Raw Onion Benefits and Side Effects in Hindi

Raw Onion Benefits and Side Effects | कच्चा प्याज खाने के फायदे और नुकसान

हम ज्यादातर कच्चे प्याज का इस्तेमाल सलाद के रूप में करते हैं। पर, क्या आप कच्चा प्याज खाने के फायदे (Raw Onion Benefits in Hindi) के बारे में जानते हैं। कच्चे प्याज को सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद (Onion Benefits in Hindi) माना जाता है। प्याज में काफी मात्रा में विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। इसके अलावा एंटी-एलर्जिक और एंटी-कार्सिनोजेनिक गुण भी होते हैं। जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। हालांकि, प्याज में डायलील डाइसल्फ़ाइड और लिपिड ट्रांसफर प्रोटीन नामक यौगिक होते हैं, जो शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्या (Raw onion side effects in Hindi) पैदा कर सकता है। इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको कच्चा प्याज खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बता रहे हैं।

और पढ़ें – हर्बल चाय (हर्बल टी) के 8 फायदे और नुकसान।

कच्चे प्याज में मौजूद पौष्टिक तत्व | Raw Onion nutritional value in Hindi

कच्चा प्याज पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जिसका अर्थ है प्याज विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट में उच्च होते हैं। इसके साथ-साथ इनमें कैलोरी की मात्रा भी बहुत कम होती है।

कच्चे प्याज में पाए जाने वाले स्वास्थ्यवर्धक पोषक तत्व व उनकी मात्रा निम्नलिखित है:

100 ग्राम कच्चे प्याज में पोषक तत्व

पोषक तत्व

मात्रा

बायोटीन 27 gm
कोलेस्ट्रॉल 0 mg
कुल वसा 0.10 g
प्रोटीन 1.10 g
कार्बोहाइड्रेट 9.34 g
मेंगेनीस (Mn) 16 gm
तांबा (Cu) 16 gm
विटामिन बी 6 16 gm
विटामिन सी 15 gm
फाइबर 12 gm
फास्फोरस (P) 11 gm
पॉटेशियम (K) 10 gm
विटामिन बी 1 08 gm
फोलेट 08 gm

चलिए अब कच्चा प्याज खाने के फायदे और नुकसान (Raw Onion Benefits and Side Effects in Hindi) के बारे में समझते हैं।

कच्चा प्याज खाने के फायदे | Raw Onion Benefits in Hindi | Pyaj Khane Ke Fayde

कच्चा प्याज खाने के फायदे

शोध बताते हैं कि प्याज में क्वेरसेटिन नामक एक विशेष प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट तत्व होता है जो कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है।

इसके अलावा प्याज में जीवाणुरोधी गुण भी मौजूद होते हैं जो हमें विभिन प्रकार की बिमारियों से बचा सकता हैं।

प्याज के 15 प्रभावशाली स्वास्थ्य लाभ (pyaj khane ke fayde) इस प्रकार हैं – 

  • डायबिटीज के इलाज में,
  • कैंसर के इलाज में,
  • खराब” कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में,
  • सीरम टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में,
  • हड्डी की घनत्व को बढ़ाने में,
  • रजोनिवृत्ति के लक्षण कम करने में,
  • त्वचा को चमकदार बनाने में,
  • बालों को मजबूत करने और रूसी हटाने में,
  • प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में,
  • पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में,
  • खांसी को दूर करने में,
  • उच्च रक्तचाप कम करने में,
  • सूजन से राहत दिलाने में,
  • लू से बचाने में।
  • बवासीर में,
  • गैस, बदहजमी।

और पढ़ें – एक अच्छे कुकिंग ऑयल का चुनाव कैसे करें?

अब एक-एक करके कच्चा प्याज खाने के फायदे के बारे में विस्तार से पढ़ते हैं।

कच्चा प्याज खाने के फायदे,Raw Onion Benefits in Hindi
Image source: freepik.com

कच्चा प्याज खाने के फायदे डायबिटीज के इलाज में – Benefits of Raw Onion for diabetes in Hindi

कच्चा प्याज डायबिटीज (मधुमेह) में फायदेमंद माना जाता है।

प्याज में पाए जाने वाले विशिष्ट यौगिक, जिसे क्वेरसेटिन और सल्फर कहा जाता है, मधुमेह विरोधी गुण होते हैं।

एक अध्ययन से पता चला है कि जिन लोगों को टाइप 2 मधुमेह होता है यदि वे प्रतिदिन 100 ग्राम ताजा लाल प्याज खाएं तो उनके रक्त शर्करा के स्तर में लगभग 40 मिलीग्राम / डीएल तक की कमी हो सकती है। (1)

इसके अतिरिक्त, कई पशु अध्ययनों से यह भी पता चला है कि प्याज का सेवन रक्त शर्करा नियंत्रण में लाभ प्रदान कर सकता है। (2)

और पढ़ें – आहार जिनमें होते हैं खूब कार्बोहाइड्रेट (अच्छे और खराब कार्ब्स)

प्याज खाने के फायदे कैंसर के इलाज में – Raw Onion Benefits for cancer in Hindi

कच्चे प्याज में मौजूद सल्फर और फ्लेवोनॉयड यौगिकों में कैंसर से लड़ने वाले गुण होते हैं।

मॉलिक्यूलर न्यूट्रिशन एंड फूड रिसर्च जर्नल में प्रकाशित शोध में पाया गया कि प्याज का सेवन गैस्ट्रिक कैंसर (पेट का कैंसर) के खतरे को कम कर सकता है।

रिसर्च से यह भी पता चला है कि जो लोग अधिक मात्रा में एलियम सब्जियों (जैसे प्याज और लहसुन) का सेवन करते हैं, उनमें पेट के कैंसर होने की संभावना उन लोगों की तुलना में 22% तक कम होती है जो लोग प्याज का सेवन नहीं करते हैं या कम करते हैं। (3)

इसके अलावा प्रयोगशाला अध्ययनों से पता चलता है कि कच्चा प्याज ट्यूमर के विकास को कम कर सकता है और साथ ही डिम्बग्रंथि और फेफड़ों के कैंसर के प्रसार को धीमा कर सकता है। (4 & 5)

इस प्रकार प्याज खाने के फायदे में कैंसर की रोकथाम भी है।

और पढ़ें – डायबिटीज से लेकर कैंसर तक में साबुत अनाज के फायदे

”खराब” कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में कच्चे प्याज के फायदे – Onion Benefits for Cholesterol and Triglycerides in Hindi

एक अध्ययन के अनुसार, प्याज में पाए जाने वाला फ्लेवोनोइड्स, कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) या “खराब” कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है। (6)

इसके अलावा कच्चे प्याज में पाए जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट (Anti-oxidant) और एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) गुण ट्राइग्लिसराइड्स (Triglycerides) को कम करने में हमारी मदद कर सकता है।

और पढ़ें – हृदय रोगियों के लिए डाइट प्लान।

प्याज का रस पीने के फायदे सीरम टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में – Use of onion juice to increase serum testosterone level in Hindi

कच्चा प्याज एंटीऑक्सिडेंट और फ्लेवोनोइड का एक उत्कृष्ट स्रोत है जो टेस्टोस्टेरोन के निम्न स्तर को बढ़ा सकता (pyaj khane ke fayde) है।

टेस्टोस्टेरोन का उच्च स्तर शुक्राणुओं की मात्रा और गिनती के उत्पादन को बढ़ाने में मदद कर सकता है। (7)

इसके अलावा टेस्टोस्टेरोन यौन विकास को नियंत्रित करता है।

चूहे में किये गए एक अध्ययन (वर्ष 2012) में शोधकर्ताओं ने पाया कि यदि 4 सप्ताह तक ताजा प्याज के रस का रोजाना सेवन किया जाए तो यह टेस्टोस्टेरोन के स्तर (सीरम टेस्टोस्टेरोन का स्तर) में काफी वृद्धि कर सकता है। (8)

और पढ़ें – लो कैलोरी डाइट के फायदे, नुकसान और आहार योजना।

लाल प्याज खाने के फायदे है हड्डी की घनत्व को बढ़ाने में- Raw Onion Benefits to increase bone density in Hindi

अध्ययन से पता चलता है कि कच्चा प्याज हड्डी के घनत्व को बढ़ाने में हमारी मदद कर सकता है।

एक स्टडी के अनुसार, जिन वृद्ध महिलाओं ने प्याज का सेवन नियमित रूप से किया, उनके कूल्हे के फ्रैक्चर का खतरा उन लोगों की तुलना में 20% से अधिक कम हो गया था, जिन्होंने प्याज का सेवन बिलकुल नहीं किया या कम किया। (8)

स्टडी में यह भी पाया गया है कि प्याज ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने, एंटीऑक्सीडेंट के स्तर को बढ़ावा देने और हड्डियों के नुकसान को कम करने में भी मदद कर सका है, जो ऑस्टियोपोरोसिस को रोक सकता है और हड्डियों के घनत्व को बढ़ा सकता है। (9)

और पढ़ें – जानिए मधुमेह रोगी डायबिटीज में क्या खाएं और क्या न खाएं।

रजोनिवृत्ति के लक्षण कम करने में कच्चे प्याज का उपयोग – Use of onions to reduce the symptoms of menopause in Hindi

जर्नल ऑफ ब्रेस्ट कैंसर में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, कच्चे प्याज का सेवन कैल्शियम की उपस्थिति के कारण रजोनिवृत्ति के बाद के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है। (10)

(रजोनिवृत्ति – मासिक धर्म के स्थायी रूप से बंद हो जाने को रजोनिवृत्ति (Menopause) कहा जाता है। जो  45-50 साल के बाद होता है।)

रजोनिवृत्ति  के लक्षण में वजन बढ़ना, सिर दर्द, दिल का तेज धड़कना, बालों का झड़ना, साथ ही मांसपेशियों और जोड़ों का दर्द शामिल हैं।

और पढ़ें –  इन एंटीऑक्सीडेंट आहार से करें अपना वजन कम।

त्वचा को चमकदार बनाने में कच्चा प्याज खाने के फायदे – Health Benefits of onion for glowing skin in Hindi

प्याज में विटामिन ए, सी और K जैसे महत्वपूर्ण विटामिन होते हैं। स्वस्थ त्वचा के लिए इन सभी विटामिन्स की आवश्यकता होती है।

ये विटामिन न केवल आपको रंजकता (pigmentation) से छुटकारा पाने में मदद करते हैं बल्कि हानिकारक यूवी किरणों (UV rays) से भी आपकी रक्षा करते हैं।

इसके अलावा प्याज का रस मुँहासे मुक्त त्वचा के लिए (pyaj khane ke fayde) आप अपने फेस में भी लगा सकते हैं।

फिलहाल, स्किन पर प्याज के बेहतर प्रभाव जानने के लिए अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

और पढ़ें – आयरन की कमी को दूर करते हैं ऐसे आहार।

कच्चे प्याज के रस का फायदा बालों को मजबूत करने और रूसी हटाने में – Onion Juice benefits for Hair Dandruff in Hindi

कच्चे प्याज का रस रूसी और बालों के झड़ने की समस्याओं के इलाज में किया जा सकता है।

अध्ययनों से पता चलता है कि कच्चे प्याज का रस कवक (Malassezia furfur) को खत्म करने में मदद कर सकता है जो रूसी का कारण बनता है। (11)

इसके अलावा कच्चे प्याज का रस सिर में रक्त के संचार को भी उत्तेजित करता है और बालों को टूटने से बचाता है।

और पढ़ें – बायोटिन के फायदे, खुराक, स्रोत और नुकसान

प्याज के लाभ करें प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में – Green onion benefits for immune system in Hindi

प्याज में मौजूद विटामिन C  प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। इसके अलावा कच्चे प्याज में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल, एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-पैरासिटिक गुण हमें विभिन्न रोगों के संक्रमण से भी बचा सकता है। (12)

कच्चा प्याज आयरन का बहुत अच्छा स्रोत होता है, जो हमें रक्त कोशिकाओं और हीमोग्लोबिन को बनाए रखने में मदद करता है।

इसलिए नियमित रूप से  कच्चा प्याज खाने से यह हमारी इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

और पढ़ें – इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय।

रोजाना प्याज खाने के फायदे हैं पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में – Health Benefits of onion to promote digestion in Hindi

प्याज में एक विशेष प्रकार का घुलनशील फाइबर और प्रीबायोटिक्स होता है, जो आपकी आंतों में अच्छे बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देता है। (13)

इसके अलावा प्याज में कई प्रकार के पोषक तत्व, विटामिन और खनिज मौजूद होते हैं, साथ ही प्याज में पाए जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेट्री, एंटी-बैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट जैसे गुण पाचन तंत्र को तदरूस्त रखने में हमारी मदद करता है।

और पढ़ें – पोटेशियम की कमी दूर करते हैं ये आहार

कच्चे प्याज का उपयोग खांसी को दूर करने में – Raw Onion Benefits to relieve cough in Hindi

प्याज में एंटी-इंफ्लेमेटरी यौगिक होते हैं जो अस्थमा के लक्षणों को शांत करने में मदद करते हैं।

इसके अलावा प्याज में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण खांसी की समस्या को भी कम कर सकता है।

और पढ़ें – सर्वाइकल दर्द में करें इन खाद्य पदार्थों का परहेज।

प्याज के औषधीय गुण करें उच्च रक्तचाप कम – Medicinal properties of onion to reduce high blood pressure in Hindi

प्याज में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट गुण, उच्च रक्तचाप को कम करने में हमारी मदद कर सकता है। (14) इसके अलावा प्याज का एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण भी उच्च रक्तचाप को कम करने में हमारी मदद कर सकता है।

और पढ़ें – हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण, कारण और घरेलू उपचार

अनियन खाने के फायदे सूजन से राहत दिलाने में – Benefits of eating onions in relieving bloating in Hindi

अगर आप आर्थराइटिस (गठिया) रोग से पीड़ित हैं तो कच्चा प्याज आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

प्याज में एंटी-ऑक्सिडेंट (Anti-oxidant) और एंटी -इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) गुण होने के कारण कच्चा प्याज शरीर की सूजन को नियंत्रित करने में  मदद कर सकता है।

इसके अलावा प्याज में मौजूद ये गुण (onion health benefits in hindi) शरीर के दर्द, जोड़ों के दर्द, माइग्रेन में होने वाले सिर दर्द, सूजन, थकान, अपच और उल्टी से भी राहत दिलाने में मदद करता है।

औऔर पढ़ें – हार्ट फेल का कारण बन सकता है कार्डियक अस्थमा

लू से बचाने में कच्चे प्याज के रस का फायदा – Medicinal properties of onion juice to protect from heat in Hindi

गर्मी के सीजन में कैसे करें प्याज का इस्तेमाल? इस तरह के सवाल तमाम लोगों के दिमाग में होते हैं।

कच्चे प्याज की तासीर ठंडी होती है इसलिए गर्मियों में प्याज के रस का सेवन करने से यह शरीर को ठंडक दिलाने में मदद कर सकता है और साथ ही लू से बचाता है।

इसलिए गर्मी के मौसम में आप कच्चे प्याज को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

और पढ़ें – साइनोसाइटिस के लक्षण, कारण और इलाज (आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक)

बवासीर में प्याज खाने के फायदे – Benefits of eating onion in piles in Hindi

शोध के मुताबिक प्याज का सेवन बवासीर (hemorrhoids) की समस्या में बहुत फायदेमंद (pyaj khane ke fayde) हो सकता है। (15)

बवासीर के मरीजों (Piles patients) रोजाना दो बार 40 ग्राम प्याज को पानी में अच्छी तरह पीसकर चीनी के साथ सेवन कर सकते हैं।

इसके अलावा आप बवासीर की समस्या में प्याज का सेवन दही के साथ भी कर सकते हैं।

और पढ़ें – Steroids दवा क्या है?, जानिए स्टेरॉयड के फायदे और नुकसान

खाली पेट कच्चा प्याज खाने के फायदे – Benefits of eating raw onion on an empty stomach in Hindi

प्याज के सेवन से शरीर को विभिन्न प्रकार के इंफेक्शन से बचाया जा सकता है।

खली पेट कच्चा प्याज के सेवन से गैस, बदहजमी आदि की समस्या को कम करने में मदद मिल सकती है।

और पढ़ें – Acid reflux (हाइपर एसिडिटी) और खट्टी डकार से छुटकारा पाने का घरेलू इलाज

प्याज काटने से आंसू क्यों आते हैं? | Why does chopping onions cause tears in Hindi

प्याज काटने या काटने की प्रक्रिया के दौरान लोगों के आंसू आते हैं। यह प्रतिक्रिया प्याज में मौजूद syn-Propanethial-S-oxide नामक गैस की उपस्थिति के कारण होती है। (16)

यह रसायन एक मिश्रित तरल है जो एक लैक्रिमेटरी एजेंट के रूप में कार्य करता है, जो आँसू का कारण बनता है या आँख को चुभता है या जलन पैदा करता है।

प्याज को काटने के दौरान आँसू कम करने के लिए, विशेषज्ञ 30 मिनट के लिए प्याज को ठंडा करने की सलाह देते हैं। ठंडा करने  से आंसू  पैदा करने वाली गैस का प्रभाव कम हो जाता है।

प्याज खाने का सही समय क्या है? | What is the right time to eat onions in Hindi

प्याज का सेवन रोजाना सुबह खाली पेट किया जाना चाहिए।

हालांकि, रात में सोते समय प्याज के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि, रात में प्याज खाने से आपको पेट में जलन और खट्टी डकार आ सकती है।

कच्चे प्याज की तासीर क्या होती है? | Is onion cooling or heaty in hindi

कच्चे प्याज की तासीर ठंडी होती है। इसलिए गर्मियों में प्याज का सेवन करने से शरीर को ठंडक मिलती है।

प्याज में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं जो गर्मी से बचाने और शरीर को ठंडक पहुंचाने में मदद कर सकते हैं।

गर्मियों में प्याज खाने से शरीर का तापमान नॉर्मल बना रहता है और बीमारियां भी कम होती हैं।

कच्चा प्याज कब खाना चाहिए? | When should you eat raw onion in Hindi

भारत में कच्चे प्याज का सेवन अक्सर सलाद के रूप में नींबू के साथ या भोजन के साथ किया जाता है।

जानकर गर्मी के मौसम में कच्चा प्याज ज्यादा खाने की सलाह देते हैं क्योंकि यह आपको ठंडा रखता है और शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है।

यदि आप आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना चाहते हैं और पाचन संबंधित बीमारियों से निजात पाना चाहते हैं तो प्याज का सेवन रोजाना सुबह खाली पेट किया जाना चाहिए।

ऐसा इसलिए है, क्योंकि प्याज तेल में पकने के बाद इसमें में मौजूद पोषक तत्व कम हो जाते हैं। इसलिए कच्चा प्याज खाना ज्यादा फायदेमंद माना जाता है।

1 दिन में कितना प्याज खाना चाहिए? | How much onion should be eaten in 1 day in Hindi

कच्चा प्‍याज खाने का सिर्फ स्‍वाद ही नहीं बढ़ाता है, बल्कि सलाद में प्‍याज खाने से आपको कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी मिलते हैं।

यदि आप वास्तव में प्याज के लाभ उठाना चाहते हैं तो हर दिन एक कच्चा प्याज (प्रति दिन 200 ग्राम) खाएं। (17)

कच्चा प्याज खाने के नुकसान | Side effects of onion in Hindi

प्याज का सेवन करना काफी सुरक्षित माना जाता है और इसके कोई दुस्प्रभाव भी नहीं दीखते हैं। हालांकि, इसका अधिक सेवन स्वास्थ के लिए कभी-कभी हानिकारक भी हो सकता है।

कच्चा प्याज खाने के नुकसान निम्नलिखित हो सकते हैं- (18, 16, 19, 20 & 21)

  • कच्चा प्याज खाने के बाद आपके मुंह से तेज बदबू आ सकती है। ऐसा प्याज में मौजूद सल्फर के कारण होता है।
  • प्याज में syn-Propanethial-S-oxide गैस आँखों की जलन का कारण बन सकता है।
  • कच्चा प्याज खून में शुगर की मात्रा को काफी कम कर सकता है। इसलिए, इसका सेवन करने से पहले डॉक्टरी सलाह जरूरी है।
  • त्वचा पर कच्चे प्याज का रस लगाने से कुछ लोगों को खुजली व त्वचा पर रैशेज हो सकते हैं।
  • प्याज का अधिक सेवन करने से पेट में गैस और जलन जैसी समस्या हो सकती है।
  • गर्भवती महिलाओं को कच्चे प्याज का सेवन कम करना चाहिए, क्योंकि अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से सीने में जलन और गैस हो सकती है।
  • प्याज के सेवन से सिस्टोलिक व डायस्टोलिक रक्तचाप का स्तर कम हो सकता है। इसलिए, रक्तचाप की दवा लेने वालों को प्याज खाना चाहिए या नहीं, इस बारे में डॉक्टर से पूछ लेना चाहिए।
  • प्याज अधिक खाने से पैद दर्द जैसी परेशानी होने लगती है। इसलिए पेट दर्द की समस्या से जूझ रहे लोगों को प्याज का सेवन कम करना चाहिए।
  • प्याज रक्त के थक्के को धीमा कर सकता है और दवा के रूप में लेने पर रक्तस्राव का खतरा बढ़ सकता है।
  • कुछ लोगों को प्याज के संपर्क में आने पर एलर्जी हो सकती है जिसमें खुजली, आंखों में पानी आना और त्वचा पर चकत्ते जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।
  • कच्चा प्याज अतिसंवेदनशील व्यक्तियों में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल परेशान पैदा कर सकता है जिसमें पेट की सूजन, मतली और उल्टी जैसे लक्षण शामिल हैं।

चूंकि प्याज रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है और रक्तस्राव के स्तर को बड़ा सकता है, इसलिए सर्जरी से पहले प्याज की खुराक लेने से बचना चाहिए।

यदि आप सर्जरी से पहले प्याज की खुराक या पूरक लेते हैं, तो आपको अपने सर्जन को सूचित करना चाहिए।

और पढ़ें –  फूड पाइजनिंग के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज

प्याज को स्टोर करने का तरीका | Storage of Onion in Hindi

  • साबुत प्याज को ठंडे, सूखे, अंधेरे और हवादार कमरे में रखना बेहतर होता है।
  • साबुत प्याज 25 से 30° C तक स्टोर किया जाना चाहिए।
  • साबुत प्याज को कभी फ्रिज में न रखें, क्योंकि ये नम होकर मुलायम हो सकते हैं।
  • अगर उपयोग करने के बाद कटा हुआ प्याज बच जाता है, तो आप इसे किसी बंद बर्तन में रख कर फ्रिज में रख सकते हैं।
  • कटा हुआ या छिला हुआ प्याज करीब दो दिन तक खराब नहीं होगा और फ्रिज में प्याज की महक भी नहीं आएगी।

और पढ़ें – Kidney Stone के लक्षण, कारण और इलाज

निष्कर्ष | Conclusion

प्याज से जुड़े स्वास्थ्य लाभ काफी प्रभावशाली हैं।

प्याज में क्वेरसेटिन नामक एक विशेष प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट तत्व होता है जो कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है।

ये  एंटीऑक्सीडेंट हृदय रोग और कैंसर के जोखिम को कम कर सकते हैं।

इसके अलावा प्याज में जीवाणुरोधी गुण होते हैं और पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं, जिससे रोग प्रतिरोधक शक्ति में सुधार हो सकता है (pyaj khane ke fayde)

हालांकि कुछ लोगों में प्याज का ज्यादा सेवन उनकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। जिसमें पाचन संबंधी समस्याएं (गैस और जलन) प्रमुख हैं।

इसलिए रात में प्याज के अधिक सेवन से बचना चाहिए।

और पढ़ें – सुपरफूड क्या हैं, जानिए इसके स्वास्थ्यवर्धक फायदे।


ये हैं कच्चा प्याज खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बताई गई पूरी जानकारी। कमेंट में बताएं आपको Raw Onion Benefits and Side Effects in Hindi पोस्ट कैसी लगी। अगर आपको पोस्ट पसंद आई हो, तो इसे शेयर जरूर करें।

वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें। 

सन्दर्भ (References)

1. Taj Eldin IM, Ahmed EM, Elwahab H M A. Preliminary Study of the Clinical Hypoglycemic Effects of Allium cepa (Red Onion) in Type 1 and Type 2 Diabetic Patients. Environ Health Insights. 2010;4:71-77.

2. Yoshinari O, Shiojima Y, Igarashi K. Anti-obesity effects of onion extract in Zucker diabetic fatty rats. Nutrients. 2012;4(10):1518-1526.

3. Turati F, Pelucchi C, Guercio V, La Vecchia C, Galeone C. Allium vegetable intake and gastric cancer: a case-control study and meta-analysis. Mol Nutr Food Res. 2015 Jan;59(1):171-9.

4. Fujiwara Y, Horlad H, Shiraishi D, Tsuboki J, Kudo R, Ikeda T, Nohara T, Takeya M, Komohara Y. Onionin A, a sulfur-containing compound isolated from onions, impairs tumor development and lung metastasis by inhibiting the protumoral and immunosuppressive functions of myeloid cells. Mol Nutr Food Res. 2016 Nov;60(11):2467-2480.

5. Tsuboki, Junko et al. “Onionin A inhibits ovarian cancer progression by suppressing cancer cell proliferation and the protumour function of macrophages.” Scientific reports vol. 6 29588. 12 Jul. 2016,

6. Boesch-Saadatmandi, Christine Pospissil, Renata Graeser, Anne-Christin Canali, Raffaella Boomgaarden, Inka Doering, Frank Wolffram, Siegfried Egert, Sarah Mueller, Manfred and Rimbach, Gerald 2009. Effect of Quercetin on Paraoxonase 2 Levels in RAW264.7 Macrophages and in Human Monocytes—Role of Quercetin Metabolism. International Journal of Molecular Sciences, Vol. 10, Issue. 9, p. 4168.

7. Banihani SA. Testosterone in Males as Enhanced by Onion (Allium Cepa L.). Biomolecules. 2019;9(2):75.

8. Khaki A, Farnam A, Badie AD, Nikniaz H. Treatment Effects of Onion (Allium cepa) and Ginger (Zingiber officinale) on Sexual Behavior of Rat after Inducing an Antiepileptic Drug (lamotrigine). Balkan Med J. 2012;29(3):236-242.

9. Chakraborty AJ, Uddin TM, Matin Zidan BMR, et al. Allium cepa: A Treasure of Bioactive Phytochemicals with Prospective Health Benefits. Evid Based Complement Alternat Med. 2022;2022:4586318. Published 2022 Jan 18.

10. Matheson EM, Mainous AG 3rd, Carnemolla MA. The association between onion consumption and bone density in perimenopausal and postmenopausal non-Hispanic white women 50 years and older. Menopause. 2009 Jul-Aug;16(4):756-9.

11. Sharquie KE, Al-Obaidi HK. Onion juice (Allium cepa L.), a new topical treatment for alopecia areata. J Dermatol. 2002 Jun;29(6):343-6.

12. Marefati N, Ghorani V, Shakeri F, et al. A review of anti-inflammatory, antioxidant, and immunomodulatory effects of Allium cepa and its main constituents. Pharm Biol. 2021;59(1):287-302.

13. Canani RB, Costanzo MD, Leone L, Pedata M, Meli R, Calignano A. Potential beneficial effects of butyrate in intestinal and extraintestinal diseases. World J Gastroenterol. 2011;17(12):1519-1528.

14. Galavi A, Hosseinzadeh H, Razavi BM. The effects of Allium cepa L. (onion) and its active constituents on metabolic syndrome: A review. Iran J Basic Med Sci. 2021;24(1):3-16.

15. Hashempur MH, Khademi F, Rahmanifard M, Zarshenas MM. An Evidence-Based Study on Medicinal Plants for Hemorrhoids in Medieval Persia. J Evid Based Complementary Altern Med. 2017;22(4):969-981.

16. Kato M, Masamura N, Shono J, Okamoto D, Abe T, Imai S. Production and characterization of tearless and non-pungent onion. Sci Rep. 2016;6:23779. Published 2016 Apr 6.

17. Murad S, Niaz K, Ali A, et al. Ginger and onion: new and novel considerations. Pharm Pharmacol Int J. 2018;6(1):49-52.

18. Almogren A, Shakoor Z, Adam MH. Garlic and onion sensitization among Saudi patients screened for food allergy: a hospital based study. Afr Health Sci. 2013;13(3):689-693.

19. Terry P, Lagergren J, Wolk A, Nyrén O. Reflux-inducing dietary factors and risk of adenocarcinoma of the esophagus and gastric cardia. Nutr Cancer. 2000;38(2):186-91.

20. Aylıkcı BU, Colak H. Halitosis: From diagnosis to management. J Nat Sci Biol Med. 2013;4(1):14-23.

21. Tsai HH, Lin HW, Lu YH, Chen YL, Mahady GB. A review of potential harmful interactions between anticoagulant/antiplatelet agents and Chinese herbal medicines. PLoS One. 2013;8(5):e64255.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.