Prunes Benefits in Hindi

Prunes Benefits | सूखे आलूबुखारा (सूखे पल्म) के फायदे और नुकसान | Dried Aloo Bukhara Benefits

Prunes Benefits in Hindi : सूखे आलूबुखारा (सूखे पल्म) कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जिसकारण इनका उपयोग मधुमेह से लेकर कब्ज तक की बीमारियों में किया जा सकता है। हालांकि, इनका अधिक सेवन स्वास्थ के लिए कभी-कभी हानिकारक (आलूबुखारा के नुकसान) भी हो सकता है। इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको सूखे आलूबुखारा के फायदे और नुकसान के बारे में बता रहे हैं, और साथ ही आपको स्वस्थ रहने के लिए प्रति दिन कितने आलूबुखारे खाने चाहिए, वह भी बता रहे हैं।

तो आइये अब इस पोस्ट को शुरू करते हैं।

Contents hide

सूखे आलूबुखारा क्या हैं? | Prunes in Hindi meaning

सूखे आलूबुखारा के फायदे, Prunes Benefits in Hindi
Image source: freepik.com

सूखा आलूबुखारा (Dried Aloo Bukhara) अंग्रेजी भाषा में प्रून्स (Prunes) या ड्राईड पल्म (Dried Plum) कहलाता है, जो प्राकृतिक रूप से धूप में या औद्योगिक रूप से फैक्ट्री में सूखा कर तैयार किया जाता है।

सूखा आलूबुखारा, फैक्ट्री में आलूबुखारा फल को 85-90 डिग्री सेल्सियस पर 18 घंटे तक सूखा कर प्राप्त किया जाता है। (1)

सूखा आलूबुखारा अपने मीठे और खट्टे स्वाद के कारण सभी उम्र के लोगों में पसंदीदा भोजन है।

सूखे पल्म (Dried Plums) न केवल खाने में स्वादिष्ट होते हैं बल्कि मानव स्वास्थ्य के लिए भी बेहद फायदेमंद (सूखा आलूबुखारा बेनिफिट्स) हैं।

प्रून्स फाइबर से भरपूर होते हैं और साथ ही इनमें विटामिन K, आयरन, पोटेशियम और बीटा-कैरोटीन जैसे महत्वपूर्ण पौष्टिक तत्व भी मौजूद होते हैं।

ड्राईड पल्म में मौजूद फाइबर, विटामिन और खनिज, ह्रदय स्वास्थ से लेकर पाचन तंत्र को मजबूत बनाए रखते में मदद करता है।

नियमित रूप से सूखा आलूबुखारा खाने से यह त्वचा और बालों को अच्छी तरह से पोषण देता है, और साथ ही उन्हें स्वस्थ भी बनाए रखता है। आलूबुखारा उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है और झुर्रियों के विकास में देरी ला सकता है।

सूखे प्रून्‍स (Dry Plum fruit In Hindi) में सूजन-रोधी गुण (Prunes Benefits in Hindi) होते हैं, जो गठिया से पीड़ित लोगों के लिए अत्यधिक लाभकारी हैं।

इसके आलावा भी सूखे आलूबुखारा से हमें कई और औषधीय फायदे मिलते हैं जिन्हें हम नीचे विस्तार से बता रहे हैं।

और पढ़ें – हर्बल चाय (हर्बल टी) के 8 फायदे और नुकसान।

सूखे आलूबुखारा के पौष्टिक तत्व | Nutrients of Dried Aloo Bukhara in Hindi

सूखा आलूबुखारा (Dried Plums) कैलोरी में अपेक्षाकृत कम होता है, लेकिन इसमें उचित मात्रा में महत्वपूर्ण विटामिन और खनिज होते हैं। 4 सूखे प्रून्‍स (38g) में निम्नलिखित पोषक तत्व मौजूद होते हैं (2):

  • कैलोरी – 90
  • कुल वसा – 0 ग्राम
  • संतृप्त वसा – 0 ग्राम
  • कोलेस्ट्रॉल – 0 मिलीग्राम
  • सोडियम – 0 मिलीग्राम
  • कुल कार्बोहाइड्रेट – 24 ग्राम
  • आहार फाइबर – 3 ग्राम
  • कुल शर्करा – 14 ग्राम
  • प्रोटीन – 1 ग्राम
  • कैल्शियम – 20 मिलीग्राम
  • आयरन – 0.4mg
  • पोटेशियम – 280mg
  • विटामिन K – 23mcg
  • राइबोफ्लेविन  – 0.1 मिलीग्राम
  • विटामिन B6 – 0.1 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम – 15 मिलीग्राम
  • मिलीग्राम तांबा – 0.1
  • मैंगनीज – 0.1 मिलीग्राम 

चलिए अब सूखे आलूबुखारा के फायदे और नुकसान (Aloo bukhara ke fayde aur nuksan) के बारे में समझते हैं।

और पढ़ें – एक अच्छे कुकिंग ऑयल का चुनाव कैसे करें?

Prunes Benefits in Hindi | सूखे आलूबुखारा के फायदे | Dried Aloo Bukhara Benefits in Hindi

सूखे आलूबुखारा के फायदे निम्नलिखित हैं:

एंटीऑक्सीडेंट भोजन – Benefits of Dry Plum Fruit In Hindi

सूखे पल्म या सूखे आलूबुखारे (Dried Aloo Bukhara) में पॉलीफेनोल्स (polyphenols) नामक एंटीऑक्सीडेंट होता है। (3)

ये एंटीऑक्सीडेंट कोशिकाओं को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करते हैं।

इसके अलावा ये एंटीऑक्सीडेंट हृदय रोग और कुछ प्रकार के कैंसर की रोकथाम में भी मदद करते हैं।

कई प्रयोगशाला और जानवरों के अध्ययन में पाया गया है कि सूखे आलूबुखारे में कई शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो जोड़ों के दर्द या किसी अन्य बीमारी के विकास को कम करने में मदद कर सकते हैं।

और पढ़ें – सुपरफूड क्या हैं, जानिए इसके स्वास्थ्यवर्धक फायदे।

विटामिन सी का अच्छा स्रोत- Dry Aloo Bukhara Benefits in Hindi

विटामिन सी, हड्डियों, मांसपेशियों, रक्त वाहिकाओं और दांतों के विकास के लिए अच्छा माना जाता है।

विटामिन सी शरीर को आयरन के अवशोषण में मदद करता है।

विटामिन सी इम्युनिटी बनाने में भी मदद करता है, और साथ ही कोलेजन को मजबूत करने में मदद करता है, जो एक स्वस्थ ऊतक को बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

इसलिए सूखे पल्म का रोजाना उपयोग स्वस्थ के लिए लाभदायक हो सकता है।

और पढ़ें – पोटेशियम की कमी दूर करते हैं ये आहार

सूखे आलूबुखारा के फायदे हैं रक्तचाप कम करने में – Prune Juice Benefits for Blood Pressure in Hindi

डॉक्टर के अनुसार प्रून खाने और प्रून जूस पीने से उच्च रक्तचाप को काफी हद तक कम किया जा सकता है (Prunes Benefits in Hindi)। 

2010 में किये गए अध्ययन के अनुसार, जो लोग प्रून (Dried Plums) का सेवन नियमित रूप से करते थे उनका रक्तचाप उन लोगों से कम पाया गया जो लोग प्रून का सेवन नहीं करते थे। (4)

और पढ़ें – लो कैलोरी डाइट के फायदे, नुकसान और आहार योजना।

सूखे प्लम खाने का फायदा है कब्ज दूर करने में – Benefits of Eating Prunes for Constipation in Hindi

प्रून्‍स (सूखे पल्म) में सोल्युबल फाइबर मौजूद होते हैं, जिसे हम पेक्टिन भी कहते हैं।

ये सोल्युबल फाइबर पानी को अवशोषित करने और मल को आपस में जोड़ने में मदद करते हैं। जिससे मल के वजन और आकार दोनों में बढ़ोतरी होती है, और साथ ही ये मल को नरम भी करता है। (5)

भारी और नरम मल आसानी से निकल जाता है, जिससे कब्ज और बवासीर की संभावना कम हो जाती है।

और पढ़ें – कब्ज में क्या खाएं और क्या ना खाएं

प्रून्‍स खाने का फायदा है कोलोरेक्टल कैंसर के खतरे को कम करने में  – Dried Plum Benefits for Colon Cancer in Hindi 

कोलोरेक्टल कैंसर (Colon cancer), दुनिया में कैंसर से होने वाली मौतों का तीसरा प्रमुख कारण है। 

कई अध्ययनों से पता चलता है कि प्रून्‍स में मौजूद फाइबर कोलन कैंसर के जोखिम को नियंत्रित करते में मदद कर सकता है। (6)

और पढ़ें – आहार जिनमें होते हैं खूब कार्बोहाइड्रेट (अच्छे और खराब कार्ब्स) 

सूखे पल्म के फायदे हैं कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में – Prunes Benefits for Cholesterol in Hindi

वसा और कोलेस्ट्रॉल आपकी धमनियों में जमा होकर प्लाक नामक पदार्थ का निर्माण कर सकते हैं।

प्लाक के बनाने से धमनियों के संकुचन होने लगती हैं। जिससे ह्रदय में रक्त का प्रवाह ठीक से नहीं हो पाता है।

यदि इसे अनुपचारित छोड़ दिया जाए, तो यह स्थिति दिल की विफलता, स्ट्रोक और दिल के दौरे का कारण बन सकती है।

शोध बताते हैं कि सूखे पल्म धमिनियों में प्लाक के विकास को धीमा करने में मदद कर सकते हैं। जिससे कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की सम्भावना कम हो जाती है।

एक पशु अध्ययन में पाया गया कि Dried Plums में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट, कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। एक अन्य अध्ययन में बताया गया है कि घुलनशील फाइबर, जो कि prunes में पाया जाता है, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। (7 & 8)

और पढ़ें – आयरन की कमी को दूर करते हैं ऐसे आहार।

सूखे आलू बुखारा के फायदे बोन स्वास्थ को बनाए रखता है – Benefits of Dried plum for Bone Health in Hindi

सूखे आलूबुखारा के फायदे (Dried Aloo Bukhara Benefits) में हड्डी स्वास्थ्य भी शामिल है।

एक अध्ययन के मुताबिक, रोजाना 100 ग्राम प्रून्स यानी सूखा आलूबुखारा खाने से हड्डी कमजोर करने वाले कारकों को दूर किया जा सकता है। साथ ही, इससे बोन मिनरल डेंसिटी में भी सुधार होता है। (9)

2016 में किये गए अध्ययन के अनुसार, सूखे पल्म हड्डियों के घनत्व के नुकसान को रोक सकते हैं और हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकते हैं। (10)

सूखा पल्म, ऑस्टियोपोरोसिस के इलाज में भी मदद कर सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, सूखे पल्म पोस्टमेनोपॉज़ल ऑस्टियोपोरोसिस महिलाओं में हड्डियों के नुकसान को रोक सकते हैं।

(पोस्टमेनोपॉज़ल ऑस्टियोपोरोसिस, ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी की बीमारी) का एक रूप है जो महिलाओं में रजोनिवृत्ति के बाद होता है।)

और पढ़ें – गले में टॉन्सिल के लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज

वजन को नियंत्रित रखने में – Prunes Benefits for weight Loss in Hindi

सूखे आलूबुखारा (Dried Aloo Bukhara) मोटापे को कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, आलूबुखारे में काफी कम कैलोरी पाई जाती है। कैलोरी कम होने से वजन को नियंत्रित करने में फायदा मिलता है। इसके अलावा आलूबुखारा फाइबर से भरपूर होता है। 

फाइबर पेट को भरा रखता है, जिससे आप कम खाते हैं। नतीजतन, आपका अतिरिक्त वजन नहीं बढ़ता है, और आप अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से बचे रहते हैं। (11

2009 के एक अध्ययन में पाया गया कि नाश्ते के रूप में सूखे प्लम खाने से कम वसा वाली कुकीज़ की तुलना में अधिक समय तक भूख कम लगती है। (12)

और पढ़ें –  इन एंटीऑक्सीडेंट आहार से करें अपना वजन कम।

ड्राई प्लम के फायदे हैं रक्त शर्करा के स्तर को कंट्रोल करने में – Aloo Bukhara Fruit Benefits for Blood Sugar in Hindi

सूखे पल्म का सेवन टाइप 2 मधुमेह के कम जोखिम से जुड़ा है।

सूखे आलूबुखारा में घुलनशील फाइबर होने के कारण इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) और ग्लाइसेमिक लोड (जीएल) दोनों ही कम होता है, जिसका अर्थ है आलूबुखारा के सेवन से ब्लड शुगर की मात्रा तेजी से नहीं बढ़ेगी। (13) इसलिए सूखा आलूबुखारा (Dried Plums) ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है। 

इसके आलावा भी सूखे आलूबुखारा में मौजूद फाइबर आपके पेट को भरा हुआ रखते हैं, जिससे आप डायबिटीज में अतरिक्त खाने से बच जाते हैं।

और पढ़ें – जानिए मधुमेह रोगी डायबिटीज में क्या खाएं और क्या न खाएं।

सूखा आलूबुखारा के लाभ है दिल की सेहत के लिए – Sukha Aloo Bukhara Ke Fayde 

नियमित रूप से आलूबुखारा खाने से हृदय स्वास्थ्य पर सुरक्षात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

स्टडी के अनुसार, आलूबुखारा  खाने से उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम किया जा सकता है, जो हृदय रोग के लिए प्रमुख जोखिम कारक हैं।

एक अध्ययन में बताया गया है कि जो लोग नियमित रूप से प्रून जूस पीते थे और आठ सप्ताह तक हर सुबह तीन से छह प्रून खाते थे, उनका रक्तचाप, कुल कोलेस्ट्रॉल और “खराब” एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर, प्रून डाइट ना लेने वालों की तुलना में काफी कम था। (14)

और पढ़ें – HDL Cholesterol क्या है? जानिए गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने के तरीके

​प्रेग्‍नेंसी में आलूबुखारा खाने के फायदे – Sukha Aloo Bukhara in Pregnancy

प्रून हीमोग्लोबिन बनाने में मदद करता है, जिससे गर्भावस्था के दौरान एनीमिया को रोकने में मदद मिलती है।

आलूबुखारा गर्भवती और उसके बच्चे को प्रतिरोधक क्षमता बनाने में भी मदद करता है। आलूबुखारा खाने से आपके ऊर्जा का स्तर बना रहता है और साथ ही आलूबुखारा खाने से पाचन क्रिया अच्छी बनी रहती है और थकान दूर होती है।

गर्भावस्था के पहली तिमाही के दौरान, महिलाओं को चिंता का अनुभव हो सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, आलूबुखारा में पोटेशियम की उच्च मात्रा चिंता और अवसाद को कुछ हद तक कम करने में मदद कर सकता है।

इसलिए गर्भावस्था में सूखा आलूबुखारा (सूखा पल्म) खाना फायदेमंद हो सकता है।

और पढ़ें – जानिए प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए।

सूखा पल्म (सूखा आलूबुखारा) कब खाना चाहिए? | When to Eat Dry Aloo Bukhara in Hindi

सूखे आलूबुखारा (सूखे पल्म) खाने का कोई निश्चित समय नहीं है। आप इसे सुबह के नाश्ते या शाम के नाश्ते में खा सकते हैं।

ध्यान रहे प्रून्स का अधिक सेवन स्वस्थ के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है। सूखे आलूबुखारा से होने वाले नुकसान की जानकारी नीचे बताई गई है।

और पढ़ें – किडनी स्टोन में लो ऑक्सलेट डाइट के फायदे

मुझे प्रति दिन कितने आलूबुखारे खाने चाहिए? | How Many Prunes Should I Eat Per Day in Hindi

डॉक्टर के अनुसार, आपको एक दिन में कितने आलूबुखारे खाने चाहिए, यह सूखे आलूबुखारा के आकार पर निर्भर करता है। हालांकि, वर्तमान शोध में प्रति दिन 50 ग्राम प्रून की खाने की सलाह दी जाती है। जो लगभग 5 से 6 प्रून के बराबर है।

सूखे प्लम को अपने आहार में कैसे शामिल करें | How to Add Plums to Our Diet in Hindi

अपने आहार में आलूबुखारा जोड़ने के कुछ आसान तरीके यहां दिए गए हैं:

सूखा आलूबुखारा खाने का तरीका | Use of Dried Aloo Bukhara | सूखे पल्म का उपयोग

  • आलूबुखारे को अकेले नाश्ते के रूप में खा सकते हैं।
  • ओटमील में आलूबुखारा मिला कर खा सकते हैं।
  • आलूबुखारा को नट्स, अन्य सूखे मेवे जैसे खुबानी, और डार्क चॉकलेट चिप्स के साथ मिला कर खा सकते हैं।
  • पेय या स्मूदी के रूप में सेवन कर सकते हैं
  • प्रून जूस बनाकर भी पी सकते हैं।
  • सूखा आलूबुखारा को आप आइसक्रीम व केक की टॉपिंग के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • “प्रून बटर” या जैम के रूप में आलूबुखारा खा सकते हैं।
  • आलूबुखारे की आप खट्टी-मिठ्ठी चटनी भी बना सकते हैं।

और पढ़ें –  Prediabetes क्या है? जानिए पूर्व मधुमेह के लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक उपचार

सूखा आलूबुखारा के नुकसान | Prunes Side Effects in Hindi

सूखे आलूबुखारा (Dried Aloo Bukhara Benefits) का सेवन करना काफी सुरक्षित माना जाता है और इसके कोई दुस्प्रभाव भी नहीं देखे जाते हैं। हालांकि, इसका अधिक सेवन स्वास्थ के लिए कभी-कभी हानिकारक भी हो सकता है। 

अधिक सूखे आलूबुखारे खाने के निम्नलिखित नुकसान हो सकते हैं-

सूखे आलूबुखारा के नुकसान है गैस और सूजन – Disadvantages of Dried Aloo Bukhara

सूखे आलूबुखारा में सोर्बिटोल होता है, ये एक प्रकार की चीनी है जो गैस और सूजन का कारण बन सकती है। 

सूखे पल्म के दुष्प्रभाव है दस्त – Drawback of Dried Plum

प्रून्स (सूखे आलूबुखारा) में अघुलनशील फाइबर भी पाए जाते हैं, जिसका अधिक सेवन दस्त का कारण बन सकता है।

सूखे प्रून्‍स के हानिकारक प्रभाव है कब्ज़ – Side effects of Prunes

जब आप फाइबर का सेवन बढ़ाते हैं, तो पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ पीना महत्वपूर्ण होता है। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं, तो आपको कब्ज हो सकती है। इसलिए अपने आहार में सूखा आलूबुखारा शामिल करते समय खूब पानी पीना सुनिश्चित करें।

ड्राई प्रून्‍स के नुकसान है एलर्जी – Prunes Side effects

ड्राई प्रून्स (आलूबुखारा) में हिस्टामाइन की थोड़ी मात्रा मौजूद होती है, जिससे आपको एलर्जी हो सकती  है। यदि आप ड्राई आलूबुखारा खाने से एलर्जी के लक्षणों अनुभव करते हैं तो आलूबुखारा खाना तुरंत बंद कर दें, और डॉक्टर से सलाह लें।

आलूबुखारा की इन समस्याओं से बचने के लिए आलूबुखारे को धीरे-धीरे अपने आहार में शामिल करें। ताकि पाचन तंत्र और आलूबुखारा का तालमेल बिठाया जा सके, और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की परेशानी को कम किया जा सके।

सूखा आलूबुखारा और आलूबुखारा फल में अंतर | Difference Between Dried Plum and Plum Fruit in Hindi

सूखा आलूबुखारा और आलूबुखारा फल में अंतर
Image source: freepik.com

आलूबुखारा रसदार फल है। जब ये फल सूख जाता है, तो इसे सूखा आलूबुखारा कहा जाता है। आइए नीचे विस्तार से जानते हैं, दोनों के बीच में क्या अंतर है-

सूखा आलूबुखारा

(Dried Plums)

आलूबुखारा फल

(Plums Fruit)

सूखा आलूबुखारा चिपचिपा और चबाने वाला होता है जिसमें एक केंद्रित मिठास होती है। आलूबुखारा गुठली वाला फल है, जो मीठे और रसीले होते हैं।
सूखा आलूबुखारा फल से भी ज्यादा मीठा होता है आलूबुखारा एक मीठा फल होता है।
सूखे आलूबुखारा में कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा आलूबुखारा फल से ज्यादा होती हैं। आलूबुखारा में कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सूखे आलूबुखारा से कम होती है, हालांकि दोनों ही पोष्टिक होते हैं।
सूखे आलूबुखारे में विटामिन-सी कम होता है। जबकि, आलूबुखारा में विटामिन- सी की मात्रा अधिक होती है।
सूखे आलूबुखारा फल में पानी की मात्रा कम (30.92g/ 100g) होती है। आलूबुखारा फल में पानी की मात्रा ज्यादा (87.23g/ 100g) होती है।
सूखा आलूबुखारा (प्रून्स) में फाइबर की मात्रा अधिक होती है। सूखा आलूबुखारा (प्रून्स) में फाइबर की मात्रा कम होती है।

सूखे पल्म (सूखे आलूबुखारा) कहाँ से खरीदें | Where to Buy Prunes in Hindi

यदि आप सूखे पल्म खरीदना चाहते हैं तो आप सूखे पल्म के पैकेट Flipkart या Amazon की वेबसाइट से ऑनलाइन खरीद सकते हैं। या अपने घर के पास की किराना स्टोर से भी ले सकते हैं।

सूखे पल्म (सूखे आलूबुखारा) की कीमत क्या है? | What is the cost of dried palm in Hindi

सूखे आलूबुखारा (सूखे पल्म) की कीमत 100rs/ 200 gm के असा-पास है। हालांकि ऑनलाइन लेने से आपको सूखा आलूबुखारा थोड़े कम दाम में भी मिल सकता है।

सूखे पल्म (सूखे आलूबुखारा) कैसे स्टोर करें | How to Store Prunes in Hindi

ड्राई आलूबुखारा (सूखे पल्म) को एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करें। यदि आप आलूबुखारा को सूखे और अंधेरी जगह में स्टोर करते हैं तो इसे कई महीनों तक रखा जा सकता है।

रेफ्रिजरेटर (2-8°C) में स्टोर करने से इसकी ताजगी बानी रहती है, जिससे वे लगभग छह महीने तक स्टोर हो सकते हैं।

और पढ़ें –  फूड पाइजनिंग के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज

निष्कर्ष | Conclusion

सूखा आलूबुखारा विटामिन, खनिज, फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट का एक उत्कृष्ट स्रोत है।

इसके अतिरिक्त, ये सेहत के लिए काफी लाभदायक माने जाते हैं जो कई प्रकार की पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं, जैसे कि कब्ज, कैंसर, हृदय रोग और मधुमेह।

सूखे पल्म का स्वाद काफी बेहतरीन होता है। इसके अलावा, सूखे पल्म का उपयोग करना काफी सरल भी है।

सूखे आलूबुखारा को आप नाश्ते के रूप में ओटमील के साथ मिला कर खा सकते हैं, आप इसे  नट्स के रूप में, पेय या स्मूदी के रूप में या प्रून जूस के रूप में भी ले सकते हैं।


ये हैं सूखे आलूबुखारा के फायदे और नुकसान के बारे में बताई गई पूरी जानकारी। कमेंट में बताएं आपको Prunes Benefits in Hindi पोस्ट कैसी लगी। अगर आपको पोस्ट पसंद आई हो, तो इसे शेयर जरूर करें।

वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें। 

सन्दर्भ (References)

1. Piga A, Del Caro A, Corda G. From plums to prunes: influence of drying parameters on polyphenols and antioxidant activity. J Agric Food Chem. 2003 Jun 4;51(12):3675-81.

2. nutritiondata : Plums, dried (prunes), uncooked Nutrition Facts & Calories

3. Kayano S, Kikuzaki H, Yamada NF, Aoki A, Kasamatsu K, Yamasaki Y, Ikami T, Suzuki T, Mitani T, Nakatani N. Antioxidant properties of prunes (Prunus domestica L.) and their constituents. Biofactors. 2004;21(1-4):309-13.

4. Ahmed T, Sadia H, Batool S, Janjua A, Shuja F. Use of prunes as a control of hypertension. J Ayub Med Coll Abbottabad. 2010 Jan-Mar;22(1):28-31.

5. Lever E, Cole J, Scott SM, Emery PW, Whelan K. Systematic review: the effect of prunes on gastrointestinal function. Aliment Pharmacol Ther. 2014 Oct;40(7):750-8.

6. Wang LS, Stoner GD. Anthocyanins and their role in cancer prevention. Cancer Lett. 2008;269(2):281-290.

7. Gallaher CM, Gallaher DD. Dried plums (prunes) reduce atherosclerosis lesion area in apolipoprotein E-deficient mice. Br J Nutr. 2009 Jan;101(2):233-9.

8. Gunness P, Gidley MJ. Mechanisms underlying the cholesterol-lowering properties of soluble dietary fibre polysaccharides. Food Funct. 2010 Nov;1(2):149-55.

9. Hooshmand S, Arjmandi BH. Viewpoint: dried plum, an emerging functional food that may effectively improve bone health. Ageing Res Rev. 2009 Apr;8(2):122-7.

10. Schreurs, AS., Shirazi-Fard, Y., Shahnazari, M. et al. Dried plum diet protects from bone loss caused by ionizing radiation. Sci Rep 6, 21343 (2016).

11. Dreher ML. Whole Fruits and Fruit Fiber Emerging Health Effects. Nutrients. 2018 Nov 28;10(12):1833.

12. Furchner-Evanson A, Petrisko Y, Howarth L, Nemoseck T, Kern M. Type of snack influences satiety responses in adult women. Appetite. 2010 Jun;54(3):564-9.

13. Stacewicz-Sapuntzakis M, Bowen PE, Hussain EA, Damayanti-Wood BI, Farnsworth NR. Chemical composition and potential health effects of prunes: a functional food? Crit Rev Food Sci Nutr. 2001 May;41(4):251-86.

14. Ahmed T, Sadia H, Batool S, Janjua A, Shuja F. Use of prunes as a control of hypertension. J Ayub Med Coll Abbottabad. 2010 Jan-Mar;22(1):28-31.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.