Monkeypox Virus symptoms in Hindi

Monkeypox Virus Symptoms | मंकीपॉक्स वायरस के लक्षण, कारण और इलाज

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको मंकीपॉक्स क्या है (Monkeypox virus in hindi), मंकीपॉक्स के लक्षण (Monkeypox Virus Symptoms), कारण और निदान के बारे में बता रहे हैं, साथ ही इस पोस्ट में मंकीपॉक्स बीमारी कैसे फैलती है और मंकीपॉक्स रोग का इलाज कैसे किया जा सकता है, वह भी बता रहे हैं।

तो आइये अब इस लेख को शुरू करते हैं।

Contents hide

मंकीपॉक्स क्या है? | Monkeypox meaning in Hindi

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक मंकीपॉक्स एक दुर्लभ बीमारी है जो आमतौर पर फ्लू जैसी लक्षणों (बुखार और ठंड) के साथ शुरू होती है, जिसमें कुछ ही दिनों में पूरा शरीर पानी से भरे दानों से भर जाता है। (1)

मंकीपॉक्स वायरस, चेचक (smallpox) वायरस के ही परिवार का एक सदस्य है, हालांकि यह रोग चेचक जितना गंभीर नहीं है।

मंकीपॉक्स बीमारी (Monkeypox disease) ज्यादातर अफ्रीका के क्षेत्रों में देखी जाती है हालांकि, अब दुनिया के अन्य क्षेत्रों में भी मंकीपॉक्स रोग देखा जा रहा है।

विशेषज्ञों का मानना है कि मंकीपॉक्स रोग के संक्रमण की दर काफी कम है जिससे ज्यादा गंभीर नतीजे सामने नहीं आते हैं। 

और पढ़ें –  कच्चा प्याज खाने के फायदे और नुकसान

मंकीपॉक्स का क्या कारण है? | What is the cause of monkeypox in Hindi

मंकीपॉक्स रोग, मंकीपॉक्स वायरस (Monkeypox virus) से संक्रमित होने के कारण होता है। (2)

मंकीपॉक्स बीमारी किसी संक्रमित जानवर के काटने से या उसके खून, शरीर के तरल पदार्थ या जानवर के फर को छूने से हो सकता है।

ऐसा माना जाता है कि यह बीमारी चूहों, खरगोशों, गिलहरियों और बंदरों जैसे जानवरों  के काटने से भी फैल सकती है।

अगर आप ऐसे किसी जानवर का अधपका मांस खाते हैं जो मंकीपॉक्स से संक्रमित हो तो भी आप इस बीमारी के संक्रमण हो सकते हैं।

इंसानों में यह वायरस तेजी से फैलता है। एक तरह से कहा जा सकता है कि यह  छुआछूत की बीमारी की तरह है। 

और पढ़ें –  शुगर में कौन से फल खाएं और कौन से नहीं।

मनुष्‍य में मंकीपॉक्स का पहला मामला कब दिखा? | When was the first case of monkeypox seen in humans in Hindi

साल 1958 में पहली बार एक बंदर को अनुसंधान के लिए रखा गया था जहां पहली बार मंकीपॉक्स वायरस की पहचान की गई। (2)

वहीं इंसानों में पहली बार मंकीपॉक्स वायरस की पुष्टि साल 1970 में कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (अफ्रीका) में दर्ज किया गया।

मंकीपॉक्स के लक्षण क्या हैं? | Monkeypox Virus Symptoms in Hindi

मनुष्यों में मंकीपॉक्स के लक्षण चेचक के समान होते हैं, सिवाय इसके कि लिम्फ नोड्स (लिम्फैडेनोपैथी) का बढ़ना मंकीपॉक्स से जुड़ा है।

यदि आप मंकीपॉक्स से संक्रमित हो जाते हैं, तो इसके लक्षण (Monkeypox Virus Symptoms) 5 से 15 दिनों के बीच आ जाते हैं।

मंकीपॉक्स आमतौर पर एक फ्लू जैसी बीमारी है। इसके लक्षण कुछ इस प्रकार हैं।

मंकीपॉक्स के शुरुआती लक्षण | मंकीपॉक्स की पहचान | Early symptoms of monkeypox

शुरुआती लक्षणों में शामिल हैं: (3 & 4)

  • बुखार, जो आमतौर पर पहला लक्षण है।
  • सरदर्द
  • मांसपेशियों में दर्द
  • कमर दर्द
  • अत्यधिक थकान
  • ठंड लगना
  • लिम्फ नोड्स का सूजन, जिसे लिम्फैडेनोपैथी भी कहा जाता है।

बुखार विकसित होने के बाद, आमतौर पर 1 से 3 दिन बाद स्किन पर लाल रंग के रैशेज और शरीर में पानी से भरे दाने दिखाई देने लगते हैं। दाने कभी-कभी चिकनपॉक्स के साथ भ्रमित होते हैं,। दाने आमतौर पर-

  • चेहरे
  • हाथों की हथेलियाँ
  • पांवों का तला
  • मुँह
  • जननांग

आदि में दिखाई दे सकते हैं।

मंकीपॉक्स के लक्षण (Monkeypox Symptoms) आमतौर पर 2 से 4 सप्ताह तक रहते हैं और बिना इलाज के चले जाते हैं।

और पढ़ें – गले में टॉन्सिल के लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज

मंकीपॉक्स वायरस कैसे फैलता है | How does monkeypox spread in Hindi

मंकीपॉक्स वायरस आम तौर पर चूहों, खरगोशों और बंदरों जैसे जानवरों में पाया जाता है। बंदरों द्वारा किसी को काटने या खरोंचने पर ये संक्रमण लोगों के रक्त तक फैल सकता है, इसके साथ ही ये वायरस संक्रमित जानवर या पशु उत्पादों के संपर्क में आने से भी फैलता सकता है। (1)

मंकीपॉक्स बीमारी जानवरों से इंसानों में फैल सकती है, या इंसानों से जानवरों में। इसके अलावा यह वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में भी फैल सकता है, लेकिन यह कम आम है।

व्यक्ति-से-व्यक्ति वायरस का प्रसार (संचरण) तब होता है जब आप किसी अन्य व्यक्ति के वायरस कणों के संपर्क में आते हैं।

जब कोई संक्रमित व्यक्ति खांसता या छींकता है, तो वायरस श्वसन बूंदों के माध्यम से फैल जाता है।

हालांकि, इसके लिए लंबे समय तक आमने-सामने संपर्क की आवश्यकता होती है।

इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति के कपड़े या बिस्तर का इस्तेमाल करने से भी एक स्वस्थ व्यक्ति संक्रमित हो सकता है। 

और पढ़ें – कब्ज में क्या खाएं और क्या ना खाएं

मंकीपॉक्स की तस्वीरें | Monkeypox pictures

मंकीपॉक्स से संक्रमित व्यक्ति कैसा दिखता है इसे आप नीचे तस्वीरों में देख सकते हैं।

Monkeypox virus pictures, मंकीपॉक्स के लक्षण, मंकीपॉक्स बीमारी, मंकीपॉक्स रोग
Image source : who.int

मंकीपॉक्स किसे प्रभावित करता है? | Who does monkeypox affect in Hindi

मंकीपॉक्स (Monkeypox in hindi) किसी को भी हो सकता है। हालाँकि, यह बच्चों में अधिक आम है। अफ्रीका में मामलों में, 90% 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में थे।

मंकीपॉक्स की जटिलताएं | Complications of Monkeypox in Hindi

मंकीपॉक्स से शरीर में निम्नलिखित जटिलताएं हो सकती हैं। जिनमें शामिल हैं –

  •  श्‍वसनी न्युमोनिया,
  • सेप्सिस (रक्त का संक्रमण),
  • मस्तिष्क के ऊतकों की सूजन, जिसे एन्सेफलाइटिस भी कहा जाता है,
  • कॉर्निया का संक्रमण, आंख की स्पष्ट बाहरी परत,
  • कोई अन्य संक्रमण।

और पढ़ें –  फूड पाइजनिंग के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज

मंकीपॉक्स का निदान कैसे किया जाता है? | How is monkeypox diagnosed in Hindi

चूंकि मंकीपॉक्स बहुत दुर्लभ है, इसलिए डॉक्टर पहले अन्य दाने वाली बीमारियों पर संदेह कर सकते हैं, जैसे कि खसरा या चेचक। हालांकि, सूजी हुई लिम्फ नोड्स मंकीपॉक्स को अन्य चेचक से अलग करती हैं।

मंकीपॉक्स का निदान करने के लिए डॉक्टर आपकी संक्रमित त्वचा का नमूना ले सकते हैं जिसे माइक्रोस्कोप में देखा जाता है और वायरस की पुष्टि की जाती है।

मंकीपॉक्स का निदान एंटीबॉडी परीक्षण द्वारा भी किया जा सकता है। एंटीबॉडी टेस्ट में, डॉक्टर आपके खून की जांच करते हैं और देखते हैं कि आपके शरीर ने इस वायरस के खिलाफ कोई एंटीबॉडी बनाई है या नहीं।

एंटीबॉडी होने का मतलब है कि आप मंकीपॉक्स से संक्रमित हुए हैं।

मंकीपॉक्स का उपचार | How is monkeypox treated in Hindi

अभी तक इस मंकीपॉक्स बिमारी के लिए कोई विशेष इलाज (monkeypox treatment) नहीं है। इसके अलावा इस बिमारी में किसी विशेष उपचार की आवश्यकता भी नहीं होती है। संक्रमण 2-4 सप्ताह तक चलता है और अपने आप ही ठीक भी हो जाता है।

हालांकि, अमेरिका में मंकीपॉक्स और चेचक के खिलाफ एक वैक्सीन (monkeypox vaccine ) को लाइसेंस दिया गया है, जो मंकीपॉक्स के उपचार में की जा रही है।

और पढ़ें – हर्पीस सिम्पलेक्स वायरस (जनेऊ रोग) के लक्षण, कारण और इलाज

मंकीपॉक्स वायरस वैक्सीन |  Monkeypox Virus Vaccine in Hindi

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, चेचक का टीका लगभग 85 प्रतिशत मंकीपॉक्स के विकास को रोकने में प्रभावी है। यदि आपको बचपन में चेचक का टीका लगाया गया था और आपको मंकीपॉक्स बीमारी हो  गई हो, तो चेचक वैक्सीन से आपके लक्षण हल्के हो सकते हैं। (4)

2019 में, चेचक और मंकीपॉक्स बीमारी रोकने के लिए एक वैक्सीन को मंजूरी दी गई थी। लेकिन यह अभी भी व्यापक रूप से जनता के लिए उपलब्ध नहीं है।

क्या मंकीपॉक्स घातक है? | Is Monkeypox Fatal in Hindi

सीडीसी के अनुसार, मंकीपॉक्स बीमारी हर 10 में से से लगभग 1 व्यक्ति में धातक होती है। (6)

गंभीर मामलों में मौत की संभावना अधिक होती है। मंकीपॉक्स के जोखिम कारकों में शामिल हैं:

  • आपकी छोटी उम्र
  • लंबे समय तक वायरस के संपर्क में रहना
  • इम्युनिटी का कमजोर होना
  • अन्य जटिलताएं

मंकीपॉक्स के इस प्रकार के संक्रमण 100 में से लगभग 1 व्यक्ति में घातक होता हैं, लेकिन जिनकी इम्‍युनिटी कमजोर होती है ऐसे लोगों में मृत्यु दर अधिक हो सकती है।

और पढ़ें – Iron Supplements क्या हैं? जानिए इसके फायदे, मात्रा और दुष्प्रभाव

मंकीपॉक्स वायरस को कैसे रोका जा सकता है? | Prevention Tips for Monkeypox in Hindi

मंकीपॉक्स की रोकथाम (Prevention Tips), संक्रमित जानवरों के साथ मानव संपर्क को कम करने और व्यक्ति-से-व्यक्ति प्रसार को सीमित करने पर निर्भर करता है।

मंकीपॉक्स बीमारी की रोकथाम निम्नलिखित तरीकों से की जा सकती है।

मंकीपॉक्स वायरस की रोकथाम – Monkeypox virus prevention tips

  • संक्रमित जानवरों (विशेषकर बीमार या मृत जानवरों) के संपर्क में आने से बचें।
  • जानवरों के बिस्तर या वायरस से दूषित अन्य सामग्री के संपर्क से बचें।
  • संक्रमित जानवर के संपर्क में आने के बाद अपने हाथ साबुन और पानी से धोएं।
  • जानवरों के मांस या भागों वाले सभी खाद्य पदार्थों को अच्छी तरह से पकाएं।
  • ऐसे लोगों के संपर्क में आने से बचें जो इस वायरस से संक्रमित हों।
  • वायरस से संक्रमित लोगों की देखभाल करते समय व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई किट) का उपयोग जरूर करें।
  • मंकीपॉक्स बीमारी में संक्रमित व्यक्ति आइसोलेशन में रह सकता है जिससे ये बीमारी किसी दूसरे व्यक्ति को न लगे।
  • मंकीपॉक्स के बचाव के लिए आप मास्क लगाकर रखें।
  • साफ सफाई का विशेष रूप से ध्यान रखें।

और पढ़ें – Vaccine क्या है, कैसे काम करती है? जानिए इसके प्रकार, फायदे और दुष्प्रभाव।

निष्कर्ष | Conclusion

मंकीपॉक्स (Monkeypox in hindi), एक दुर्लभ वायरल बीमारी है जो जानवरों से मनुष्यों में फैलती है (ज़ूनोटिक बीमारी)। इसके अलावा यह मनुष्यों के बीच भी फैल सकती  है।

मंकीपॉक्स के प्रारंभिक लक्षणों में बुखार, मांसपेशियों में दर्द और सूजी लिम्फ नोड्स शामिल हैं। जैसे-जैसे यह रोग बढ़ता है, चेहरे और हाथ-पांव पर पानी से भरे दाने (फफोले) आने लगते हैं, जो बाद में सूख जाते हैं और गिर जाते हैं।

दाने आमतौर पर चेहरे पर शुरू होते हैं और फिर नीचे की ओर बढ़ते हैं, देखा जाए तो फफोले हाथ और पैर तक फेल सकते हैं। हालांकि, यह शरीर के अन्य भागों में भी हो सकते हैं।

इस बीमारी का अभी तक कोई विशेष इलाज नहीं है। इसके अलावा इस बिमारी में किसी विशेष उपचार की भी आवश्यकता भी नहीं होती है। यदि किसी व्यक्ति को संक्रमण हो जाए तो यह बीमारी 2-4 सप्ताह में अपने आप ही ठीक भी हो जाता है।

मंकीपॉक्स बीमारी मुख्य रूप से मध्य और पश्चिमी अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में देखी जाती है। हालांकि, अब अन्य देशों मैं भी यह बीमारी देखी जा रही है। 

और पढ़ें – Steroids दवा क्या है?, जानिए स्टेरॉयड के फायदे और नुकसान


ये हैं मंकीपॉक्स वायरस के लक्षण, कारण और इलाज के बारे में बताई गई पूरी जानकारी। कमेंट में बताएं आपको Monkeypox Virus in Hindi पोस्ट कैसी लगी। अगर आपको पोस्ट पसंद आई हो, तो इसे शेयर जरूर करें।

वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। 

सन्दर्भ (References)

1. Moore M, Zahra F. Monkeypox. [Updated 2022 Feb 28]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2022 Jan-.

2. Macneil A, Reynolds MG, Braden Z, et al. Transmission of atypical varicella-zoster virus infections involving palm and sole manifestations in an area with monkeypox endemicity. Clin Infect Dis. 2009;48(1):e6-e8.

3. Simpson K, Heymann D, Brown CS, Edmunds WJ, Elsgaard J, Fine P, Hochrein H, Hoff NA, Green A, Ihekweazu C, Jones TC, Lule S, Maclennan J, McCollum A, Mühlemann B, Nightingale E, Ogoina D, Ogunleye A, Petersen B, Powell J, Quantick O, Rimoin AW, Ulaeato D, Wapling A. Human monkeypox – After 40 years, an unintended consequence of smallpox eradication. Vaccine. 2020 Jul 14;38(33):5077-5081.

4. Monkeypox : https://www.who.int/news-room/fact-sheets/detail/monkeypox

5. Monkeypox : https://www.cdc.gov/poxvirus/monkeypox/symptoms.html

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.