Steroids in Hindi

Steroids दवा क्या है?, जानिए स्टेरॉयड के फायदे और नुकसान।

Steroids in Hindi : इस पोस्ट में हमने स्टेरॉयड क्या है?, स्टेरॉयड दवा कैसे काम करती है, इसके प्रकार (कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स और एनाबॉलिक स्टेरॉयड), फायदे और साइड इफेक्ट को विस्तार से बताया है। साथ ही स्टेरॉयड के साइड इफेक्ट कम करने के कुछ सुझाव भी दिए हैं।

Contents hide

स्टेरॉयड क्या है? | What is steroids in Hindi

Steroids in Hindi

Meaning of steroids in Hindi

स्टेरॉयड (Steroid) एक कार्बनिक यौगिक हैं जो मानव शरीर, पेड़ पौधों और जानवरों में प्राकृतिक रूप से उत्‍पन्‍न होते हैं। (1)

मानव शरीर में स्टेरॉयड का उत्पादन मुख्यतः अधिवृक्क प्रांतस्था (adrenal cortex), वृषण (testes) और अंडाशय (ovaries) से होता है। हालांकि, गर्भावस्था की अवधि के दौरान प्लेसेंटा से भी स्टेरॉयड का उत्पादन करता है।

मानव शरीर में प्राकृतिक रूप से उत्पन्न स्टेरॉयड, स्टेरॉयड होर्मोनेस कहलाते हैं।

 स्टेरॉयड होर्मोनेस (Steroids in Hindi) शरीर की सूजन, दर्द व तनाव कम करने में मदद करते हैं। हालांकि, स्टेरॉइड्स मानव द्वारा कृत्रिम तरीके से भी बनाए जा सकते हैं जिसका इस्तेमाल दवा के रूप में होता है।

इस पोस्ट में हम स्टेरॉयड दवाओं के प्रकार, फायदे और साइड इफेक्ट के बारे में बता रहे हैं।

और पढ़ें – Acid reflux (हाइपर एसिडिटी) और खट्टी डकार से छुटकारा पाने का घरेलू इलाज

स्टेरॉयड दवा कैसे काम करती है? | How do steroids work in Hindi?

स्टेरॉयड दवाएं दो तरीके से काम करती हैं पहला सूजन को कम करके और दूसरा प्रतिरक्षा प्रणाली की गतिविधि को कम करके।

स्टेरॉयड दवा सूजन को कम करती हैं – Steroids reduce inflammation

बैक्टीरिया या वायरस संक्रमण के कारण संक्रमित भाग में रेडनेस व सूजन आ जाती है। परन्तु, स्टेरॉइड्स दवाओं के सही उपयोग से यह रेडनेस और सूजन को कम करने में मदद कर सकती हैं।

उदाहरण के लिए अस्थमा और एक्जिमा जैसी बिमारियों में सूजन की स्थिति बनती है, जो स्टेरॉइड्स के इस्तेमाल से कम की जा सकती हैं। कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दवाएं इसका अच्छा उदाहरण हैं।

स्टेरॉयड दवा प्रतिरक्षा प्रणाली को कम करती हैं – Steroids reduce the activity of the immune system

कुछ स्व-प्रतिरक्षित बीमारियां (Auto immune disease) ऐसी होती हैं, जिसमें एंटीबाडी अपने ही कोशिकाओं पर आक्रमण करती हैं।

उदाहरण के लिए रूमेटोइड गठिया या लुपस रोग। परन्तु, कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के सही उपयोग से यह प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करती हैं और हमें रूमेटोइड गठिया या लुपस जैसी बिमारियों से बचाती हैं।

स्टेरॉयड दवा मांसपेशियों के द्रव्यमान को बढ़ाती हैं  – Steroids increase muscle mass

कुछ एनाबॉलिक स्टेरॉइड्स दवाएं विलंबित यौवन (Puberty) के इलाज में और मांसपेशियों के द्रव्यमान को बढ़ाने में मदद करती हैं।

स्टेरॉयड दवा विलंबित यौवन के इलाज में मदद करती हैं – Steroid helps to treat delayed puberty

कुछ जेनेटिक बीमारियां ऐसी होती हैं जिसमें बच्चों में यौवन देर में आता है। बच्चों में विलंबित यौवन तब होता है जब 14 साल की उम्र तक यौवन शुरू नहीं होता है। कल्मन सिंड्रोम इसका एक अच्छा उदाहरण है। हालांकि, स्टेरॉयड दवाएं विलंबित यौवन के इलाज में मदद करती हैं।

स्टेरॉयड दवा का सेवन कैसे किया जाता है? | How are steroids taken in Hindi?

स्टेरॉइड्स दवाओं का सेवन विभिन्न तरीकों से किया जा सकता है (2)। जिसमें स्टेरॉयड

  • टेबलेट के रूप में,
  • सिरप के रूप में,
  • तरल पदार्थ के रूप में,
  • इनहेलर के रूप में,
  • नेसल स्प्रे के रूप में,
  • इंजेक्शन के रूप में,
  • क्रीम के रूप में,
  • लोशन और जैल के रूप में

उपयोग में लाया जाता है।

भारत में, डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के बिना स्टेरॉयड दवाओं का उपयोग करना कानून के खिलाफ है, और साथ ही यह स्वस्थ के लिए भी हानिकारक होता है।

और पढ़ें – साइनोसाइटिस के लक्षण, कारण और इलाज (आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक)

स्टेरॉयड दवा कितने प्रकार की होती हैं? | Types of steroids in Hindi

स्टेरॉयड (Steroids in Hindi) मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं (3 & 4) जो

  • कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स (Corticosteroids) या
  • एनाबॉलिक (या एनाबॉलिक-एंड्रोजेनिक) स्टेरॉयड (Anabolic steroids)

के नाम से जाने जाते हैं।

ये दोनों ही स्टेरॉयड कृत्रिम तरीकों से दवाई के रूप से बनाए जा सकते हैं जो अलग-अलग चिकित्सीय स्थितियों के लिए उपयोग में लाए जाते हैं।

स्टेरॉयड दवाएं किसी बीमारी को जड़ से ख़त्म नहीं करती हैं बल्कि उन बिमारियों के लक्षण जैसे सूजन, दर्द और जकड़न आदि को कम करने में मदद करती हैं।

और पढ़ें – थायराइड के प्रारंभिक लक्षण, कारण और इलाज

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स क्या है? – What is Corticosteroids in Hindi

Corticosteroids in Hindi, कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स

Corticosteroids meaning in Hindi

ये स्वाभाविक रूप से उत्पन्न होने वाले हार्मोन हैं, जो गुर्दे के ऊपर पर स्थित अधिवृक्क ग्रंथियों में उत्पादित होते हैं। हालांकि, ये दवाइयों के रूप में सिंथेटिक तरीके से भी उत्पन्न किये जाते हैं। (3)

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दो प्रकार के होते हैं, जो ग्लूकोकार्टिकोइड्स (Glucocorticoid ) और मिनरलोकॉर्टिकोइड्स (Mineralocorticoid) नाम से जाने जाते हैं।

और पढ़ें – हार्ट अटैक (Myocardial infarction) के लक्षण,कारण और बचाव

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स का कार्य क्या है? – Main function of Corticosteroids in Hindi

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दवाएं शरीर में सोडियम की मात्रा, सूजन और तनाव कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा ये स्टेरॉइड्स कार्बोहाइड्रेट चयापचय (Metabolism), प्रोटीन चयापचय, रक्त इलेक्ट्रोलाइट स्तर आदि को बनाए रखने में मदद करते हैं। (3)

ग्लूकोकार्टिकोइड्स, सामान्य रूप से, चयापचय (Metabolism) और सूजन को नियंत्रित करते हैं; जबकि मिनरलोकॉर्टिकोइड्स सोडियम और जल स्तर को नियंत्रित करते हैं ।

और पढ़ें – इस्केमिक हृदय रोग क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

एनाबॉलिक स्टेरॉयड क्या है? | Anabolic steroids in Hindi

Anabolic steroids in Hindi,एनाबॉलिक स्टेरॉयड

Anabolic steroids meaning in Hindi

एनाबॉलिक स्टेरॉयड एक कृत्रिम स्टेरॉइड्स हैं, जो पुरुषों में प्राकृतिक रूप से मिलने वाले सेक्स हार्मोन (टेस्टोस्टेरोन) के समान होते हैं। (4)

पुरुष में यौन विशेषताओं को विकसित करने और उन्हें बनाए रखने के लिए टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की आवश्यकता होती है, जैसे की चेहरे के बाल, भरी आवाज और मांसपेशियों की वृद्धि। जबकि महिलाओं में यौन विशेषताओं को विकसित एस्ट्रोजेन (Estrogens) करता है।

औसतन पुरुष के शरीर में यह हार्मोन लगभग 300 से 1,000 नैनोग्राम प्रति डेसीलीटर (एनजी/डीएल) होता है। (5)

पुरुषों में, टेस्टोस्टेरोन मुख्य रूप से वृषण (Testis) में निर्मित होता है।

महिलाओं के शरीर में भी कुछ टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन होता है। महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन प्रजनन ऊतकों, हड्डियों के द्रव्यमान और ऊतकों की रखरखाव और मरम्मत में मदद करता है।

आमतौर पर, महिलाओं के शरीर में पुरुषों के मुकाबले टेस्टोस्टेरोन की मात्रा का लगभग 1/10वां से 1/20वां हिस्सा होता है।

और पढ़ें – जानिए घबराहट के दौरे क्या हैं, और क्यों आते हैं।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड का कार्य क्या है? – Role of anabolic steroids in Hindi

Function of anabolic steroids in Hindi

स्वास्थ्य प्रदाता पुरुषों में एनाबॉलिक स्टेरॉयड का उपयोग विलंबित यौवन, मांसपेशियों की बीमारी आदि के इलाज के लिए करते हैं। (6)

एनाबॉलिक स्टेरॉयड उन बीमारियों के इलाज में असरदार साबित होती हैं जो मांसपेशियों को नुकसान पहुंचाती हैं, जैसे की कैंसर और एड्स।

इसके अलावा एनाबॉलिक स्टेरॉयड मांसपेशियों के द्रव्यमान को बढ़ाने में भी मदद करती है।

कुछ लोग एनाबॉलिक स्टेरॉयड का इस्तेमाल गलत तरीके से करते हैं। जैसे कुछ एथलीट अपनी स्पीड, पावर और वजन को बढ़ाने के लिए एनाबॉलिक स्टेरॉयड का उपयोग करते हैं।

इसके अलावा कुछ बॉडी बिल्डर मांसपेशियों की वृद्धि और ताकत के लिए भी एनाबॉलिक स्टेरॉयड लेते हैं।

ये लोग स्टेरॉयड (Steroids in Hindi) को मौखिक रूप से या मांसपेशियों में इंजेक्ट के जरिये या उन्हें जैल या क्रीम के रूप में त्वचा पर लगाते हैं। इन लोगों द्वारा ली गई खुराक डॉक्टर द्वारा बताई गई खुराक से 10 से 100 गुना अधिक होती है।

और पढ़ें – मेनियार्स रोग क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

स्टेरॉइड्स दवा के फायदे (लाभ) क्या हैं | Benefits of steroids in Hindi

कॉर्टिको स्टेरॉइड्स के फायदे – Benefits of corticosteroids in Hindi

डॉक्टर कई कारणों से कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दवा का उपयोग कर सकते हैं (3), जो निम्नलिखित बिमारियों में फायदा पंहुचा सकता है। इन बिमारियों में शामिल हैं:

एडिसन रोग में कॉर्टिको स्टेरॉइड्स का फायदा – Addison’s disease and benefits of corticosteroids in Hindi

एडिसन रोग तब होता है जब शरीर पर्याप्त मात्रा में कोर्टिसोल नहीं बना पता है। कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दवा, एडिसन के रोग के लक्षणों को कम करने में मदद करती हैं।

अंग प्रत्यारोपण में कॉर्टिको स्टेरॉइड्स का फायदा – Benefits of corticosteroids in organ transplantation in Hindi

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दवा प्रतिरक्षा प्रणाली को दबाने में मदद करती है ताकि ऑर्गन के रिजेक्ट होने की संभावना कम हो सके।

सूजन में कॉर्टिको स्टेरॉइड्स का फायदा – Benefits of Corticosteroids in Inflammation in Hindi

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दवा शरीर की सूजन को कम करने में मदद करती हैं। COVID-19 मरीज़ों के लिए कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स का इस्तेमाल फेफड़ों की सूजन कम करने में किया जा सकता है।

स्वप्रतिरक्षित रोग में कॉर्टिको स्टेरॉइड्स का फायदा – Benefits of corticosteroids in autoimmune diseases in Hindi

कुछ बीमारियां ऐसी होती हैं जिसमें शरीर की एंटीबाडी अपने ही कोशिकाओं में आक्रमण करती हैं और उन्हें नुकसान पहुँचती हैं। कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दवा इस क्षति को रोकते में मदद करती हैं।

इसके अलावा कृत्रिम कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स दवाएं का उपयोग (Steroid use in Hindi) एलर्जी, दमा और स्वप्रतिरक्षित रोग जैसी बीमारी के इलाज में किया जाता है।

और पढ़ें – क्रोहन (क्रोन) रोग क्या है, जानिए इसके लक्षण, कारण व उपचार

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के फायदे (लाभ) | Benefits of Anabolic steroid  in Hindi

एनाबॉलिक स्टेरॉयड दवाएं शरीर को निम्नलिखित लाभ (Steroid use in Hindi) पंहुचा सकती हैं।  (4)

  • एनाबॉलिक स्टेरॉयड प्रोटीन संश्लेषण में वृद्धि करती हैं जिससे मांसपेशियों के ऊतकों में वृद्धि होती है।
  • शरीर में वसा प्रतिशत में कमी लती हैं जिससे अतरिक्त वजन कम होता है।
  • एनाबॉलिक स्टेरॉयड मांसपेशियों की ताकत और शक्ति में वृद्धि करती हैं।
  • यह स्टेरॉयड चोट या धाव को जल्द ठीक करती हैं।
  • एनाबॉलिक स्टेरॉयड अस्थि खनिज घनत्व में सुधार करने में मदद करती हैं और साथ ही मांसपेशी की सहनशक्ति को बढ़ाती हैं।
  • एनाबॉलिक स्टेरॉयड लाल रक्त कोशिकाओं में वृद्धि करती हैं।
  • एड्स, क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी), कैंसर, किडनी और लीवर जैसी अनेक बीमारियां हैं जिसमें मांसपेशियों की हानी हो सकती है। परन्तु एनाबॉलिक स्टेरॉयड का उपयोग करके मरीजों में मांसपेशियों की हानी को बहुत हद तक रोका जा सकता है।

स्टेरॉइड्स दवा के दुष्प्रभाव क्या हैं? | Steroids side effects in Hindi

स्टेरॉयड के साइड इफेक्ट (Side effects of steroids in Hindi) की संभावना उसकी खुराक, स्टेरॉयड के प्रकार और उपचार की अवधि पर निर्भर करती है।

Steroids side effects in Hindi

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के दुष्प्रभाव – Corticosteroid side effects In Hindi

कॉर्टिकोस्टेरॉयड दवाओं के आम दुष्प्रभावों में शामिल हैं (7) –

  • मांसपेशी में कमज़ोरी,
  • त्वचा का पतला होना,
  • मधुमेह की शुरुआत, या बिगड़ना,
  • उच्च रक्तचाप की शुरुआत, या बिगड़ना,
  • घबराहट, बेचैनी और सोने में कठिनाई,
  • भूख में वृद्धि और वजन बढ़ना,
  • मिजाज और मूड में बदलाव,
  • मुंहासे,
  • दृष्टि का धुंधला होना,
  • आंख का रोग,
  • पेट में जलन,
  • शरीर के बालों में वृद्धि,
  • संक्रमण के लिए संवेदनशीलता,
  • घाव भरने में देरी होना,
  • पेट में अल्सर होना या पेट में जलन,
  • हड्डियों का कमजोर होना (ऑस्टियोपोरोसिस),
  • डिप्रेशन का शिकार होना,
  • बच्चों का विकास रुकना।

और पढ़ें – हार्ट फेल का कारण बन सकता है कार्डियक अस्थमा

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के हानिकारक प्रभाव क्या हैं? | Anabolic steroids side effects in Hindi

एनाबॉलिक स्टेरॉयड का गलत उपयोग कई स्वास्थ्य समस्याओं (steroids side effects in Hindi) का कारण बन सकता है। इन समस्याओं में शामिल हैं (8, 9 & 10)-

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के नुकसान हृदय रोग के खतरे का बढ़ाना – Steroid may increase the risk of heart disease in Hindi 

स्टेरॉयड का गलत उपयोग उच्च रक्तचाप, रक्त के थक्के, दिल का दौरा, स्ट्रोक और धमनी क्षति जैसी गंभीर बिमारियों को जन्म दे सकता है।

स्टेरॉयड का दुरुपयोग युवा एथलीटों में भी दिल के दौरे और स्ट्रोक का कारण बन सकता है। स्टेरॉयड कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) के स्तर को बढ़ाकर हृदय रोग के विकास में योगदान कर सकता है।

और पढ़ें – जानिए हाई कोलेस्ट्रॉल हमारे स्वास्थ्य के लिए क्यों खराब है।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के दुष्प्रभाव अत्यधिक मूड परिवर्तन – Steroid may cause Extreme mood change in Hindi

कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि एनाबॉलिक स्टेरॉयड चिड़चिड़ापन और आक्रामकता को बढ़ा सकते हैं साथ ही ऐसे लोग अधिक क्रोध और मौखिक रूप से आक्रामक होते हैं।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के साइड इफेक्ट टेस्टोस्टेरोन स्तर में कमी – Steroid can decrease testosterone level in Hindi

स्टेरॉयड के गलत उपयोग से शुक्राणु उत्पादन में कमी आ सकती है जो बांझपन का कारण बन सकता है।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के नुकसान बालों का टूटना – Hair loss

स्टेरॉयड के दुरुपयोग बालों के नियमित रूप से टूटने का कारण बन सकता है।

और पढ़ें – किडनी सिस्ट क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के नुकसान अन्य हार्मोन को बाधित करना – Steroid can disturb the normal production of other hormones in Hindi

स्टेरॉयड के गलत इस्तेमाल से लड़कियां मर्दाना बन सकती हैं। उनकी आवाज गहरी हो सकती है। उनके शरीर में अत्यधिक बाल उग सकते हैं।

इसके अलावा एनाबॉलिक स्टेरॉयड का गलत उपयोग महिलाओं के मासिक धर्म चक्र में परिवर्तन आ सकता है, स्तनों के आकार में कमी आ सकती है, पुरषों के शुक्राणु उत्पादन में कमी आ सकती है, वृषण (हाइपोगोनाडिज्म) के आकर व कार्य में कमी आ सकती है या अंडकोष सिकुड़ सकते हैं।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के नुकसान संक्रमण – Steroid can increase Infection in Hindi

वे लोग जो एनाबॉलिक स्टेरॉयड को इंजेक्ट से लेते हैं, वे दूषित सुई साझा करने से वायरल संक्रमण, जैसे एचआईवी और हेपेटाइटिस बी और सी से संक्रमित हो सकते हैं।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के साइड इफेक्ट लीवर को नुकसान पहुँचाना – Steroid can damage to the liver in Hindi

स्टेरॉयड का दुरुपयोग जिगर की क्षति, ट्यूमर और सिस्ट जैसी स्थितियों को पैदा कर सकती है ये सभी स्थितियां लीवर को नुकसान पहुँचती हैं।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के साइड इफेक्ट मुँहासे होनाSteroids can cause acne in Hindi

स्टेरॉयड दवाओं के दुरुपयोग से मुंहासे हो सकते हैं, सिर के बाल झड़ सकते हैं साथ ही ऑयली बाल और त्वचा हो सकती है।

और पढ़ें – जानिए किडनी बचाव के 11 घरेलू उपाय

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के नुकसान मानसिक विकार होना – Steroid may develop Mental disorder in Hindi

स्टेरॉयड दवाओं के गलत इस्तेमाल से यह मानसिक विकार जैसे चिंता, हाइपोमेनिया और अवसाद को बढ़ा सकती हैं।

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स और एनाबॉलिक स्टेरॉयड के बीच अंतर – Difference between Corticosteroids and Anabolic steroids in Hindi

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स

(Corticosteroids)

एनाबॉलिक स्टेरॉयड

(Anabolic steroids)

परिभाषा

(Definition)

ये स्वाभाविक या कृत्रिम (सिंथेटिक) दोनों ही रूप में मिलते हैं।

ये स्टेरॉयड गुर्दे के ऊपर स्थित अधिवृक्क ग्रंथियों में उत्पन्न होते हैं। जबकि,  दवाइयों के रूप में ये स्टेरॉइड्स सिंथेटिक तरीके से बनाए जाते हैं।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड (या एनाबॉलिक-एंड्रोजेनिक) एक कृत्रिम स्टेरॉइड्स हैं, जो पुरुषों में प्राकृतिक रूप से मिलने वाले सेक्स हार्मोन (टेस्टोस्टेरोन) के समान होते हैं।

लाभ

(Benefits)

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली, सोडियम की मात्रा, मांसपेशियों की सूजन और तनाव कम करने में मदद करते हैं, साथ ही ये स्टेरॉइड्स कार्बोहाइड्रेट चयापचय (Metabolism), प्रोटीन चयापचय, रक्त इलेक्ट्रोलाइट स्तर आदि को बनाए रखने में भी मदद करते हैं। एनाबॉलिक स्टेरॉयड का उपयोग मांसपेशियों के द्रव्यमान बढ़ाने, विलंबित यौवन को ठीक करने, उत्तकों और मांसपेशियों की सूजन कम करने आदि में किया जाता है।

एथलीट अपनी स्पीड, पावर और वजन को बढ़ाने के लिए एनाबॉलिक स्टेरॉयड का उपयोग करते हैं।

दुष्प्रभाव

(side effects)

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के गलत इस्तेमाल से मांसपेशियों में कमजोरी, मधुमेह का बिगड़ना, उच्च रक्तचाप की शुरुआत, मिजाज और मूड में बदलाव, दृष्टि व हड्डियाँ कमजोर होना, बच्चों में विकास रुकना आदि की समस्या हो सकती हैं। एनाबॉलिक स्टेरॉयड के गलत इस्तेमाल से हृदय रोग, अत्यधिक मूड परिवर्तन, टेस्टोस्टेरोन स्तर में कमी, बालों का टूटना, लीवर का नुकसान, अत्यधिक मुँहासे,मानसिक विकार आदि की समस्या हो सकती हैं।

स्टेरॉयड के साइड इफेक्ट कम करने के सुझाव | Tips to minimize side effects of steroids in Hindi

छोटी अवधि में ली जाने वाली स्टेरॉइड्स दवाओं की कम खुराक इसके दुष्प्रभावों के खतरे को कम रखती हैं। डॉक्टर भी कुछ बीमारियों में स्टेरॉयड की कम खुराक देने की कोशिश करते हैं (9)।

स्टेरॉयड के जोखिम को कम करने के लिए नीचे कुछ सुझाव दिए गए हैं। इन सुझावों में शामिल हैं-

  • यदि आप स्टेरॉइड्स के अलावा कोई और भी दवाएं या सुप्प्लिमेंट ले रहे हों, तो अपने डॉक्टर को अवश्य सूचित करें।
  • स्टेरॉइड्स के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए डॉक्टर के अनुसार उचित व्यायाम करें और स्वस्थ आहार लें।
  • नियमित रूप से आंखों की जांच करवाएं। ऐसा इसलिए क्योंकि कुछ स्टेरॉइड्स आंखों की रौशनी पर बुरा प्रभाव डाल सकती हैं।
  • स्टेरॉइड्स पैरों में सूजन कर सकती है यदि ऐसा हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
  • स्टेरॉइड्स की मात्रा डॉक्टर के अनुसार की लें अपने अनुसार बिल्कुल भी कम या ज्यादा न करें।
  • स्टेरॉइड्स की खुराक धीरे-धीरे कम करें। स्टेरॉइड्स की खुराक एकदम बंद कर देने से यह मासपेशों में या अन्य ऊतकों पे नकारात्मक असर डाल सकती हैं।
  • स्टेरॉयड के जोखिम को कम करने के लिए कम नमक और/या पोटेशियम युक्त आहार लें।

और पढ़ें – सर्वाइकल दर्द में करें इन खाद्य पदार्थों का परहेज

निष्कर्ष | Conclusion

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स एक शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी दवाएं हैं जो एडिसन के रोग, अंग प्रत्यारोपण, अस्थमा, गठिया और ल्यूपस जैसी अनेक बीमारियों के इलाज में फायदा पंहुचा सकती हैं।

इसके अलावा एनाबॉलिक स्टेरॉयड का उपयोग विलंबित यौवन, मांसपेशियों की बीमारी, कैंसर, एड्स आदि के इलाज में होता है।

स्टेरॉयड का गलत उपयोग कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। जैसे की हृदय रोग,अत्यधिक मूड परिवर्तन, शुक्राणु उत्पादन में कमी, बालों का टूटना, लीवर का नुकसान, मानसिक विकार, मधुमेह की शुरुआत, उच्च रक्तचाप आदि।

कुछ एथलीट और बॉडी बिल्डर अपनी स्पीड, पावर, मांसपेशियों और वजन बढ़ाने के लिए एनाबॉलिक स्टेरॉयड का उपयोग खुद से ही करते हैं।

डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के बिना स्टेरॉयड दवाओं का उपयोग कानूनी तौर पर गैर कानूनी है और स्वास्थ के लिए भी हानिकारक हो सकता है।

स्टेरॉयड दवाएं किसी भी बीमारी को जड़ से ख़त्म नहीं करती हैं बल्कि उन बिमारियों के लक्षण को कम करने में मदद करती हैं।

और पढ़ें – गर्भावस्था में संतुलित आहार, जानें पूरा डाइट चार्ट

ये हैं स्टेरॉयड के प्रकार, फायदे और साइड इफेक्ट। कमेंट में बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी। यदि आपको Steroids in Hindi पोस्ट पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें।

सन्दर्भ (References)

  1. https://en.wikipedia.org/wiki/Steroid
  2. https://www.versusarthritis.org/about-arthritis/treatments/drugs/steroids/
  3. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4052587/
  4. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK482418/
  5. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/14764758/
  6. https://www.healthline.com/health/anabolic-steroids
  7. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK531462/
  8. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3827559/
  9. https://www.mayoclinic.org/steroids/art-20045692
  10. https://www.drugabuse.gov/publications/research-reports/steroids-other-appearance-performance-enhancing-drugs-apeds/how-does-anabolic-steroid-misuse-affect-behavior

Leave a Reply

Your email address will not be published.