गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में शिशु का विकास

Fetal Development: गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में शिशु का विकास सप्ताह दर सप्ताह

Fetal Development in Hindi : इस पोस्ट के माध्यम से हमने गर्भावस्था की तीसरी तिमाही (27 वें सप्ताह से 40 वें सप्ताह तक की प्रेगनेंसी) के दौरान शिशु में होने वाले विकास के बारे में सप्ताह के अनुसार बताया है।

Fetal development in Hindi | गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में शिशु का विकास

Pregnancy Third Trimester Fetal Development

गर्भावस्था की तीसरी तिमाही, गर्भावस्था का अंतिम चरण कहलाता है। जो सप्ताह 27वें से ले कर सप्ताह 40वें (या प्रेगनेंसी  का 7, 8, और 9 महीना) तक का समय होता है। गर्भावस्था की तीसरी तिमाही शिशु की वृद्धि और विकास के लिए अहम मानी जाती है।  

प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में शिशु के आकार (Fetal size) में तेजी के साथ परिवर्तन आता है और जो अंग दूसरी तिमाही में विकसित नहीं हुए होते हैं वह अब विकसित होने लगते हैं। 

गर्भावस्था की तीसरी तिमाही (सप्ताह दर सप्ताह गर्भावस्था) के दौरान HCG हार्मोन के स्तर में और भी कमी आ जाती है और एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का स्तर दूसरी तिमाही के मुकाबले और भी ज्यादा होने लगता है। जो गर्भाशय और प्लेसेंटा के विकास में मदद करता है।

एक गर्भवती के लिए उसकी तीसरी तिमाही, शारीरिक और भावनात्मक दोनों ही रूप से चुनौतीपूर्ण हो सकती है इसलिए गर्भवती का सकारात्मक रहना बहुत जरुरी है। 

सामान्यतः, 37वें सप्ताह (Pregnancy week by week in Hindi) तक शिशु पूरी तरह विकसित हो जाता है, और उसके बाद वह कभी भी मां बन सकती हैं। तो चलिए अब हम आपको गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में शिशु के विकास के बारे में समझाते हैं। 

और पढ़ें –  प्रसव से पहले एमनियोटिक द्रव का रिसाव: लक्षण, कारण और उपचार।

और पढ़ें –  प्रसवोत्तर अवसाद क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और उपचार।

प्रेगनेंसी के सातवें महीने में शिशु का विकास – 7th month of pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का सातवां महीना, 27वें सप्ताह से लेकर 30वें सप्ताह तक का समय होता है। 

प्रेगनेंसी के 27वें सप्ताह में शिशु का विकास (27 week pregnancy in Hindi)

27 weeks fetus growth In Hindi,Third Trimester Fetal Development
27वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 27 वें सप्ताह (गर्भावस्था की तीसरी तिमाही) से शिशु की आंतें लगातार बढ़ती और विकसित होती जाती है जो एमनियोटिक द्रव से अधिक से अधिक पोषक तत्वों को अवशोषित करती हैं।
  • इस समय (7th month of pregnancy in Hindi) शिशु एमनियोटिक द्रव को सांस के जरिये लेकर श्वसन क्रिया का अभ्यास प्रारंभ करता है। हालांकि अभी भी ऑक्सीजन शिशु को प्लेसेंटा द्वारा ही मिल रही होती है।
  • बच्चे की हृदय गति अभी भी लगभग 120-160 बीट प्रति मिनट होती है जो उनके जन्म के समय तक ऐसी ही रहेगी।
  • आपका शिशु अब अपनी इच्छानुसार अपना अंगूठा चूस सकता है और साथ ही इस समय से शिशु अपने माता-पिता की आवाज पहचानने लगता है। इसलिए यह समय बच्चे से बात करने और उसे लोरी सुनाने का सही समय होता है। 

और पढ़ें –  Amniotic Fluid की कमी या अधिकता के लक्षण, कारण और इलाज।

प्रेगनेंसी के 28 वें सप्ताह में शिशु का विकास (28 week pregnancy in Hindi)

28 weeks fetus growth In Hindi,गर्भावस्था की तीसरी तिमाही
28वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 28 वें सप्ताह (गर्भावस्था की तीसरी तिमाही) तक शिशु अपनी आँखें खोल लेता है और साथ ही अपनी पलके झपकाना शुरू करने लगता है। उसकी आखें अब इतनी सक्रिय हो जाती हैं कि गर्भ में प्रवेश करती हुई किसी हल्की रौशनी को भी देख और समझ सकता है।
  • इस समय (7th month of pregnancy in Hindi) शिशु  का छोटा सा मस्तिष्क (Fetal growth and development) अरबों न्यूरॉन्स का लगातार विकास कर रहा है और वह सपने देखने व शरीर के तापमान को नियंत्रित करने जैसी विशेष क्रियाएं करने में सक्षम है।
  • आंतें (इंटेस्टाइन), पाचक एंजाइम (डाइजेस्टिव एंजाइम) को निकालना शुरू कर देते हैं। जो शुगर, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स और फैट जैसे पोषक तत्वों को तोडने में मदद करते हैं।

और पढ़ें –  जानिए दूसरी तिमाही में शिशु (भ्रूण) का विकास सप्ताह अनुसार।

प्रेगनेंसी के 29 वें सप्ताह में शिशु का विकास (29 week pregnancy in Hindi)

29 weeks fetus growth In Hindi
29वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 29 वें सप्ताह से शिशु और भी सक्रिय हो जाता है और आप उनके मुक्के, लात और उनकी करवट का अनुभव अच्छे से कर सकती हैं,
  • इस समय (प्रेग्‍नेंसी का सातवां महीना) शिशु विभिन्न खाद्य पदार्थों, ध्वनियों और रोशनी के प्रति अब प्रतिक्रिया करने लगता है।
  • शिशु का मस्तिष्क अपने पूरे क्षेत्रों में जटिल कनेक्शन की एक प्रणाली बना रहा है।
  • मस्तिष्क के विकास के साथ उसका सिर अब सामान्य आकर ले रहा होता है।
  • तीसरी तिमाही में शिशु अपना वजन तेजी से बढ़ाता है जिस कारण उसे अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है जो वह अपनी मां से लेता है इसलिए आपका पौष्टिक आहार और अच्छी डाइट लेना बहुत जरुरी है।
  • यह आश्चर्यजनक बात है कि शिशु को कुल जितनी ऊर्जा की जरुरत होती है, उसका आधा भाग मस्तिष्क के विकास के लिए चाहिए होता है।

प्रेगनेंसी के 30 वें सप्ताह में शिशु का विकास (30 week pregnancy in Hindi)

30 weeks fetus growth In Hindi
30वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 30 वें सप्ताह में लैन्यूगो (शिशु के शरीर के शुरुवाती बाल), जो 14वें सप्ताह में बनने शरू हुए थे अब वह धीरे धीरे गायब होने लगते हैं, 
  • शिशु इस समय (प्रेग्‍नेंसी का सातवां महीना) तक लगभग पूरे गर्भाशय के आकार के बराबर हो जाता है। जिस कारण शिशु को अब हिलने डुलने के लिए खाली स्थान नहीं मिल पाता है।
  • शिशु के मस्तिष्क का विकास तेजी के साथ होता जा रहा है और वह आंखों, मांसपेशियों और फेफड़ों को कार्य करने के लिए संकेत देना शुरू कर देता है।
  • शिशु का मस्तिष्क और स्वाद कलिकाएं अब इतनी परिपक्व हो गई हैं कि वह जो पदार्थ निगल रहा होता है उसके स्वाद का अनुभव कर सकता है।
  • 30 वें सप्ताह (सप्ताह दर सप्ताह गर्भावस्था) के बाद डॉक्टर आपका एक अल्ट्रासाउंड कर सकते हैं जो बच्चे के शारीरिक विकास, उसके वजन, मस्तिष्क के विकास, हृदय में रक्तसंचार, हृदय की धड़कन, सिर की स्थिति, डिलीवरी की सही तिथि बताने  और प्लेसेंटा आदि को देखने के लिए किया जाता है।
  • इस सप्ताह (प्रेग्‍नेंसी का सातवां महीना) के अंत तक आपका शिशु करीब 40.64 सेंमी (16 इंच) हो गया है, जो लगभग एक बड़ी पत्तागोभी  (cabbage) जितना बड़ा है और साथ ही उसका वजन करीब 1.6 किलो तक होता है।

प्रेगनेंसी के आठवें महीने में शिशु का विकास | 8th month of pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का आठवां महीना, 31वें सप्ताह से लेकर 35वें सप्ताह तक का समय होता है। 

प्रेगनेंसी के 31 वें सप्ताह में शिशु का विकास (31 week pregnancy in Hindi)

32 weeks fetus growth In Hindi
31वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 31 वें सप्ताह से शिशु के सिर पर बाल आने लगते हैं जो उनके जन्म तक लगातार बढ़ते और घने होते रहते हैं,
  • शिशु अपने आसपास की चीजों के प्रति अब अधिक संवेदनशील हो जाता है। यदि आप अपने पेट पर टॉर्च या कोई चमकदार रोशनी डालते हैं, तो आप शायद महसूस कर पाएं कि शिशु इसे देखने के लिए अपना सिर घुमाने की कोशिश करता है।
  • इस समय (प्रेग्‍नेंसी का आठवां महीना) भी बच्चे के फेफड़े विकास के अंतिम चरणों में हैं। हालांकि शिशु लगातार सांस लेने की प्रक्रिया का अभ्यास करता रहता है।
  • बच्चे की हड्डियाँ (Fetal growth and development) पहली तिमाही के 8वें हफ्ते से बनने लगती हैं। दूसरी तिमाही से हड्डियाँ लम्बाई और चौड़ाई में आने लगती हैं। जबकि तीसरी तिमाही में कैल्शियम जमा होने से उनकी हड्डियाँ सख्त और मजबूत हो जाती हैं।

और पढ़ें – जानिए प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए।

प्रेगनेंसी के 32 वें सप्ताह में शिशु का विकास – 32 week pregnancy in Hindi

32 weeks fetus growth In Hindi
32वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 32 वें सप्ताह (गर्भावस्था की तीसरी तिमाही) से शिशु की हलचल उतनी नहीं होती जितनी पहले सप्ताहों में हो रही थी। इसका मुख्य कारण यह है कि शिशु अब पहले से ज्यादा बड़ा हो चुका है और गर्भ में जगह कम होती जा रही है।
  • इस समय (8th month of pregnancy in Hindi)  फेफड़ों को छोड़कर शिशु के सभी प्रमुख अंगों का विकास लगभग हो चुका है,
  • प्रेगनेंसी के 32वें सप्ताह (Pregnancy week by week in Hindi) के अंत तक ज्यादातर शिशु अपने हाथ-पैरों को सिकोड़े हुए गर्भाशय के नीचे की ओर अपने सिर को लाने लगते हैं। जो अल्ट्रासाउंड में देखा जा सकता है।
  • सिर की हड्डियों को छोड़कर बाकि हड्डियां सख्त होना शुरू हो रही है क्योंकि सिर को प्रसव के लिए लचीला और नरम रहने की जरूरत रहती है।

प्रेगनेंसी के 33 वें सप्ताह में शिशु का विकास (33 week pregnancy in Hindi)

33 weeks fetus growth In Hindi,27-40 सप्ताह की गर्भावस्था
33वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 33 वें सप्ताह (प्रेग्‍नेंसी का आठवां महीना) तक एमनियोटिक द्रव अपने अधिकतम स्तर तक पहुंच गया होता है,
  • इस समय (प्रेग्‍नेंसी का आठवां महीना) शिशु की त्वचा के नीचे सफेद वसा की मात्रा बढ़ने से दिखने वाली नसें अब पूरी तरह ढक चुकी है और जिसके चलते शिशु अब कम लाल दिख रहा है। 
  • इस समय (8th month of pregnancy in Hindi) शिशु की हड्डियों का ढांचा सख्त होता जा रहा है और जल्द ही वह अधिक मजबूद हो जाएंगी।
  • प्रेगनेंसी के 33वें सप्ताह में कान मस्तिष्क से अच्छे से जुड़ जाते हैं जिसके चलते शिशु अब बाहरी आवाजें आराम से सुन सकता है।
  • मस्तिष्क, अरबों न्यूरॉन्स को लगातार विकसित कर रहा है। हालांकि, शिशु के फेफड़े अभी भी विकास के अंतिम चरणों में हैं और बस कुछ ही सप्ताह में पूरे बनने वाले हैं।  

और पढ़ें – गर्भावस्था की तीसरी तिमाही: लक्षण, शिशु विकास और ब्लड टेस्ट।

प्रेगनेंसी के 34 वें सप्ताह में शिशु का विकास  (34 week pregnancy in Hindi)

34 weeks fetus growth In Hindi
34वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 34 वें सप्ताह (गर्भावस्था की तीसरी तिमाही) तक वर्निक्स केसोसा परत और भी अधिक मोटी हो जाती है। वर्निक्स केसोसा एक सुरक्षात्मक परत है जो आपके बच्चे की त्वचा को गर्भाशय के अंदर एमनियोटिक द्रव के लगातार संपर्क में रहने से बचाती है। वर्निक्स केसोसा पानी, वसा और प्रोटीन का मिश्रण होता है।
  • 34वें सप्ताह में (सप्ताह दर सप्ताह गर्भावस्था) शिशु अब अपने हाथ-पैरों को सिकोड़ते हुए गर्भाशय के नीचे की ओर अपने सिर को लगातार ला रहा है।
  • अधिकांश अंग जिसमें पाचन, श्वसन और तंत्रिका तंत्र आदि सम्मलित हैं अब स्वयं ही काम करने में सक्षम हैं।
  • अब शिशु के सोने का एक समय तय हो जाता है जिसमें अधिकांश समय वह गहरी नींद में ही होता है।
  • 34वें सप्ताह (प्रेग्‍नेंसी का आठवां महीना) पर जन्में शिशु के जीवित रहने की दर 99% से अधिक रहती है। हालांकि पैदा हुए बच्चे में कुछ स्वास्थ्य समस्याएं जैसे पीलिया या सांस लेने में कठिनाई आ सकती है। जो डॉक्टरी देख रेख (NICU= newborn intensive care unit) में ठीक हो जाती हैं।

और पढ़ें – जानिए प्रेगनेंसी में अल्ट्रासाउंड (सोनोग्राफी) कब और क्यों होता है।

प्रेगनेंसी के 35 वें सप्ताह में शिशु का विकास (35 week pregnancy in Hindi)

35 weeks fetus growth In Hindi
35वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 35 वें सप्ताह (गर्भावस्था की तीसरी तिमाही) तक बच्चे का अधिकांश विकास पूरा हो जाता है। और अब बस उसके वजन और चर्बी में वृद्धि होती जाती है
  • शिशु का लिवर, किडनी, हृदय, मस्तिष्क, कान और तंत्रिका तंत्र (Fetal growth and development) पूरी तरह से परिपक्व हो चुके होते हैं और अच्छे से काम करना शुरु कर देते हैं। हालांकि फेफड़े अभी भी विकास के आखिरी चरण में हैं।
  • लैन्यूगो (Lanugo) बाल अब गायब हो गए हैं लेकिन इनकी जगह अब वेल्लस बाल (Vellus hair) आ जाते हैं। ये हल्के रंग के वो बाल होते हैं जो वयस्कों के शरीर पर पाए जाते हैं।
  • 34वें या 35वें सप्ताह (Pregnancy week by week in Hindi) में एमनियोटिक द्रव का स्तर लगभग 800 ml से लेकर 1000 ml तक होता है। इस समय ऐम्नियॉटिक द्रव की मात्रा सबसे अधिक होती है। 
  • इस सप्ताह के अंत तक आपका शिशु करीब 46.2 सेंमी (18.2 इंच) हो गया है, जो लगभग एक बड़े अनानास (Pineapple) जितना बड़ा होता है और साथ ही उसका वजन करीब 2.1 किलो तक हो जाता है।

और पढ़ें – प्रेगनेंसी के दौरान ऐसे करें अपनी देखभाल, होगा स्वस्थ शिशु।

प्रेगनेंसी के नवें महीने में शिशु का विकास | 9th month of pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का नवां महीना, 36वें सप्ताह से लेकर 40वें सप्ताह तक का समय होता है। 

प्रेगनेंसी के 36 वें सप्ताह में शिशु का विकास (36 week pregnancy in Hindi)

36 weeks fetus growth In Hindi
36वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • प्रेगनेंसी के 36 वें सप्ताह में शिशु के फेफड़े पूरी तरह परिपक्व हो जाते हैं और अब वह स्वतंत्र रूप से अपना कार्य कर सकते हैं, साथ ही शिशु की संचार प्रणाली और इम्युनिटी काफी अच्छी अवस्था में होती है।
  • 36वें सप्ताह (9th month of pregnancy in Hindi) के बाद से शिशु अपने सिर को गर्भाशय के नीचे की ओर लगातार ला रहा होता है। जिस कारण आपको सीने और पेट में हल्कापन महसूस हो सकता है।
  • इस सप्ताह (प्रेग्‍नेंसी का नवां महीना) के बाद से आपको प्रसव पीड़ा के प्रारंभिक लक्षण दिखाई दे सकते हैं जिसमें लगातार और तेज संकुचन होना, ग्रीवा में बदलाव, म्यूकस के साथ खून का आना, गर्भ में मौजूद एमनियोटिक झिल्ली का फटना, बार-बार यूरिन करने का मन करना, कब्ज या फिर डायरिया होना, पीठ दर्द और बहुत नींद आना आदि सम्मिलित हैं। 

प्रेगनेंसी के 37 वें सप्ताह से 40 वें सप्ताह तक शिशु का विकास (37 week to 40 week pregnancy in Hindi)

37-40 weeks fetus growth In Hindi
37वें -40वें सप्ताह में शिशु की वृद्धि और विकास
  • गर्भावस्था के 37वें सप्ताह से लेकर 40वें सप्ताह (गर्भावस्था की तीसरी तिमाही) के बीच गर्भवती को कभी भी प्रसव पीड़ा हो सकती है।
  • गर्भावस्था के 37वें सप्ताह (प्रेग्‍नेंसी का नवां महीना) से पहले होने वाला प्रसव,  प्री-मैच्योर डिलीवरी या समय पूर्व प्रसव कहलाता है।
  • यदि गर्भावस्था के 40वें सप्ताह के बाद भी अगर लेबर पेन ना हो, तो ऑपरेशन (सिजेरियन डिलीवरी) कर डिलीवरी कराई जाती है।
  • 37वें सप्ताह (तीसरी तिमाही) से आपकी गर्भावस्था को पूर्ण अवधि (फुल टर्म) की गर्भावस्था कहा जाएगा, इसका मतलब है कि आपका शिशु अब किसी भी दिन जन्म लेने के लिए तैयार है।
  • 38वें सप्ताह में फेफड़े पूरी तरह से परिपक्व हो जाते हैं।
  • 39वें सप्ताह में संचार प्रणाली के बनने और इम्युनिटी की अच्छी अवस्था में होने के कारण शिशु की अब गर्भाशय के बाहर जीवित रहने की दर लगभग 99.99% हो जाती है।
  • बच्चे के जन्म के समय आपकी गर्भनाल (placenta) लगभग 1 से 3 फीट (30-100 सेंटीमीटर) लंबी और 1/2 इंच (16 मिलीमीटर) से अधिक चौड़ी होती है।
  • 39वें सप्ताह (प्रेग्‍नेंसी का नवां महीना) तक शिशु अपने सिर को गर्भाशय के नीचे की ओर ले आता है। हालांकि, कुछ महिलाओं में शिशु डिलीवरी से ठीक पहले इस पोजीशन में आता है।
  • यदि आपके शिशु का सिर नीची की तरफ नहीं आता है तो डॉक्टर संभवतः सीज़ेरियन डिलीवरी के बारे में आपसे बात करते हैं।
  • इन सप्ताहों (37वें सप्ताह से 40वें सप्ताह तक) में आपका शिशु करीब 49.3 सेंमी (19.4 इंच) लम्बा हो जाता है, जो लगभग एक बड़े तरबूजे (Watermelon) जितना बड़ा होता है और साथ ही उसका वजन करीब 2.9 किलो तक हो जाता है।

और पढ़ें – गर्भावस्था की पुष्टि के लिए रक्त परीक्षण।

ये हैं गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में शिशु का विकास (Third trimester fetal development in Hindi) की पूरी जानकारी। कमेंट में बताएं आप को यह पोस्ट कैसी लगी। अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो इस पोस्ट को शेयर जरूर करें।  

ध्यान दें –  इस पोस्ट में शिशु के विकास की जानकारी आपको इस बात का सामान्य अंदाजा देती है कि गर्भ में शिशु किस तरह बढ़ रहा है। ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है और यह कहीं से भी योग्य डॉक्टर द्वारा दिए गए मेडिकल सुझाव का विकल्प नहीं है।

संदर्भ (References)

  • https://www.webmd.com/baby/pregnancy-your-babys-growth-development-months-7-to-9
  • https://www.tommys.org/pregnancy-information/im-pregnant/pregnancy-week-by-week/32-weeks-pregnant-whats-happening
  • https://www.stanfordchildrens.org/en/topic/default?id=third-trimester-85-P01242
  • https://familydoctor.org/your-babys-development-the-third-trimester/
  • https://www.columbiaindiahospitals.com/health-articles/third-trimester-fetal-development-baby-growth
  • https://kidshealth.org/en/parents/pregnancy-calendar-intro.html
  • https://www.healthline.com/health/pregnancy/third-trimester-developing-baby
  • https://www.whattoexpect.com/pregnancy/week-by-week/week-31.aspx
  • https://www.verywellfamily.com

इस ब्लॉग [WEB POST GURU: THE ULTIMATE GUIDE TO HEALTHY LIVING] में आने और पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सेब का सिरका पीने के फायदे | Benefits of Apple Cider Vinegar एसिडिटी और खट्टी डकार का इलाज | Home Remedies for Acidity and Burping खाली पेट आंवला जूस पीने के फायदे | Amla Juice Benefits कच्चा प्याज खाने के फायदे | Benefits of Raw Onion अच्छी और गहरी नींद आने के उपाय | Home Remedies for Insomnia Benefits of Giloy in Winter | सर्दी में गिलोय के फायदे