Worst Foods For Immunity: जानिए ऐसे आहार, जो करें इम्यून सिस्टम कमजोर

Worst Foods For Immunity in Hindi : अगर आप ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में नहीं जानते हैं जो आपकी इम्युनिटी को कमजोर करें, तो आपको परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। वेब पोस्ट गुरु के इस पोस्ट में हमने ऐसे आहार के बारे में बताया है जिसके कारण आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है। 

और पढ़ें – अगर किडनी की है समस्या, तो अपनाएं ये घरेलू उपचार

प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) : Immune system meaning in Hindi

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली या इम्यूनिटी शरीर को सर्दी और फ्लू जैसी अनेक बीमारियों से बचाने में मदद करती है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली आपकी जीवनशैली (Life style) पर निर्भर करती है जिसमें आपका खान-पान यानी पौष्टिक आहार (Nutritious food) विशेष रूप से महत्वपूर्ण होते हैं।

पौष्टिक आहार न केवल अच्छे शारीरिक विकास के लिए जरुरी है बल्कि यह इम्‍यून सिस्‍टम (Immune system) को भी मजबूती प्रदान करते हैं ताकी आपको इम्युनिटी मिल सके।

हालांकि ऐसे आहार जिनमें पौष्टिक चीजों की मात्रा कम होती हैं या ना के बराबर होती हैं आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं और आपको अस्वस्थ भी कर सकते हैं।

और पढ़ें –  अगर पीते हैं ग्रीन कॉफी, तो जान लीजिए इसके नुकसान

इस लेख को शुरू करने से पहले जान लेते है कि कमजोर इम्यूनिटी के लक्षण क्या होते हैं।

कमजोर इम्यूनिटी के लक्षण – Symptoms of weak immunity in Hindi

Worst Foods For Immunity

इम्यूनिटी कमजोर होने के लक्षण नीचे दिए गए हैं। जिनमें
  • तनाव होना,
  • हर समय थकान महसूस होना,
  • एलर्जी की समस्या होना,
  • घाव भरने में समय लगना,
  • पाचन की समस्या होना,
  • हर समय जुखाम लगे रहना,
  • जोड़ों में दर्द होना।

और पढ़ें – सर्वाइकल दर्द में करें इन खाद्य पदार्थों का परहेज

1. कमजोर इम्यूनिटी का संकेत है तनाव (High level of stress)

कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली का पहला संकेत है तनाव का उच्च स्तर पर होना। जिस कारण शरीर की श्वेत रक्त कोशिकाओं (लिम्फोसाइट) की संख्या में कमी आती है यह श्वेत रक्त कोशिकाएं हमारे शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करती हैं और सामान्य सर्दी, दस्त आदि से बचाती हैं।

2. इम्यूनिटी कमजोर का लक्षण है थकान (Feeling tired all the time)

कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली आपको पूरे दिन सुस्त महसूस करा सकती है, भले ही आपने रात में पर्याप्त नींद क्यों ना ली हो। कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली गहन कार्य न करने के बावजूद भी शरीर को थका हुआ और कम ऊर्जा वाला बना सकता है।

3. प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर की पहचान है एलर्जी होना (Having allergies)

जब एक हानिरहित पदार्थ जैसे धूल या पराग कण शरीर में आते हैं तो हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली एंटीबॉडी का उत्पादन कर उनकी प्रतिक्रिया को कम या नष्ट कर देते हैं जिससे हमें एलर्जी नहीं होती है।

परन्तु एक कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली हमें धूल या पराग कण से बचा नहीं पाती है और हमें एलर्जी जैसे त्वचा में लाल चकत्ते आना, जुखाम, आखें लाल होना आदि होने लगती है।

4. कमजोर इम्यूनिटी का संकेत है घाव भरने में समय लगना (Your Wounds Are Slow to Heal)

यदि आपकी त्वचा के घाव ठीक होने में सामान्य से अधिक समय लग रहा है, तो समझ जाइये कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो रही है।

स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली संक्रमण के जोखिम को कम करते हुए त्वचा को हानिकारक बैक्टीरिया या कीटाणुओं से बचाते हैं। हालांकि, एक कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली त्वचा के सामान्य कामकाज में बाधा डालती है।

और पढ़ें –  सर्वाइकल पेन क्यों होता है, जानिए इसके लक्षण, कारण, बचाव और उपचार

5. प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर का लक्षण है पाचन की समस्या (Having digestive problems)

शरीर को विभिन्न संक्रमणों से बचाने के लिए हमारी आंत में कुछ लाभकारी सूक्ष्मजीव होते हैं जो पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने और शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करते हैं। पाचन तंत्र के गड़बड़ा जाने से आंत में मौजूद लाभकारी सूक्ष्मजीव मर जाते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होने लगती है जिससे दस्त, कब्ज, सूजन आदि जैसे लक्षण सामने आते हैं। 

6. इम्यूनिटी कमजोर की पहचान है हर समय जुखाम होना (You Always Have a Cold)

अगर आपको बार-बार सर्दी लग जाती है, तो सतर्क हो जाएं। बार-बार सर्दी-जुकाम लगना कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली का लक्षण हो सकता है।
 

7. इम्यूनिटी कमजोर का लक्षण है जोड़ों में दर्द (Joint pain)

बार-बार जोड़ों में दर्द कमजोर प्रतिरोधक क्षमता के सबसे बड़े संकेतों में से एक है। जोड़ों में दर्द जोड़ों की अंदरूनी परत में सूजन के कारण होता है। यदि इम्यूनिटी लम्बे समय तक कमजोर रहती है तो यह स्वप्रतिरक्षित रोग (Autoimmune diseases) को बढ़ावा देता है।

इम्यून सिस्टम कमजोर करने वाले आहार (खाद्य पदार्थ) – Worst foods for immunity in Hindi

निम्नलिखित आहार ऐसे हैं जिनमें पौष्टिक चीजों की मात्रा बहुत कम है या ना के बराबर हैं, जिसकारण ऐसे आहार आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर सकते हैं। इन खाद्य पदार्थों में शामिल हैं –
  • अत्यधिक परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट्स (कार्ब्स),
  • उच्च ओमेगा -6 वसा वाले खाद्य पदार्थ,
  • कैफीन,
  • प्रिजर्वेटिव भरे खाद्य पदार्थ,
  • कृत्रिम रूप से बने मीठे खाद्य पदार्थ,
  • नमकीन खाद्य पदार्थ,
  • बहुत तेल-घी वाले खाने,
  • जरुरत से ज्यादा मसालेदार खाना।

1. कमजोर इम्युनिटी का कारण है अत्यधिक परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट्स – Worst foods that suppress the immune system in Hindi

शरीर को ऊर्जा देने के लिए कार्बोहाइड्रेट (कार्ब्स) एक विशेष भूमिका प्रदान करते हैं। इसलिए कार्बोहाइड्रेट को आहार में शामिल करना बेहद जरुरी है अच्छे कार्ब्स स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं, तो वहीं ख़राब कार्ब्स स्वास्थ्य को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं।

यदि खराब कार्ब्स (Causes of low immunity in Hindi) की बात करें तो इसमें अत्यधिक परिष्कृत कार्ब्स (Highly refined carbs) वाले खाद्य पदार्थ शामिल होते हैं। जैसे सफेद ब्रेड, पिज्जा आटा, पास्ता, पेस्ट्री, मेदा, सफेद चावल, मिठाइयां  इत्यादि।

अत्यधिक परिष्कृत कार्ब्स वाले खाद्य पदार्थों से फाइबर को हटा दिया गया है ये फाइबर पाचन के लिए सहायक होते हैं साथ ही खराब कार्ब्स ग्लूकोज को तेजी से रक्त में छोड़ते रहते हैं।

इन खराब कार्ब्स को बहुत ज्यादा मात्रा में लम्बे समय तक लिया जाए तो ये आपकी इम्युनिटी को कमजोर कर देते हैं जिसके चलते आप मधुमेह (type 2 diabetes), पाचन सम्बन्धी बीमारी, दिल की बीमारी और क्रोनिक बिमारियों से ग्रस्त हो सकते हैं। इसलिए अपनी डाइट में अत्यधिक परिष्कृत कार्ब्स वाले  फूड्स को दूर रखें या उनका कम से कम सेवन करें।

2. इम्यून सिस्टम कमजोर होने का कारण है उच्च ओमेगा -6 वसा वाले पदार्थ – Worst foods that may weaken your immune System in Hindi

शरीर को कार्य करने के लिए ओमेगा -6 वसा और ओमेगा -3 वसा दोनों की आवश्यकता होती है।

ओमेगा -6 वसा वाले फूड्स (Causes of low immunity in Hindi) शरीर में प्रो-इंफ्लेमेटरी प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाते हैं जो इम्युनिटी पर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं, जबकि इसके विपरीत ओमेगा -3 वसा वाले फूड्स इन प्रोटीन्स की संख्या को कम कर इम्युनिटी को तंदरुस्त रखते हैं।

इसलिए ऐसे  खाद्य पदार्थों का सेवन अधिक करें जो ओमेगा -3 वसा से युक्त हों – जैसे सैल्मन, मैकेरल, सार्डिन, अखरोट, और चिया बीज इत्यादि, और ओमेगा -6 वसा वाले खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें जैसे सूरजमुखी का तेल, कैनोला तेल, मकई का तेल, और सोयाबीन तेल।

हालांकि, ओमेगा -6 वसा और इम्युनिटी के बीच का संबंध जटिल है और अभी भी अधिक मानव शोध की आवश्यकता है।

3.  प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होने का कारण है कैफीन  – Foods that weaken the immune system in Hindi

कैफीन मुख्य रूप से कॉफी, चाय और शीतल पेय में पाया जाता है। अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन आपके इम्यून सिस्टम को कमजोर कर सकता है। हालांकि, कैफीन की कम मात्रा (2-3 कप प्रति दिन)  स्वस्थ के लिए फायदेमंद भी होती है।

कैफीन की अधिक मात्रा रक्तचाप और हृदय गति दोनों को बढ़ा सकता है जो आगे चल कर ह्रदय के रोगों का कारण बनता है जिसमें दिल का दौरा प्रमुख है।

कैफीन से यूरिन (पेशाब) आने में बढ़ोतरी हो सकती है। जिससे आपके शरीर के द्रव के स्तर में कमी आ जाती है, जो डिहाइड्रेशन होने की सम्भावना को बढ़ाता है और जिसके चलते आपको थकान महसूस होती है।

और पढ़ें – कैफीन क्या है, जानिए इसके स्रोत, मात्रा, फायदे और नुकसान 

4. इम्यूनिटी कमजोर होने का कारण है प्रिजर्वेटिव भरे आहार – Foods that hurt your immune System in Hindi

डब्बा बंद फूड या जूस में प्रीजर्वेटिव केमिकल्स अधिक मात्रा में मिले होते हैं जो खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता को कभी लम्बे समय तक बनाए रखते हैं। 

2017 के एक अध्ययन में पाया गया कि यदि प्रीजर्वेटिव केमिकल्स मिले खाद्य पदार्थ लम्बे समय तक लिए जाएं तो यह मेटाबॉलिक सिंड्रोम (Reason of low immunity in Hindi) के खतरे को बड़ा  देता है। जिसके चलते शरीर की इम्युनिटी कम होने लगती है और आप हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, मोटापा और अनियंत्रित कोलेस्ट्रॉल जैसी बिमारियों से ग्रस्त होने लगते हैं।

डब्बा बंद फूड या पेय पदार्थों में टर्ट-ब्यूटाइलहाइड्रोक्विनोन (tert-butylhydroquinone) नामक केमिकल जो की एक प्रिजर्वेटिव है, का उपयोग भोज्य पदार्थों को लम्बे समय तक ख़राब होने से बचने के लिए किया जाता है।  एक रिसर्च के अनुसार ये प्रिजर्वेटिव हमारी इम्युनिटी में नकारात्मक प्रभाव डालते हैं जो आगे चल कर हमें पाचन सम्बंधी बीमारी दे सकते हैं।

और पढ़ें – फूड पॉइजनिंग क्या है, जानिए इसके लक्षण, कारण, बचाव और इलाज

5.  कमजोर इम्युनिटी का कारण है कृत्रिम रूप से बने मीठे खाद्य पदार्थ- Foods that suppress the immune system in Hindi

ऐसे आहार जिनमें चीनी की मात्रा ज्यादा होती है, यदि लम्बे समय तक इन भोज्य पदार्थों का सेवन किया जाए तो यह आपकी इम्युनिटी को कमजोर कर सकते हैं। और जिसके चलते आप कोरोनरी हृदय रोग और टाइप 2 मधुमेह जैसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हो सकते हैं।

कृत्रिम चीनी की अधिक मात्रा लेने पर यह ट्यूमर नेक्रोसिस अल्फा (TNF-α), सी-रिएक्टिव प्रोटीन (CRP), और इंटरल्यूकिन -6 (IL-6) जैसे इन्फ्लामेट्री प्रोटीन में वृद्धि करते हैं जो इम्युनिटी में नकारात्मक प्रभाव डालते हैं।

इसके अतिरिक्त, आपके आहार में कृत्रिम चीनी की अधिक मात्रा रूमेटोइड आर्थराइटिस सहित कुछ ऑटोम्यून्यून (Autoimmune) बीमारियों की संवेदनशीलता को बढ़ा सकता है।

कुछ खाद्य पदार्थ जिनमें चीनी की मात्रा अधिक होती है, उनमें शामिल हैं:
  • मुरब्बा, और मिठाई
  • कुकीज़ और केक
  • सुगंधित दूध और मीठे डेयरी उत्पाद
  • मीठा पेय जैसे सोडा पानी
  • जेम्स, जेली और कैंडी

6. इम्यून सिस्टम कमजोर होने का कारण है अत्यधिक नमकीन आहार – Foods that hurt your immune System in Hindi

चिप्स, फ्रोजन फूड्स और फास्ट फूड जैसे मैगी और चाऊमीन, ऐसे फूड्स हैं जो स्वाद में काफी स्वादिष्ट होते हैं। इनसे पेट तो तुरंत भर जाता है पर शरीर को उचित प्रोटीन और विटामिन नहीं मिल पाते हैं जिसके चलते शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर (Causes of low immunity in Hindi)  होने लगती है।

इन खाद्य पदार्थों में नमक की उच्च मात्रा होने के कारण यह ह्रदय के जोखिमों और ऑटोइम्यून जैसी बीमारियों को बड़ा सकते हैं। और साथ ही यह पाचन तंत्र में भी बुरा प्रभाव डाल सकते हैं जिससे आपको गैस और कब्ज जैसी समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।

7.   इम्यूनिटी कमजोर होने का कारण है बहुत तेल-घी वाले खाने – Foods that may weaken your immune System in Hindi

अधिक मात्रा में तेल और घी का सेवन आपके मोटापे को कई गुना बडा सकता है। मोटापे के चलते शरीर की इम्युनिटी कमजोर होने लगती है और शरीर उच्च रक्तचाप, डायबिटीज, कैंसर, हाइपर थारॉइडिज्म और कोलेस्ट्रॉल जैसी बिमारियों से ग्रस्त होने लगता है। इसलिए आपको अपनी डाइट में फ्रेंच फ्राइज,आलू चिप्स, पिज़्ज़ा बर्गर, तला हुआ चिकन और तली हुई मछली जैसी चीजों को दूर रखना चाहिए।

8. इम्यून सिस्टम कमजोर होने का कारण है जरुरत से ज्यादा मसालेदार खाना – Foods that suppress the immune system in Hindi

अधिक मसालेदार वाले खाने (Causes of low immunity in Hindi) पाचन तंत्र में बुरा प्रभाव डाल सकते हैं। क्योंकि अधिक मसालेदार खाना खाने से पैंक्रियास पाचक रस नहीं बना पाता है जिसके चलते खाना ठीक से पचता नहीं है और आप गैस और कब्ज जैसी समस्याओं से ग्रस्त होने लगते हैं। जिसका सीधा प्रभाव आपकी इम्युनिटी पर पड़ेगा और जिसके चलते इम्युनिटी कमजोर होने लगेगी।

तीखा और मसालेदार खाना छोटी आंत में अल्सर का कारण भी बन सकता है। जिससे पेट में दर्द, जलन, मतली और उल्टी की समस्या हो सकती है।

अधिक मसालेदार खाना दिल के लिए भी नुकसानदायक होता है। अगर आप अपनी इम्युनिटी और शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो अपनी डाइट से ज्यादा मसालेदार खाना कम कर दें।

और पढ़ें – केटोजेनिक डाइट क्या है, जानिए कीटो डाइट के फायदे और नुकसान

ये हैं ऐसे आहार जिनके सेवन से इम्यूनिटी कमजोर हो सकती है। कमेंट में बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी। अगर ये पोस्ट पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए।

इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें।

सन्दर्भ (References)

इस ब्लॉग [WEB POST GURU: THE ULTIMATE GUIDE TO HEALTHY LIVING] में आने और पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सेब का सिरका पीने के फायदे | Benefits of Apple Cider Vinegar एसिडिटी और खट्टी डकार का इलाज | Home Remedies for Acidity and Burping खाली पेट आंवला जूस पीने के फायदे | Amla Juice Benefits कच्चा प्याज खाने के फायदे | Benefits of Raw Onion अच्छी और गहरी नींद आने के उपाय | Home Remedies for Insomnia Benefits of Giloy in Winter | सर्दी में गिलोय के फायदे