Omicron Variant in Hindi

Omicron Variant क्या है, जानिए ओमिक्रोन वेरिएंट और डेल्टा में अंतर

Covid-19 : कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से पूरी दुनिया परेशान है और अब दक्षिण अफ्रीका में मिले इसके नए रूप (Omicron Variant) ने चिंता और बढ़ा दी है। शुरुवाती स्टडी के मुताबिक नए ओमिक्रोन वेरिएंट के बारे में कुछ ऐसी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई है, जिसके चलते दुनिया के कई देशों ने फिर से lockdown लगा दिया है।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको कोरोना वायरस के नए Omicron Variant के बारे में बता रहे हैं। जिसमें हम ओमिक्रोन वैरिएंट की तुलना पुराने डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) से करेंगे (ओमिक्रोन वेरिएंट और डेल्टा में अंतर) और बताएंगे कि नया कोरोना ओमिक्रोन वेरिएंट पुराने कोरोना डेल्टा वेरिएंट की तुलना में कितना घातक और अलग है।

और पढ़ें – कोरोना की तीसरी लहर के लक्षण और कारण

नया ओमिक्रोन वेरिएंट क्या है? | Omicron Variant in Hindi

Omicron Variant in Hindi
Image source : pixabay.com

नया ओमिक्रोन वेरिएंट, कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) का ही एक नया रूप है, जो COVID-19 नामक संक्रामक रोग का कारण बनता है। (1)

24 नवंबर 2021 (बुधवार) को ओमिक्रोन वेरिएंट की पहचान सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में की गई।

WHO ने ओमिक्रोन वेरिएंट के इस स्ट्रेन का नाम B.1.1.1.529 रखा है।

शुरुवाती जांच में पता चला है कि नए Omicron Variant की RNA संरचना (जेनेटिक स्ट्रक्चर) पुराने Delta Variant से अलग है।

ओमिक्रोन वेरिएंट में 50 से ज्यादा म्युटेशन मिलने के कारण WHO ने इसे चिंता का विषय बताया है। (2)

और पढ़ें – C Reactive Protein (CRP) क्या है? जानिए रक्त में उच्च सीआरपी का क्या अर्थ है।

ओमिक्रोन वेरिएंट कैसे बना? | How did the Omicron variant develop in Hindi

किसी वायरस के जेनेटिक स्ट्रक्चर में होने वाला बदलाव उसके नए रूप (Variant) को जन्म देता है। जेनेटिक स्ट्रक्चर में होने वाला यह बदलाव म्युटेशन (mutation) कहलाता है जो कि RNA जैसे वायरस के लिए बेहद ही सामान्‍य है।

एक शोध के अनुसार वायरस जैसे ही किसी आबादी में फैलता है वैसे ही वह अपने रूप में बदलाव लाने की कोशिश करता है। फर्क इतना होता है कि कुछ वायरस ज्‍यादा तेजी से अपने आप को बदलते हैं और घातक बन जाते हैं और कुछ अपना परिवर्तन (mutation) धीमें करते हैं या नहीं करते हैं।

विशेषज्ञों का मानना ​​है कि कोरोना वायरस (Covid-19) के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट का जन्म, पुराने कोरोना वेरिएंट में हुए म्युटेशन का परिणाम है।

कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) के इस नए Variant को Omicron (B.1.1.529) कहा गया है जो कि “spike” protein के जीन (RNA) में बदलाव (mutation) के कारण बना है।

शोधकर्ताओं ने जब इस नए Omicron Covid virus के RNA का अध्ययन किया तो पाया है कि इस वायरस में अभीतक लगभग 50 से ज्यादा बार mutation हो चुके हैं। जिसकी वजह से इस वायरस के संक्रमण फैलाने की क्षमता पुराने Delta Variant से कही ज्यादा है। (3)

U.K की दो स्टडी में पाया गया है कि Omicron Variant, डेल्टा वेरिएंट की तुलना में कम गंभीर है, और कम संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता होती है। हालांकि, ओमिक्रोन वेरिएंट के बारे में अभी पक्के तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता है।

और पढ़ें – नींद के दौरान सांस का बार-बार रुकना (लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज)

ओमिक्रोन वैरिएंट के लक्षण क्या हैं? | Symptoms of Omicron Variant in Hindi

Symptoms of Omicron Variant in Hindi, ओमिक्रोन वेरिएंट, डेल्टा वेरिएंट
Image source : pixabay.com

ओमिक्रोन वैरिएंट के लक्षण – Omicron Variant Symptoms in Hindi

निश्चित तौर पर अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) के ओमिक्रॉन वेरिएंट के लक्षण पुराने डेल्टा वेरिएंट से अलग हैं।

माना जा रहा है कि कोरोना वायरस (Covid-19) के omicrom Variant के लक्षण पुराने delta Variant से मिलते जुलते ही हैं, जिसमें बुखार, सूखी खांसी, थकान, ठंड लगना, सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ शामिल हैं। कुछ मरीजों में नाक बहना, गले में खराश, नाक बंद होना और डायरिया जैसे लक्षण भी देखने को मिल रहे हैं। (4)

हालांकि, नए ओमाइक्रोम वेरिएंट में स्वाद और गंध की कमी मरीजों में देखने को नहीं मिली है।

और पढ़ें – इस्केमिक हृदय रोग क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

नया कोरोना ओमिक्रोन वैरिएंट कितने तेजी से फैल रहा है? | How fast is the new Corona Omicron variant spreading?

जानकारों का कहना है कि नए ओमिक्रॉन कोविड वेरिएंट पुराने डेल्टा वेरिटेंट के मुकाबले लगभग 50%-70% ज्यादा तेजी से फैल रहा है। लेकिन इससे मृत्यु, अस्पताल में भर्ती होने या गंभीर रूप से बीमार होने का खतरा नहीं बढ़ा है।

WHO की महामारी (pandemic) विशेषज्ञ, डॉ. मारिया वान केरखोव (Dr. Maria Van Kerkhove) ने कहा कि अभी तक हमारे पास जो जानकारी है, उसके मुताबिक ओमाइक्रोम वेरिएंट को बिलकुल भी हल्के में ना लें और ना ही इसे साधारण सर्दी जुखाम समझें। इसके आगे उन्होंने कहा कि यह नया ओमाइक्रोम वेरिएंट, Delta Variant से कितना खतरनाक है, इस पर शोध लगातार जारी है।

और पढ़ें – हार्ट फेल का कारण बन सकता है कार्डियक अस्थमा

क्या नया ओमिक्रोन वेरिएंट युवाओं को संक्रमित कर सकता है? | Can the new Omicron variant infect the young one?

Omicron variant in Hindi
Image source : pixabay.com

अब तक यह देखा गया है कि कोरोना वायरस (Covid-19) 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को या दूसरी बीमारी से ग्रस्त लोगों को ज्यादा नुकसान पहुंचा रहा है, लेकिन कोरोना के नए Omicron Variant से संक्रमण का खतरा बुजुर्गों के साथ-साथ युवाओं में भी देखने को मिल रहा है।

कुछ स्टडी यह भी बता रही हैं कि डेल्टा वेरिएंट बच्चों के लिए ज्यादा संक्रामक नहीं है परन्तु कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) के नए Omicron Variant बच्चों के लिए संक्रामक हो सकता है।

यूरोपियन सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल (European Centre for Disease Control) ने भी इस बात को कहा है कि कोरोना का नया Omicron Variant बच्चों के लिए चिंता का विषय हो सकता है।

और पढ़ें – किडनी रोगियों के लिए कम प्रोटीन डाइट

क्या वैक्सीन ओमिक्रोन वेरिएंट के खिलाफ काम करेगी? | Will the vaccine work against the Omicron variant?

Omicron variant and vaccine
Image source : freepik.com

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, Covid वैक्सीन की दोनों dose लगवाने के बाद, डेल्टा और अन्य वेरिएंट के खिलाफ कोविशील्ड वैक्सीन की प्रभावकारिता 70% और COVAXIN की 93.4% पाई गई है। परन्तु अब सवाल यह उठता है कि क्या नए Omicron Variant के खिलाफ भी यह वैक्सीन असरदार होंगी या नहीं?

कुछ जानकारों का मानना है कि कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट में हुआ म्युटेशन वैक्सीन की प्रभावकारिता को कम कर सकता है। इसलिए वैक्सीन की तीसरी खुराक (booster dose) लगवाना जरुरी है।

इस बारे में भारत बायोटेक का कहना है कि कोवैक्सिन का एक बूस्टर शॉट कोविड के डेल्टा और ओमिक्रोन वेरिएंट को काफी हद तक बेअसर कर देगा।

वहीं ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी का कहना है कि कोविशील्ड की बूस्टर डोज़ ओमिक्रोन के खिलाफ एंटीबॉडी स्तर को काफी बढ़ा देंगी। इसलिए कोविद-19 की बूस्टर डोज़ किसी भी वेरिएंट के लिए काफी असरदार साबित हो सकती हैं।

और पढ़ें – आयरन की कमी को दूर करते हैं ऐसे आहार।

ओमिक्रोन और डेल्टा वेरिएंट में अंतर | How is Omicron different from the Delta variant in Hindi

Difference Between Omicron and Delta Variants in Hindi

ओमिक्रोन और डेल्टा वेरिएंट में अंतर निम्नलिखित हैं- (5, 6, 7 & 8)

  • 24 नवंबर 2021 (बुधवार) को दक्षिण अफ्रीका में ओमिक्रोन वेरिएंट की पहचान की गई, जबकि डेल्टा वेरिएंट को पहली बार भारत में दिसंबर 2020 में खोजा गया था।
  • डेल्टा वैरिएंट का वैज्ञानिक नाम B.1.617.2 है, जबकि ओमिक्रोन वैरिएंट का वैज्ञानिक नाम B.1.1.1.529 है।
  • नए ओमिक्रॉन वेरिएंट, पुराने डेल्टा वेरिटेंट के मुकाबले लगभग 50%-70% ज्यादा तेजी से लोगों को संक्रमित कर रहा है। जिसका कारण नए ओमिक्रॉन वेरिएंट के gene (RNA) में ज्यादा म्युटेशन का होना बताया गया है।
  • नए ओमिक्रॉन वेरिएंट में 50 से ज्यादा म्युटेशन मिले हैं वहीं डेल्टा वेरिटेंट में 13 म्युटेशन मिले हैं।
  • Omicron Variant, डेल्टा वेरिएंट की तुलना में कम गंभीर है, और कम संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता होती है।
  • Omicron से संक्रमित व्यक्ति अधिक मतली और जठरांत्र संबंधी समस्याओं (पेट सम्बन्धी बीमारी) की रिपोर्ट करते हैं, जबकि डेल्टा वेरिएंट में यह कम देखने को मिलता है। हालांकि, थकान सभी वेरिएंट के लिए एक सामान्य लक्षण है।
  • डेल्टा वेरिएंट के लक्षण 10 दिनों तक रहते हैं, जबकि ओमिक्रोन वेरिएंट के लक्षण 4-5 दिनों तक रहते हैं।
  • डेल्टा से पीड़ित ज्यादातर मरीजों को तेज बुखार (>102 F) का अनुभव होता है, जबकि ओमिक्रोन से पीड़ित मरीजों को हल्का बुखार (<100 F) का अनुभव करते हैं।
  • डेल्टा से संक्रमित ज्यादातर मरीजों को अक्सर गंध या स्वाद के नुकसान की हानि होती है। जबकि, ओमिक्रॉन रोगियों में अभी तक ऐसा नहीं देखा गया है।
  • दोनों ही प्रकार के संक्रमण में फेफड़ों को प्रभावित करने के तरीके में एक बड़ा अंतर पाया गया है।
  • डेल्टा वेरिएंट शरीर में प्रवेश करने के कुछ दिनों के भीतर फेफड़ों को संक्रमित कर सकता है, जिससे सांस लेने में कठिनाई होती है। फेफड़ों का यह संक्रमण बाद में निमोनिया का कारण बन सकता है। हालांकि, ओमिक्रोन के केस में अभी तक फेफड़ों को कोई ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है।
  • अध्ययन से पता चलता है कि ओमिक्रोन संक्रमित व्यक्ति को दोबारा संक्रमण का जोखिम डेल्टा के मुकाबले पांच गुना अधिक है।
  • डेल्टा वेरिएंट बच्चों के लिए ज्यादा संक्रामक नहीं है परन्तु कोरोना वायरस के नए Omicron Variant बच्चों के लिए संक्रामक बताया जा रहा है।

और पढ़ें – हर्बल चाय (हर्बल टी) के 8 फायदे और नुकसान।


ये हैं Omicron variant (कोरोना वायरस) के बारे में बताए गई जानकारी। कमेंट में बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी। यदि आपको ओमिक्रोन कोरोना वैरिएंट पोस्ट पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें।

वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और सेंटर फॉर डीसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) द्वारा COVID-19 के बारे में दी जाने वाली जानकारी लगातार बदल रही हैं। अपडेट के लिए WHO या CDC की वेबसाइट में देखते रहें।

Reference

  1. CDC COVID-19 Response Team. SARS-CoV-2 B.1.1.529 (Omicron) Variant – United States, December 1-8, 2021. MMWR Morb Mortal Wkly Rep. 2021 Dec 17;70(50):1731-1734. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/34914670/
  2. Poudel S, Ishak A, Perez-Fernandez J, et al. Highly mutated SARS-CoV-2 Omicron variant sparks significant concern among global experts – What is known so far? [published online ahead of print, 2021 Dec 8]. Travel Med Infect Dis. 2021;45:102234. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC8666662/#
  3. Zhao H, Lu L, Peng Z, Chen LL, Meng X, Zhang C, Ip JD, Chan WM, Chu AW, Chan KH, Jin DY, Chen H, Yuen KY, To KK. SARS-CoV-2 Omicron variant shows less efficient replication and fusion activity when compared with delta variant in TMPRSS2-expressed cells. Emerg Microbes Infect. 2021 Dec 24:1-18. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/34951565/
  4. Ingraham NE, Ingbar DH. The omicron variant of SARS-CoV-2: Understanding the known and living with unknowns. Clin Transl Med. 2021;11(12):e685.
  5. University of Cambridge– Omicron may be significantly better at evading vaccine-induced immunity, but less likely to cause severe disease.
  6. Kumar S, Thambiraja TS, Karuppanan K, Subramaniam G. Omicron and Delta variant of SARS-CoV-2: A comparative computational study of spike protein. J Med Virol. 2021 Dec 15.  https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/34914115/
  7. Saxena SK, Kumar S, Ansari S, Paweska JT, Maurya VK, Tripathi AK, Abdel-Moneim AS. Characterization of the novel SARS-CoV-2 Omicron (B.1.1.529) variant of concern and its global perspective. J Med Virol. 2021 Dec 14.  https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/34905235/
  8. Ferré VM, Peiffer-Smadja N, Visseaux B, Descamps D, Ghosn J, Charpentier C. Omicron SARS-CoV-2 variant: What we know and what we don’t [published online ahead of print, 2021 Dec 10]. Anaesth Crit Care Pain Med. 2021;41(1):100998. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC8660660/

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.