद, इन बीमारियों में।

Rosehip Benefits In Hindi : इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको गुलाब के डंठल की चाय के फायदे (Rosehip benefits in Hindi), इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व, रोजहिप टी बनाने की विधि और गुलाब की चाय के अधिक सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में विस्तार से बता रहे हैं। 

रोजहिप चाय (गुलाब के डंठल की चाय) : Rosehip meaning in Hindi

गुलाब के फायदे से हर कोई वाकिफ है। जिसमें गुलाब जल, गुलकंद, गुलाब की चाय और तमाम तरह की औषधियां शामिल हैं। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि गुलाब के पखुड़ियों के ठीक नीचे का जो भाग होता है जिसे हम अंग्रेजी भाषा में रोजहिप (Rosehip in Hindi) या देशी भाषा में गुलाब का फल (गुलाब का डंठल) कहते हैं वह भी स्वास्थ के लिए फायदेमंद होता है, जिसे आप चाय (Rosehip tea in Hindi) के रूप में भी ले सकते हैं।

रोजहिप चाय का उत्कृष्ट स्वाद आपको दिनभर ताजगी देने के साथ-साथ आपके शरीर की अनेक बीमारियों से राहत दिलाने में भी मदद करती है। 

हालांकि रोज़हिप के लिए जंगली गुलाब का पौधा सबसे उत्‍तम माना जाता है। जिसे रूगौसा रोज़ कहा जाता है। 

और पढ़ें-  अदरक की चाय है फायदेमंद इन बीमारियों में

गुलाब के डंठल (रोजहिप) में मौजूद पौष्टिक तत्व (Rosehip Nutritional Value in Hindi)

Rosehip tea Benefits in Hindi
रोजहिप चाय

रोजहिप, विटामिन C का प्रमुख स्रोत है। जिसमें विटामिन C खट्टे फलों के मुकाबले लगभग 40 गुना अधिक होता है। हालांकि, गुलाब में मौजूद विटामिन सी का अधिकांश भाग इसे सुखाने के दौरान या इसे बनाने के समय नष्ट हो जाता है। 

गुलाब के डंठल (रोजहिप) में मौजूद फेनोलिक यौगिक (जैसे टैनिन, फ्लेवोनोइड, फेनोलिक एसिड और एंथोकायनिन पदार्थ) हमारे स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। क्योंकि इसमें एंटी-ऑक्सिडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एंटी‐इंफ्लेमेटरी जैसे गुण पाए जाते हैं।

रोजहिप में मौजूद एंटी-ऑक्सिडेंट गुण, फ्री रेडिकल्स से होने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस (तनाव) से हमारे शरीर की कोशिकाओं को मरने से बचते हैं साथ ही रोजहिप में मिलने वाला एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एंटी‐इंफ्लेमेटरी गुण अनेक बिमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। 

और पढ़ें- पुदीने की चाय के 7 औषधीय फायदे और नुकसान

इसके अलावा भी गुलाब के डंठल (रोजहिप) में कई प्रकार के स्वास्थ्यवर्धक पोषक तत्व, विटामिन और खनिज मौजूद होते हैं जिसे आप नीचे टेबल में देख सकते हैं –

100 ग्राम रोजहिप में पोषक तत्व 

          पोषक तत्व

मात्रा

प्रोटीन

1.6 g

फैट

0.34 g

कोलेस्ट्रॉल

0 mg

कार्बोहाइड्रेट

38.22 g

विटामिन A

4345 IU

विटामिन C

426 mg

विटामिन E

5.84 mg

विटामिन K

25.9 µg

फोलेट्स

3 µg

आयरन

1.06 mg

कैल्शियम

169 mg

मैग्नीशियम

69 mg

जिंक

0.25 mg

मैंगनीज

1.02 mg

फॉस्फोरस 61 mg

रोजहिप चाय के फायदे | Rosehip Benefits in Hindi

 गुलाब के डंठल की चाय (रोजहिप टी) के लाभ निम्नलिखित हैं –
  • हृदय रोगों को दूर करने के लिए,
  • पाचन क्रिया को स्वस्थ बनाए रखने के लिए,
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए,
  • वजन घटाने के लिए,
  • टाइप 2 मधुमेह से बचाव के लिए,
  • जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए,
  • त्वचा को सुंदर और स्वस्थ बनाने के लिए।
Rosehip tea Benefits in Hindi
रोजहिप चाय के फायदे

1. रोजहिप टी के लाभ हृदय को स्वस्थ बनने के लिए (Rosehip benefits for heart diseases in Hindi)

  • रोजहिप टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण (Rosehip benefits in Hindi) हृदय रोग के जोखिम को कम करती है, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखती है और साथ ही शरीर से कोलेस्ट्रॉल और एक्‍स्‍ट्रा फैट को प्राकृतिक तरीके से कम करने में भी मदद करती है। 
  • एक शोध में मोटापे से ग्रसित 31 लोगों को 40 ग्राम रोजहिप पाउडर 6 हफ्तों तक दिया गया। 6 हफ्तों तक सेवन के बाद इनके रक्तचाप और लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन (LDL) कोलेस्ट्रॉल (खराब) के स्तर में काफी सुधार पाया गया।  इसलिए, रोजहिप चाय का सेवन हृदय रोग से बचने के लिए लाभकारी हो सकता है।

2. रोजहिप टी का उपयोग पाचन क्रिया को स्वस्थ बनाए रखने के लिए (Rosehip benefits for digestion in Hindi)

  • रोजहिप चाय (Rosehip Tea in Hindi) में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो पेट की मरोड और सूजन को कम करती है और साथ ही पेट की मांसपेशियों को शांत करने में मदद करती है। 
  • रोजहिप टी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट गुण पोषक तत्वों के अवशोषण (रोजहिप चाय के फायदे) में मदद करती है। 
  • रोज़ हिप चाय में मौजूद फ्लेवोनोइड्स पाचन एंजाइमों के साथ मिलकर भोज्य पदार्थों को अधिक कुशलता से तोड़ती है और साथ ही इसे अवशोषित करने में भी मदद करती है इस लिहाज से देखा जाए तो रोजहिप टी का उपयोग पाचन क्रिया को स्वस्थ बनाए रखने के लिए किया जा सकता है। 

3. रोजहिप टी का फायदा इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए (Benefits of Rosehip tea for immune system in Hindi)

  • विभिन्‍न शोधों से पता चलता है कि रोज हिप चाय (Rosehip Tea in Hindi) में विटामिन C प्रचुर मात्रा में मिलता है।
  • विटामिन सी एक एंटीऑक्सिडेंट है जो इम्यूनिटी (प्रतिरक्षा प्रणाली) को मजबूत (रोजहिप चाय के फायदे) करने में सहयक होता है जिससे बदलते मौसम में होने वाले संक्रमण जैसे सर्दी-बुखार, फ्लू और श्वसन संबंधी बीमारी से रक्षा मिलती है साथ ही रक्त वाहिकाओं के स्वास्थ्य को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करती है।  
  • रोजहिप टी में मौजूद विटामिन सी, शरीर में आयरन को अवशोषित करने में मदद करती है। इसके आलावा विटामिन सी शरीर में मौजूद आयरन और हीमोग्लोबिन को बनाने और रक्त को स्वस्थ रखने में मदद करता है।  

और पढ़ें- कैमोमाइल चाय के 10 फायदे और नुकसान

4. रोजहिप टी का फायदा वजन घटाने के लिए (Benefits of Rosehip tea for weight loss in Hindi)

  • रोजहिप में एंटीऑक्सीडेंट गुण होने के कारण यह शरीर के अतिरिक्त वसा को जलाने के लिए लाभकारी होती है। 
  • एक शोध में अतिरिक्त वजन वाले 32 वयस्कों को 12-सप्ताह तक रोजाना 100 मिलीग्राम रोजहिप दिया गया। 12-सप्ताह बाद इनके शरीर के वजन और पेट की चर्बी दोनों में काफी कमी पाई गयी। ऐसे में कहा जा सकता है कि अधिक वजन वाले व्यक्तियों का वजन कम करने के लिए रोजहिप चाय एक लाभकारी औषधि (रोजहिप चाय के फायदे) हो सकती है। 

5. रोजहिप टी का उपयोग टाइप 2 मधुमेह से बचाव के लिए (Rosehip benefits for type 2 diabetes in Hindi)

  • रोजाहिप में एंटीहाइपरग्लाइसेमिक गुण (Rosehip benefits in Hindi) होने के कारण यह इंसुलिन की संवेदनशीलता को बढ़ाती है, जिससे ब्लड में ग्लूकोज का लेवल कम होने लगता है और डायबिटीज कुछ हद तक नियंत्रित हो जाती है जो टाइप 2 डायबिटीज के इलाज के लिए लाभदायक है।
  • हालांकि कुछ अध्यनो में रोजहिप चाय और इंसुलिन की संवेदनशीलता के बीच कोई भी सम्बन्ध नहीं मिला है। 

6. गुलाब के डंठल की चाय का फायदा जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए (Rose hip tea benefits for joint pain in Hindi)

  • रोजहिप चाय में पॉलीफेनोल्स और गलाक्टोलिपिड्स जैसे पदार्थ पाए जाते हैं जिनमें एंटी -इंफ्लेमेटरी गुण होने के कारण गुलाब के डंठल (रोजहिप) की चाय सूजन को नियंत्रित करने में मदद करती है और साथ ही ऑस्टियोआर्थराइटिस (गठिया का एक प्रकार) के दर्द से भी राहत दिलाती है। 
  • एक शोध में ऑस्टियोअर्थराइटिस से प्रभावित 100 लोगों को 4 महीने तक 0.5 ग्राम रोजहिप का कैप्सूल दिया गया। शोध के दौरान वैज्ञानिको ने 65 प्रतिशत लोगों के दर्द में कमी पाई। और साथ ही इनके कूल्हे की गतिशीलता में भी वृद्धि दर्ज की गई। यही वजह है कि गुलाब के डंठल (रोजहिप) की चाय सूजन और दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकती है।

और पढ़ें- तेज पत्ते की चाय के फायदे और इसके अधिक सेवन से होने वाले नुकसान

7. रोजहिप टी का उपयोग त्वचा को सुंदर और स्वस्थ बनाने के लिए (Rose hip benefits for skin in Hindi)

कोलेजन (त्वचा के लिए जरूरी एक तरह का प्रोटीन) एक प्रकार का प्रोटीन है जो आपके शरीर में सबसे प्रचुर मात्रा में होता है।

कोलेजन त्वचा की इलास्टिसिटी को बेहतर करने व इसे बनाए रखने में मदद करता है। गुलाब की चाय में मौजूद विटामिन C और कैरोटीनॉयड एस्टैक्सैन्थिन (carotenoid astaxanthin) नामक पदार्थ कोलेजन को टूटने से बचता है।

गुलाब के डंठल (रोजहिप) की हर्बल चाय में पाए जाने वाला विटामिन A और लाइकोपीन (lycopene ) त्वचा की कोशिकाओं को धूप से होने वाली क्षति से बचाने (रोजहिप चाय के फायदे) में मदद करती है और साथ ही त्वचा को जवान बनाए रखती है।

यही वजह है कि रोजहिप को एंटी-एजिंग गुण से भरपूर माना जाता है और जिसकारण रोजहिप टी का उपयोग त्वचा को सुंदर और स्वस्थ बनने में फायदेमंद हो सकता है। 

और पढ़ें- तुलसी की चाय के 8 स्वास्थ्यवर्धक फायदे और नुकसान

रोजहिप चाय कहां से खरीदें? (Where to buy Rosehip tea)

यदि आप रोजहिप चाय खरीदना चाहते हैं तो आप हिबिस्कस चाय के पैकेट Flipkart या Amazon की वेबसाइट से ऑनलाइन खरीद सकते हैं।
 

रोजहिप चाय कैसे बनाए? | How to make Rosehip tea in Hindi

रोजहिप चाय बनाने का तरीका (Rosehip Tea recipe in Hindi)

दो कप चाय  बनाने की विधि
  • गुलाब के डंठल को पहले पानी से अच्छी तरह धो लें,
  • फिर सॉस पैन में ढाई कप पानी उबालें,
  • अब उसमें 4-5 गुलाब के डंठल डाल दें,
  • 8-10 मिनट तक पानी को उबलने दें,
  • उबलने के बाद 10-15 मिनट पानी को ढक दें,
  • फिर इस चाय को छान लें,
  • आप इसमें स्वादानुसार शहद/ गुड़/ चीनी/ चायपत्ती/ इलायची भी डाल सकते हैं,
  • बस तैयार है आपकी गुलाब के डंठल की चाय।

और पढ़ें-  अगर किडनी की है समस्या, तो अपनाएं ये घरेलू उपचार

गुलाब के डंठल की चाय का उपयोग | Rosehip uses in Hindi

गुलाब के डंठल (रोजहिप) से बनी हर्बल चाय का सेवन आप सुबह, दोपहर और शाम के वक्त कभी भी कर सकते हैं। दिनभर में करीब दो से तीन कप गुलाब के डंठल (रोजहिप) की चाय का सेवन (100 से 500 mg) किया जा सकता है। हालांकि सेवन से पहले एक बार अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

रोजहिप चाय के नुकसान (Side effects of Rosehip in Hindi)

रोजहिप चाय के हानिकारक प्रभाव (साइड इफेक्‍ट)

  • विटामिन सी के उच्च स्तर के कारण, गुलाब की चाय कुछ व्यक्तियों में गुर्दे की पथरी के खतरे को बढ़ा सकती है,
  • रोजहिप चाय के अधिक सेवन से यह नसों में रक्त के थक्के (रोजहिप चाय के नुकसान) बना सकती है जिसे डीप वेन थ्राम्बोसिस कहते हैं डीप वेन थ्रोम्बोसिस के कारण टांगों में दर्द और सूजन हो सकती है, 
  • रोजहिप चाय के अधिक सेवन से डायरिया या उल्टी की समस्या हो सकती है,  
  • गुलाब के डंठल (रोजहिप) की चाय के अधिक सेवन से यह रक्त को पतला करने वाली दवाओं के साथ हस्तक्षेप (रोजहिप चाय के नुकसान) कर उनके प्रभाव को काम कर सकती है।

ये हैं गुलाब के डंठल (रोजहिप) की चाय के लाभकारी हर्बल गुण और इसके अधिक सेवन से जुड़ी सावधानियां। कमेंट में बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी। अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो इस पोस्ट को शेयर जरूर करें। 

रोजहिप चाय का सेवन किसी भी रोग का प्राथमिक उपचार नहीं है बल्कि उस बीमारी के लक्षणों को कम करने और शारीरिक स्वास्थ्य को बढ़ाने में मदद कर सकती है। इसलिए यदि आप किसी रोग से ग्रस्त हैं और उसकी दवाई चल रही हो तो उसे बंद ना करें। 

ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है रोजहिप चाय को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

References (सन्दर्भ)

  • https://www.healthline.com/nutrition/rosehip-tea
  • https://www.webmd.com/diet/rosehip-tea-good-for-you#1
  • https://www.webmd.com/vitamins/ai/ingredientmono-839/rose-hip
  • https://www.dilmahtea.com/herbal-infusion-tea/herbal-tea-benefits/rosehip.html
  • https://senchateabar.com/blogs/blog/rose-hip-tea
  • https://www.verywellhealth.com/the-benefits-of-rose-hip-89506
  • https://www.mcdowellsherbal.com/health-hub/1697-why-you-should-be-drinking-rosehip-tea
  • https://www.rxlist.com/consumer_rose_hips_rosa_canina/drugs-condition.htm
  • https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22166897/
  • https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24944354/ 
  • https://www.healthline.com/nutrition/rosehip-tea#TOC_TITLE_HDR_6
इस ब्लॉग [WEB POST GURU: THE ULTIMATE GUIDE TO HEALTHY LIVING] में आने और पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.