Benefits of Biotin Capsule: बायोटिन कैप्सूल के फायदे बालों की ग्रोथ, त्वचा और स्वास्थ्य के लिए

बायोटिन एक प्रकार का विटामिन (विटामिन बी7) है जो बालों की ग्रोथ, त्वचा और स्वास्थ्य को बनाए रखता है। यह स्वस्थ गर्भावस्था का समर्थन करता है और साथ ही रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित बनाए रखने में मदद करता है। हालांकि, बहुत से लोग अभी भी बायोटिन के लाभ के बारे में नहीं जानते हैं। इस पोस्ट में हम आपको बायोटिन के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जिसमें बायोटिन क्या है? बायोटिन कैप्सूल के फायदे (Benefits of Biotin Capsule in Hindi), बायोटिन की कमी के लक्षण, बायोटिन के स्रोत, बायोटिन के साइड इफेक्ट (बायोटिन के नुकसान) और बायोटिन की खुराक के बारे में बता रहे हैं।

तो चलिए अब इस लेख को शुरू करते हैं।

क्या है बायोटिन? (What is biotin in Hindi)

बायोटिन (Biotin in Hindi), जिसे विटामिन एच (Vitamin H), विटामिन B7 (Vitamin B7) या B- काम्प्लेक्स विटामिन (B-complex vitamin) भी कहा जाता है एक प्रकार का वॉटर सॉल्यूबल (पानी में घुलने वाला) विटामिन है। बायोटिन का प्रमुख कार्य शरीर में मौजूद वसा, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन पदार्थों को तोड़ना है। मतलब यह भोजन को ऊर्जा में बदलते हैं। (1) (2)

पानी में घुलनशील होने के कारण बायोटिन शरीर से बहार निकल जाता है। इसलिए बायोटिन का रोजाना सेवन किया जाना जरूरी है। हालांकि, बायोटिन की कमी बहुत कम लोगों में देखी जाती है। फिर भी, कुछ लोग – जैसे कि गर्भवती महिलाएं और बहुत अधिक शराब पीने वाले लोगों में बायोटिन की कमी देखी जा सकती है।

इसके अलावा, नियमित रूप से कच्चे अंडे खाने से बायोटिन की कमी हो सकती है, क्योंकि कच्चे अंडे के सफेद हिस्से में एविडिन नामक एक प्रोटीन होता है जो बायोटिन को बांधता है और शरीर को इसे अवशोषित करने से रोकता है। हालांकि, अंडे को पकाने से उनका एविडिन निष्क्रिय हो जाता है।

और पढ़ें – लो कैलोरी डाइट के फायदे, नुकसान और आहार योजना।

बायोटिन कैप्सूल के फायदे (Benefits of Biotin Capsule in Hindi)

Benefits of Biotin Capsule in Hindi

1. मेटाबॉलिज्म दुरुस्त करने में बायोटिन सप्लीमेंट के लाभ – Benefits of biotin supplement for improving metabolism in Hindi

बायोटिन सप्लीमेंट का फायदा (Benefits of Biotin supplement in Hindi) शरीर में चयापचय (Metabolism) स्तर को विनियमित और बेहतर बनाने में हो सकता है। बायोटिन चयापचय में उपलब्ध वसा, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का उपयोग करता है और उन्हें ऊर्जा में परिवर्तित करता है।इस ऊर्जा का उपयोग शरीर द्वारा विभिन्न कार्यों को करने के लिए किया जाता है। (2)

और पढ़ें – ओमेगा 3 फैटी एसिड के फायदे और नुकसान।

2. ब्लड शुगर नियंत्रित करने में बायोटिन कैप्सूल  के फायदे – Benefits of biotin capsule for controlling blood sugar in Hindi

बायोटिन (या विटामिन एच), टाइप-2 मधुमेह को नियंत्रित करने में काफी प्रभावी माना जाता है। बायोटिन शरीर में इंसुलिन के उत्पादन को बढ़ाकर रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। (3)

और पढ़ें – जानिए मधुमेह रोगी डायबिटीज में क्या खाएं और क्या न खाएं।

3. हेयर ग्रोथ में बायोटिन कैप्सूल के फायदे – Biotin benefits for hair growth in Hindi

कुछ स्टडी बताती है कि बायोटिन केराटिन उत्पादन को उत्तेजित करता है जिससे बालों का झड़ना रुक सकता है। हालांकि, इस बात के बहुत कम वैज्ञानिक प्रमाण हैं कि बायोटिन अकेले बालों के झड़ने को रोक सकता है। इसलिए यह कहना अभी उचित नहीं होगा कि बायोटिन सप्लीमेंट (बायोटिन कैप्सूल) लेने से आप अपने बालों को गिरने से रोक सकता है। (4) & (5)

4. त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में बायोटिन टेबलेट्स के फायदे – Biotin tablets benefits for Skin in Hindi

शोध से यह भी पता चलता है कि बायोटिन (विटामिन एच बेनिफिट्स) त्वचा की नमी को बनाए रखने और त्वचा की चिकनाई में सुधार करने में मदद करता है। विटामिन बी, या बायोटिन, फैटी एसिड के उत्पादन को बढ़ाते हैं जो त्वचा को पोषण देता है, और तेल ग्रंथियों को ठीक से काम करने में मदद करता है। (6)

हालांकि, कुछ अध्ययन इस बात का समर्थन  नहीं करते हैं कि बायोटिन त्वचा के लिए फायदेमंद है। बायोटिन (Biotin in Hindi) त्वचा के लिए कितना फायदेमंद है इसके लिए अभी और अधिक शोध की आवश्यकता है।

5. नाखून को मजबूत बनाने में बायोटिन का उपयोग – Use of biotin to strengthen nails in Hindi

नाखूनों के कमजोर होने या ब्रिटिल नेल्स की समस्या कई लोगों को होती है। नाखूनों के कमजोर होने पर यह आसानी से टूट या चटक जाते हैं। परन्तु, बायोटिन के सेवन से इस समस्या से बचा जा सकता है।

कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि 6 महीने तक रोजाना 2.5 मिलीग्राम बायोटिन सप्लीमेंट लेने से नाखून की मोटाई 25% बढ़ जाती है। हालांकि, अन्य अध्ययन इस बात का सपोर्ट नहीं करते हैं। इसलिए, इस विषय में अभी और शोध कि आवश्यकता है। (5)

और पढ़ें – स्वस्थ रहने के लिए शुरू करें लो कार्ब डाइट।

6. स्वस्थ गर्भावस्था में बायोटिन के लाभ – Benefits of biotin for healthy pregnancy in Hindi

बायोटिन कैप्सूल गर्भावस्था के साथ-साथ स्तनपान के दौरान भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। डॉक्टर गर्भावस्था के दौरान बायोटिन और फोलिक एसिड युक्त प्रसवपूर्व विटामिन लेने की सलाह दे सकते हैं। (7)

बायोटिन (विटामिन एच) और फोलिक एसिड शिशु के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करता है। साथ ही यह गर्भवती महिला के मेटाबोलिस्म को भी नियंत्रित करता है।

हालांकि, बायोटिन की उच्च खुराक बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकती है, इसलिए बायोटिन सप्लीमेंट का सेवन डॉक्टर के अनुसार ही करें।

7. तंत्रिका कोशिकाओं की रक्षा करने में बायोटिन के फायदे– Benefits of biotin for protecting nerve cells in Hindi

बायोटिन, मस्तिष्क की माइलिन शीथ (Myelin sheath) बनान में मदद करता है। माइलिन शीथ तंत्रिका कोशिकाओं (nerve cells) की रक्षा करते हैं और साथ ही विद्युत आवेगों (electrical impulses) को तंत्रिका कोशिकाओं के साथ जल्दी और कुशलता से संचारित (transmit) करने की अनुमति देते हैं। (8)

बायोटिन की कमी (Biotin deficiency in Hindi) से माइलिन शीथ क्षतिग्रस्त हो सकती है। यदि माइलिन शीथ क्षतिग्रस्त हो जाती है तो electrical impulses धीमा हो सकता है जिससे मस्तिष्क के कार्य करने की क्षमता प्रभावित होती है।

और पढ़ें – हर्बल चाय (हर्बल टी) के 8 फायदे और नुकसान।

8. हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में बायोटिन कैप्सूल के फायदे – Benefits of biotin capsules for maintaining heart health in Hindi

विटामिन बी 7 के फायदे (Vitamin H Benefits in Hindi) या बायोटिन कैप्सूल का लाभ (Biotin Benefits in Hindi) हृदय को संभावित समस्याओं से बचाना है।(9)

यह देखा गया है कि पर्याप्त मात्रा में बायोटिन का नियमित सेवन हृदय में रक्त प्रवाह को बनाए रखता है और साथ ही कई सामान्य समस्याओं से बचाता है।

बायोटिन (Biotin in Hindi) उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन को बढ़ाने और कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन को कम करने में मदद करता है, जो हृदय जोखिम को कम करता है।

क्या बायोटिन बालों के झड़ने को रोकने में मदद करता है? (Does biotin help prevent hair fall in Hindi)

Does biotin help prevent hair fall in Hindi

बायोटिन (विटामिन एच), जिसे विटामिन बी 7 के रूप में भी जाना जाता है, बालों में केराटिन उत्पादन को उत्तेजित करता है और hair follicle की दर को बढ़ा सकता है।

(Hair follicle त्वचा के नीचे पाया जाने वाला अंग है जो आपके बालों के रंग, बालों के विकास, बालों की बनावट आदि के लिए जिम्मेदार होता है।)

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार, बायोटिन आपके केराटिन को बढ़ाकर आपके बालों के रोम को मजबूत करने में मदद कर सकता है। जिससे बालों का झड़ना कम हो सकता है। हालांकि, कुछ वैज्ञानिक इस बात को सही नहीं मानते है कि बायोटिन बालों के झड़ने को कम कर सकता है। (5)

स्किन एपेंडेज डिसऑर्डर जर्नल के अनुसार, अभी तक इस बात के कोई पुख्ता प्रमाण नहीं मिलें हैं कि बायोटिन बालों के झड़ने को कम करता है। हालांकि, बायोटिन सप्लीमेंट उन लोगों के लिए मददगार हो सकता है जिनमें बायोटिन की कमी होती है। (10) & (11)

बालों को झड़ने से रोकने के लिए कुछ शैंपू कंपनी शैंपू में बायोटिन मिलती हैं और दवा करती हैं कि बायोटिन शैंपू के इस्तेमाल से आप बालों के झड़ने को रोक सकते हैं और बालों की अच्छी वृद्धि कर सकते हैं।

हालांकि, अभीतक इसका कोई सबूत नहीं मिले हैं है कि बायोटिन बालों के लिए फायदेमंद है।

वैज्ञानिकों का मानना है कि बालों का झड़ना केवल बायोटिन की कमी नहीं है इसके अलावा भी बहुत से कारण हैं जो बालों के झड़ने में मदद करते हैं। जिसमें शामिल हैं –

  • तेजी से वजन घटाना,
  • अन्य पोषक तत्वों की कमी जैसे लोहा, जस्ता, या प्रोटीन,
  • कुछ हार्मोनल रोग जैसे थायराइड विकार,
  • विटामिन्स की कमी।

इसके अलावा आनुवंशिक कारक (Genetic factors), कुछ दवाएं, साथ ही अवसाद और तनाव जैसी स्थितियां भी बालों के झड़ने का कारण हो सकते हैं। इसलिए बायोटिन सुप्प्लिमेंट लेने से पहले अपने डॉक्टर के बात करें।

और पढ़ें –  इन एंटीऑक्सीडेंट आहार से करें अपना वजन कम।

बायोटिन की कमी के कारण (Causes of biotin deficiency in Hindi)

बायोटिन की कमी के कारण

बायोटिन की कमी (Vitamin H deficiency in Hindi) के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं –

1. दवाएं – Medications

कुछ दवाएं बायोटिन की कमी (Biotin deficiency in Hindi) का कारण बन सकती हैं। ये दवाएं बायोटिन को आंत द्वारा सही तरीके से अवशोषित करने से रोकती हैं।

इन दवाओं में एंटीबायोटिक्स और एंटी- सीजर दवाएं शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, कुछ एंटीबायोटिक्स आपके आंत में अच्छे बैक्टीरिया को नष्ट कर देती हैं जो स्वाभाविक रूप से बायोटिन का उत्पादन कर सकते हैं।

इसलिए, अगर आप लंबे समय से इन दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो आपके शरीर में बायोटिन की कमी हो सकती है।

और पढ़ें – आयरन की कमी को दूर करते हैं ऐसे आहार।

2. भोजन को इंट्रावेनस के माध्यम से लेना – Intravenous (IV) feeding

कुछ प्रकार की सर्जरी में भोजन ट्यूब के माध्यम से दिया जाता है, ऐसी स्थति बायोटिन (विटामिन बी 7) की कमी का कारण बन सकती है।

3. आंतों में समस्या – Intestinal problems

कुछ आंतों के रोग भोजन से पोषक तत्वों (जैसे बायोटिन) के अवशोषण को अवरुद्ध कर सकते हैं। इन रोगों में क्रोहन और कोलाइटिस रोग शामिल हैं।

और पढ़ें – सर्वाइकल दर्द में करें इन खाद्य पदार्थों का परहेज।

4. लंबे समय तक डाइटिंग में रहना – Long-term dieting

लम्बे समय तक डाइटिंग में रहने से आपके शरीर में विटामिन (बायोटिन या विटामिन एच) और खनिज की कमी हो सकती है।

5. आनुवंशिक उत्परिवर्तन – Genetic causes

जेनेटिक म्युटेशन भी बायोटिन की कमी का कारण हो सकता है। जेनेटिक म्युटेशन  डीएनए (GENE) में होने वाला परिवर्तन है जो कभी-कभी बायोटिन की कमी का कारण बन सकता है।

6. धूम्रपान – Smoking

हाल के अध्ययनों से पता चलता है कि धूम्रपान से बायोटिन की कमी हो सकती है क्योंकि यह बायोटिन अपचय (विशेषकर महिलाओं में) को गति देता है।

7. अत्यधिक शराब का सेवन – Excessive alcohol consumption

शराब का अधिक सेवन भी बायोटिन (विटामिन एच) की कमी का कारण बन सकता है। क्योंकि शराब शरीर में  मौजूद बायोटिन के अवशोषण को अवरुद्ध करती है।

बायोटिन की कमी के लक्षण (Symptoms of biotin deficiency in Hindi)

बायोटिन की कमी के लक्षण और संकेत कम लोगों में देखे जाते हैं। फिर भी यदि किसी व्यक्ति में बायोटिन की कमी होती है तो उसमें निम्नलिखित लक्षण (Biotin deficiency symptoms in Hindi) दिखाई दे सकते हैं –

  • बालों का पतला होना,
  • बालों का टूटना,
  • बालों का झड़ना,
  • त्वचा पर लाल, पपड़ीदार चकत्ते पड़ना
  • नाख़ून का टूटना
  • थकान
  • अनिद्रा या सोने में कठिनाई
  • भूख में कमी
  • जी मिचलाना
  • डिप्रेशन
  • हाथों और पैरों में जलन या चुभन महसूस होना
  • मांसपेशियों में दर्द, आदि।

और पढ़ें – Kidney Stone के लक्षण, कारण और इलाज | किडनी स्टोन डाइट चार्ट | किडनी स्टोन में परहेज

हमें प्रतिदिन कितना बायोटिन चाहिए? (How much biotin do we need per day in Hindi

Biotin Dose in Hindi
Image source freepikcom

बायोटिन की खुराक – Biotin Dose in Hindi

हमें प्रतिदिन कितना बायोटिन चाहिए, यह मरीज की आयु, लिंग और उसकी सेहत पर निर्भर करता है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान (National Institutes of Health) के अनुसार, 19 साल या उससे ऊपर के स्वस्थ व्यक्ति 20 से 30 Mcg बायोटिन का सेवन हर रोज कर सकते हैं। (12)

ध्यान रहे कि बायोटिन कि अधिक खुराक स्वस्थ के लिए हानिकारक भी हो सकती है।

बायोटिन एक वॉटर सॉल्यूबल है यानी कि पानी में घुलनशील विटामिन है। अगर हम बायोटिन तय मात्रा से ज्यादा ले लेते हैं तो यह शरीर से अपने आप मूत्र के जरिए बाहर निकल जाती है।

लेकिन फिर भी यह प्रयास करें कि, बिना डॉक्टरी सलाह के बायोटिन सप्लीमेंट न खाएं और ओवर डोज तो बिल्कुल भी न लें।

Table 1: Adequate Intakes (AIs) for Biotin
उम्र पुरुष  महिला  प्रेगनेंसी  स्तनपान कराने वाली मां
Birth to 6 months 5 mcg 5 mcg
7–12 months 6 mcg 6 mcg
1–3 years 8 mcg 8 mcg
4–8 years 12 mcg 12 mcg
9–13 years 20 mcg 20 mcg
14–18 years 25 mcg 25 mcg
19+ years 30 mcg 30 mcg 30 mcg 35 mcg
Source: webmd.com

बायोटिन के प्राकृतिक स्रोत (Natural sources of biotin in Hindi)

कई आम खाद्य पदार्थों में बड़ी मात्रा में बायोटिन (विटामिन एच) मौजूद होता है। इन खाद्य पदार्थों में शामिल है:

  • हरी मटर, फलियां, और दाल
  • सूरजमुखी के बीज और कद्दू के बीज
  • शकरकंदी, पालक, गाजर, ब्रॉकली, फूलगोभी, और मशरूम
  • एवोकाडो, स्ट्रॉबेरी, रास्पबेरी, और क्रैनबेरी।
  • पके हुए अंडे, विशेष रूप से अंडे की जर्दी
  • मांस के जिगर और गुर्दे
  • दूध, पनीर और दही सहित डेयरी उत्पाद
  • समुद्री भोजन
  • साबुत अनाज, जौ और मक्का।

चाय, कॉफी, बीयर और वाइन में भी बायोटिन होता है। हालांकि, इन पेय पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इनमें कैफीन होता है और यह शरीर पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं।

और पढ़ें – हृदय रोगियों के लिए डाइट प्लान।

बायोटिन परीक्षण (Biotin Test in Hindi)

बायोटिन की कमी के लक्षण विटामिन बी-7 के निम्न स्तर के कारण होते हैं। इसलिए डॉक्टर बायोटिन की कमी के लिए विटामिन बी -7 का टेस्ट करवाते हैं। हालांकि, कभी-कभी विटामिन बी-7 का निम्न स्तर किसी अन्य विकार या स्थिति का परिणाम भी हो सकता है।

यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि कोई अंतर्निहित समस्या आपके लक्षणों का कारण हो सकती है, तो वे विटामिन बी -7 के निम्न स्तर के कारण का पता लगाने के लिए अन्य परीक्षण का सुझाव दे सकते हैं।

क्या है बायोटिन कैप्सूल के नुकसान (Side effects of biotin capsules in Hindi)

बायोटिन सप्लीमेंट (बायोटिन कैप्सूल) की अधिक खुराक (overdose) कई प्रकार की समस्याएं (Biotin side effects) पैदा कर सकती हैं। बायोटिन साइड इफेक्ट्स (बायोटिन के नुकसान) से होने वाले नुकसान निन्मलिखित हैं-

  • बायोटिन  की अधिक मात्रा त्वचा पर चकत्ते का कारण बन सकता है,
  • पाचन को ख़राब कर सकता है अधिक बायोटिन,
  • अन्य दवाइयों के प्रभावों को कम कर सकता है बायोटिन
  • इंसुलिन रिलीज को प्रभावित कर सकता है बायोटिन और
  • गुर्दे की समस्याएं शामिल हो सकती हैं।

“न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, बायोटिन की अधिक मात्रा थायराइड हार्मोन और विटामिन D टेस्ट के रिजल्ट में बदलाव ला सकती है।” (13)

बायोटिन की अधिक मात्रा अनिद्रा, अत्यधिक प्यास और पेशाब का कारण बन सकता है। (14) इसलिए, बायोटिन सप्लीमेंट लेने से पहले अपने डॉक्टर को बताना सुनिश्चित करें।

निष्कर्ष (Conclusion)

बायोटिन शरीर के सामान्य कार्य के लिए एक आवश्यक विटामिन है। जो हेयर फॉल को रोकने, त्वचा को चमकाने, कमजोर नाखून को मजबूत बनाने, ब्लड शुगर नयंत्रित करने और साथ ही गर्भावस्था और स्तनपान वाली महिलाओं के लिए फायदेमंद हो सकता है।

हालांकि, बालों को झड़ने से रोकने, त्वचा या नाखूनों को स्वस्थ बनाए रखने सहित कुछ दावों का समर्थन करने के लिए वैज्ञानिकों के पास अभी तक पर्याप्त डेटा नहीं है। इसलिए अभी और भी ज्यादा रिसर्च की आवश्यकता है।

आयरन और जिंक जैसे अन्य पोषक तत्वों की कमी सहित कई अन्य कारक भी बालों के झड़ने और पतले होने का कारण बन सकते हैं। इसलिए, यह कहना गलत है कि बालों के झड़ने का एकमात्र कारण बायोटिन की कमी है।

यदि आप किसी कारण से अपने बालों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं या किसी अन्य वजह से बायोटिन का सेवन शरू करना चाहते हैं तो पहले अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें।

ध्यान रहे बायोटिन सप्लीमेंट (बायोटिन कैप्सूल) की बहुत अधिक खुराक (overdose) कई प्रकार की समस्याएं (Biotin side effects) पैदा कर सकती है।

ये हैं बायोटिन के फायदे और नुकसान के बारे में बताई गई पूरी जानकारी। कमेंट में बताएं आपको Biotin Benefits in Hindi पोस्ट कैसी लगी। अगर आपको पोस्ट पसंद आई हो, तो इसे शेयर जरूर करें। वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें। 

सन्दर्भ (References)

1. Bistas KG, Tadi P. Biotin. [Updated 2021 Sep 29]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2022 Jan.

2. Tong L. Structure and function of biotin-dependent carboxylases. Cell Mol Life Sci. 2013;70(5):863-891.

3. Reddi A, DeAngelis B, Frank O, Lasker N, Baker H. Biotin supplementation improves glucose and insulin tolerances in genetically diabetic KK mice. Life Sci. 1988;42(13):1323-30. 

4. Trüeb RM. Comment on the Use of Biotin for Hair Loss. Skin Appendage Disord. 2018;4(4):345-346. 

5. Patel DP, Swink SM, Castelo-Soccio L. A Review of the Use of Biotin for Hair Loss. Skin Appendage Disord. 2017;3(3):166-169. 

6. National Institutes of Health Office of Dietary Supplements. Biotin fact sheet for health professionals. Updated March 29, 2021.

7. Perry CA, West AA, Gayle A, et al. Pregnancy and lactation alter biomarkers of biotin metabolism in women consuming a controlled diet. J Nutr. 2014;144(12):1977-1984. 

8. Mock DM. Biotin: From Nutrition to Therapeutics. J Nutr. 2017;147(8):1487-1492. 

9. Watanabe-Kamiyama M, Kamiyama S, Horiuchi K, Ohinata K, Shirakawa H, Furukawa Y, Komai M. Antihypertensive effect of biotin in stroke-prone spontaneously hypertensive rats. Br J Nutr. 2008 Apr;99(4):756-63. 

10. Patel DP, Swink SM, Castelo-Soccio L. A Review of the Use of Biotin for Hair Loss. Skin Appendage Disord. 2017 Aug;3(3):166-169.

11. Patel DP, Swink SM, Castelo-Soccio L. A Review of the Use of Biotin for Hair Loss. Skin Appendage Disord. 2017;3(3):166-169. 

12. National Institutes of Health – Office of Dietary Supplements. Biotin.

13. NCBI: Biotin (https://ods.od.nih.gov/factsheets/Biotin-HealthProfessional/#en12)

14. Bistas KG, Tadi P. Biotin. [Updated 2021 Sep 29]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2022 Jan.

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -spot_img

Latest Articles