Benefits Of Walking in Hindi

Benefits Of Walking: पैदल चलने के फायदे, नुकसान और चलने का सही तरीका

Benefits Of Walking in Hindi : स्वस्थ रहने के लिए डॉक्टर हमेशा पैदल चलने पर जोर देते हैं। लेकिन क्या सच में पैदल चलने के फायदे हैं? इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको पैदल चलने के फायदे और नुकसान के बारे में बता रहे हैं साथ ही पैदल चलने का सही तरीका भी दिया गया है ताकि चलने के दौरान आपको कोई नुकसान ना हों।

और पढ़ें – C Reactive Protein (CRP) क्या है? जानिए रक्त में उच्च सीआरपी का क्या अर्थ है।

एक दिन में क‍ितने कदम चलना चाहिए? | How many steps should I walk in a day in Hindi

अक्‍सर पूछा जाता है क‍ि एक दिन में क‍ितने कदम चलना चाहिए (How Much Should You Walk Per Day)।  अमेरिका जैसी कुछ संस्था (Center for disease control and prevention-CDC) स्वस्थ रहने और लम्बी आयु के लिए प्रति दिन 10,000 कदम चलने का लक्ष्य देती हैं जो की लगभग 8 किलोमीटर के बराबर है। (1)

हालांकि हाल में की गई स्टडी के अनुसार, स्वस्थ रहने और लंबी उम्र के लिए एक दिन में 10,000 कदम चलना जरूरी नहीं है। (2) एक्सपर्ट की माने तो हफते में 5 दिन कम से कम 30-45 मिनट टहलना स्वास्थ के लिए अच्छा माना जाता है। (3) अगर आपके पास ज्यादा समय है, तो आप इसे बढ़ा भी सकते हैं।

पैदल चलने का मतलब यह नहीं है, कि आपको रोजाना 6 या 8 किलोमीटर पैदल चलना है, बल्कि आप 30-45 मिनट तक चलें चाहे वह दूरी कम ही क्यों ना हो।

और पढ़ें – नींद के दौरान सांस का बार-बार रुकना (लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज)

चलिए अब समझते हैं पैदल चलने के फायदे और नुकसान के बारे में।

पैदल चलने के फायदे | Benefits of Walking in Hindi

पैदल चलने के फायदे
Image source : unsplash.com

रोजाना पैंतालीस (45) मिनट वॉक (पैदल चलना) ना सिर्फ आपका वजन हेल्दी रहता है, बल्कि यह आपकी इम्युनिटी और दिल को भी मजबूत रखता है। वैज्ञानिक स्टडी के आधार पर पैदल चलने के फायदे निम्नलिखित हो सकते हैं।

  • ब्‍लड प्रेशर कम करने में,
  • वजन घटाने में,
  • मधुमेह को नियंत्रित करने में,
  • अच्छी नींद लाने में,
  • फेफड़ों की क्षमता बढ़ाने में,
  • मस्तिष्क कार्य में सुधार लाने में,
  • स्वस्थ प्रेगनेंसी में,
  • स्वस्थ स्किन में,
  • मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में,
  • ह्रदय स्वास्थ को बनाए रखने में,
  • मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द में,
  • एनर्जी स्तर को बढ़ाने में।

पैदल चलने के फायदे हाई ब्‍लड प्रेशर कम करने में – Benefits of Walking for High Blood Pressure in Hindi

उच्च रक्तचाप अक्सर संकुचित रक्त वाहिकाओं का परिणाम होता है। विशेषज्ञों के अनुसार, एक अच्छी वॉक इन संकुचित रक्त वाहिकाओं को चौड़ा करने में मदद करती हैं।

एक कोरियाई अध्ययन से पता चलता है कि दिन में सिर्फ 30-40 मिनट चलने से उच्च रक्तचाप वाले लोगों में रक्तचाप कम हो जाता है। (4) इसलिए पैदल चलने का फायदा हाई ब्‍लड प्रेशर कम करने में हो सकता है।

और पढ़ें – जानिए हार्ट अटैक कब, कैसे और क्यों आता है।

मॉर्निंग वॉक के फायदे वजन घटाने में – Benefits of Morning Walk for Weight Loss in Hindi

Benefits of Morning Walk for Weight Loss in Hindi
Image Source : pexels.com

क्या पैदल चलने से वजन कम होता है? अक्सर ये सवाल हमारे मन में आता है। इसका जवाब है हां, आप अपना वजन पैदल चल कर कम कर सकते हैं।

वजन नियंत्रण के लिए शारीरिक गतिविधि जैसे चलना बहुत जरूरी है। नियमित रूप से टहलने से अतिरिक्त कैलोरी बर्न करने में मदद मिल सकती है।

अब सवाल ये है कि Weight कम करने के लिए कितना चलना चाहिए? अगर आप अपनी दिनचर्या में 30 मिनट ब्रिस्क वॉकिंग को शामिल करते हैं, तो आप एक दिन में लगभग 150 कैलोरी तक बर्न कर सकते हैं। (5)

ब्रिस्क वॉक दौड़ने और पैदल चलने के बीच की मुद्रा है।

विशेषज्ञों के अनुसार, आप जितना अधिक पैदल चलेंगे और आपकी गति जितनी तेज होगी, उतनी ही अधिक कैलोरी आप बर्न कर पाएंगें। (6)

एनसीबीआई में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि भोजन के 1 घंटे बाद चलने की तुलना में भोजन के तुरंत बाद चलना वजन घटाने के लिए अधिक प्रभावी है। (7)

हालांकि इसे अधिक करने से आपकी मांसपेशियों में खिंचाव आ सकता है, जिससे हृदय में अतिरिक्त दबाव के साथ-साथ शरीर में चोट लगने का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए ऐसे व्यक्ति जिन्हें हृदय संबंधी या कोई अन्य जटिल रोग हैं, उन्हें डॉक्टर के अनुसार चलने की गति और दूरी का पालन करना चाहिए।

और पढ़ें – इस्केमिक हृदय रोग क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

सवेरे पैदल चलने के फायदे मधुमेह को नियंत्रित करने में – Walking Benefits for diabetes in Hindi

बुजुर्गों में मधुमेह होने का खतरा अधिक होता है, लेकिन थोड़ा व्यायाम बहुत बड़ा बदलाव ला सकता है।

मॉर्निंग वॉक (सुबह के समय पैदल चलना) या इवनिंग वॉक (शाम के समय पैदल चलना) उन लोगों के लिए फायदेमंद (Health benefits of walking in hindi) है जिन्हें पहले से डायबिटीज है।

कुछ अध्ययन भी इस बात कि पुष्टि  करते हैं कि नियमित रूप से चलना रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। (8)

डायबिटीज केयर में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया है कि दिन में तीन बार (नाश्ते, दोपहर के भोजन और रात के खाने के बाद) 15 मिनट का वॉक रक्त शर्करा के स्तर में सुधार ला सकता है। (9)

इसलिए, चाहे आपको टाइप 1, टाइप 2 या किसी अन्य प्रकार का मधुमेह हो, पैदल चलना शारीरिक रूप से सक्रिय होने और अपनी दिनचर्या में गति लाने का एक अच्छा तरीका है।

और पढ़ें – हार्ट फेल का कारण बन सकता है कार्डियक अस्थमा

वॉक करने के फायदे अच्छी नींद के लिए –  Benefits of walk for Sleep in Hindi

Benefits of walk for Sleep Better in Hindi
Image source : freepik.com

पैदल चलने का फायदा अच्छी नींद लाने में हो सकता है। अध्ययन में पाया गया कि पैदल चलने का सकारात्मक संबंध बेहतर नींद से है।

2019 के एक अध्ययन में पाया गया कि पोस्टमेनोपॉज़ल महिलाएं जो हल्की से मध्यम-तीव्रता वाली शारीरिक गतिविधि करती हैं, वे उन महिलाओं की तुलना में बेहतर ढंग से सो पाती थीं जो महिलाऐं कम गतिविधि करती थीं। (10)

एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि स्वस्थ वयस्क जो रोजाना चलते हैं, उनकी नींद की गुणवत्ता और नींद की लंबाई पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। रोजाना पैदल चलना से यह शरीर में होने वाले दर्द और तनाव को कम करने में मदद करता है, जिससे नींद की गुणवत्ता में सुधर आता है। (11) इसलिए पैदल चलने का फायदा अच्छी नींद लाने में हो सकता है।

और पढ़ें – किडनी रोगियों के लिए कम प्रोटीन डाइट

ब्रिस्क वॉक के फायदे फेफड़ों की क्षमता बढ़ाने में  – Walking benefits for lung capacity and strength in Hindi

पैदल चलने के दौरान हमारा हृदय और फेफड़े एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। फेफड़े शरीर में ऑक्सीजन लाते हैं, ऊर्जा प्रदान करते हैं, और कार्बन डाइऑक्साइड को हटाते हैं जबकि हृदय व्यायाम करने वाली मांसपेशियों को ऑक्सीजन देता है।

2016 की एक स्टडी में बताया गया है कि रोजाना चलने से आपका चेस्ट कैविटी का विस्तार होता है और फेफड़ों की क्षमता बढ़ती है। यह फेफड़ों और डायाफ्राम के मुक्त संचलन की अनुमति देता है, जो गहरी सांस लेने को प्रोत्साहित करता है और सांस की तकलीफ में मदद करता है। (12)

और पढ़ें –  इन एंटीऑक्सीडेंट आहार से करें अपना वजन कम।

30 मिनट पैदल चलने के फायदे मस्तिष्क कार्य में सुधार लाने में – Walking benefits for Brain Function in Hindi

पैदल चलने से हमारा मस्तिष्क एंडोर्फिन रिलीज़ करता है, यह एंडोर्फिन एक न्यूरोट्रांसमीटर होर्मोनेस है जो हमारे मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ाता है।

रोजाना चलने की प्रक्रिया मस्तिष्क के विभिन्न क्षेत्रों का विस्तार कर सकती है, जो दिमागी कार्यक्षमता को बढ़ा कर इससे जुड़ी स्थितियों में सुधार ला सकता है। इसे देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि रोजाना 30 मिनट चलने के फायदे न सिर्फ याददाश्त को बढ़ाने में होता है, बल्कि भूलने की आदत में भी सुधार आ सकता है। (13)

और पढ़ें – आयरन की कमी को दूर करते हैं ऐसे आहार।

तेज गति से चलने के फायदे स्वस्थ प्रेगनेंसी के लिए – Brisk walking benefits during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था में नियमित रूप से तेज पैदल चलना गर्भावस्था और प्रसव के दौरान जटिलताओं के जोखिम को कम करता है, आपकी पीठ को मजबूत बनता है, बढ़ते पेट को सहारा देता है और पीठ दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान चलने से पैल्विक मांसपेशियां मजबूत होती हैं और साथ ही आपके मूड और ऊर्जा के स्तर को भी बढ़ावा मिलता है। (14)

और पढ़ें – नजरअंदाज न करें गर्भावस्था में होने वाली इन समस्याओं को

प्रातःकाल की सैर के लाभ स्किन के लिए – Benefits of walking for skin in Hindi

पैदल चलने से रक्त पूरे शरीर में अच्छे से पहुंच पाता है, जो न केवल अंगों के लिए अच्छा है, बल्कि यह आपकी त्वचा के लिए भी अच्छा है। कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि शारीरिक गतिविधि करने (व्यायाम) से शरीर में ऑक्सीजन की प्रतिक्रिया बढ़ती है, जिससे त्वचा की कोशिकाएं को सुरक्षा मिलती है और त्वचा में निखार आता है। (15)

इसके अलावा नियमित चलने से यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करता है साथ ही पिंपल्स, मुंहासों और त्वचा की अन्य समस्याओं से बचने में मदद करता है।

और पढ़ें – हृदय रोगियों के लिए डाइट प्लान।

रोजाना चलने के फायदे मानसिक स्वास्थ्य के लिए – Benefits of walking for mental health in Hindi

नियमित रूप से पैदल चलने से यह आपको डिप्रेशन और चिंता जैसी गंभीर बीमारी से मुक्त कर सकता है।

एनसीबीआई पर प्रकाशित एक शोध में पाया गया है कि डिप्रेशन से पीड़ित मरीज अगर रोज 20 से 40 मिनट की सैर करें, तो उनकी स्थिति में काफी सुधार देखने को मिल सकता है। इसके अलावा शोध से पता चलता है कि शारीरिक व्यायाम, जैसे चलना, वृद्ध महिलाओं में मस्तिष्क के कार्य में सुधार कर सकता है। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि ये लाभ मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह में वृद्धि के कारण हो सकते हैं। (16)

कुछ अन्य अध्ययन भी साबित करते हैं कि पैदल चलने से दिमाग तेज होता है और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार आता है। यह आपकी एकाग्रता शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है।

और पढ़ें – हर्बल चाय (हर्बल टी) के 8 फायदे और नुकसान।

शाम की सैर के फायदे (इवनिंग वॉक के फायदे) ह्रदय स्वस्थ को बनाए रखने में – Benefits of walking for heart in Hindi

यदि आपको उच्च रक्तचाप है या आपका ट्राइग्लिसराइड का स्तर औसत से ऊपर है, तो अब आपको पैदल चलना शुरू कर देना चाहिए। एक नियमित सैर रक्तचाप और ट्राइग्लिसराइड के स्वस्थ स्तर  को बनाए रखने में मदद कर सकती है। कुछ अध्ययन भी इस बात की पुष्टि करते है कि सुबह की नियमित सैर से हृदय संबंधित बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है। (17)

शोधकर्ताओं ने कहा कि जो लोग एक दिन में 4,000 से 8,000 कदम चलते हैं, वे कैंसर या हृदय रोग से मृत्यु के जोखिम को दो-तिहाई तक कम कर सकते हैं। (18)

इवनिंग वॉक के फायदे मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द में – Evening walk benefits for Muscle and Joint Pain in Hindi

Tips for walking properly in Hindi
Image Source : pexels.com

बढ़ती उम्र जोड़ों के दर्द (कोहनी, घुटने और कूल्हे) का एक प्रमुख कारण हो सकता है। इसके अलावा बढ़ती उम्र के साथ हड्डियों का घनत्व भी कम होने लगता है, जिससे वे कमजोर और भंगुर हो सकती हैं। यह बीमारियां गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस के प्रमुख लक्षण हैं।

कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस से निपटने में तेज चलना बेहद फायदेमंद (paidal chalne ke fayde) हो सकता है। इसके अलावा नियमित रूप से पैदल चलना से भी जोड़ों के दर्द को रोकने में मदद मिल सकती है। (19)

और पढ़ें – फूड पाइजनिंग के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज

सुबह पैदल चलने के फायदे एनर्जी स्तर को बढ़ाने में – Walking Boost your energy in Hindi

पैदल चलने से शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ता है। इसके अलावा कोर्टिसोल, एपिनेफ्रीन और नॉरपेनेफ्रिन जैसे हार्मोन के स्तर में भी बढ़ोतरी हो सकती है। ये ऐसे हार्मोन हैं जो ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद करते हैं। कुछ  अध्ययन भी इस बात हैं कि नियमित चलने से रात में बेहतर नींद लेने में मदद मिलती है, जिससे अधिक ऊर्जा और ध्यान केंद्रित होता है। (20)

पैदल चलने के नुकसान – Drawbacks of walking in Hindi

पैदल चलने के नुकसान 
Image source : freepik.com

चलना स्वस्थ के लिए काफी फायदेमंद है और इसके कोई नुकसान भी नहीं हैं परन्तु गलत तरीके से चलने से आपको निम्नलिखित नुकसान हो सकते हैं। (21)

  • गलत चलने से यह कमर में दर्द पैदा कर सकता है,
  • गलत मुद्रा (wrong posture) रीढ़ की हड्डी पर कई नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है,
  • गलत चलने से यह पैरों में सूजन ला सकता है,
  • पैदल चलने का गलत तरीका गर्दन में अकड़न कर सकता है,
  • पैदल चलने का गलत तरीका ह्रदय रोगियों को नुकसान पंहुचा सकता है,
  • गलत चलने से यह शरीर की मांसपेशियों में दर्द पैदा कर सकता है,
  • गलत चलने से कन्धों में दर्द हो सकता है,
  • गर्दन की मांसपेशियों में अकड़न के कारण सिर दर्द हो सकता है,
  • पैदल चलने का गलत तरीका रक्त परिसंचरण को ख़राब कर सकता है।

इसलिए चलने का सही पॉश्चर (आसन) जरूरी है। अब जानते हैं पैदल चलने का सही तरीका क्या है।

और पढ़ें – साइनोसाइटिस (साइनस) के लक्षण, कारण और इलाज (आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक)

पैदल चलने का सही तरीका | Tips to walk properly in Hindi

Tips to walk properly in Hindi
Image source : freepik.com

पैदल चलना एक ऐसी गतिविधि है जिसमें आपका पूरा शरीर शामिल होता है। हममें से अधिकांश लोग स्वस्थ रहने के लिए सुबह-शाम पैदल चलते है, पर हमें यह पता नहीं होता की ठीक से चलने का तरीका (या वॉक करने का सही तरीका) क्या है। निम्नलिखित बातों को ध्यान में रख कर यदि आप ठीक से चलेंगे तो आपका पैदल चलना और भी आसान और प्रभावी हो जाएगा। ठीक से चलने के तरीकों में शामिल हैं – (22  &  23)

चलने का सही तरीका है चलते समय आगे की ओर ना झुकें – Stand upright as you walk

पैदल चलते वक्त झुकने, आगे की ओर झुकने या टेढ़े होने से बचे। ऐसा इसलिए क्योंकि गलत पोस्चर आपकी पीठ की मांसपेशियों में दर्द और गर्दन में अकड़न पैदा कर सकता है।

इसके अलावा गलत पोस्चर अन्य शारीरिक परेशानियां भी ला सकता है। इस बात का ध्यान रखें कि जब आप चल रहे हों तो आपका ध्यान आगे की ओर ध्यान क्रेन्द्रित हो।

और पढ़ें – Acid reflux (हाइपर एसिडिटी) और खट्टी डकार से छुटकारा पाने का घरेलू इलाज

पैदल चलते का सही तरीका है अपना मस्तक ऊंचा रखें – Keep your head up

सिर को नीचे करके चलने (जैसे, अपना फोन चेक करते समय) से आपके ऊपरी शरीर में तनाव पैदा हो सकता है और आपकी गर्दन पर दबाव आ सकता है। इसलिए ठीक से चलने के लिए अपने सर को ऊंचा और ठुड्डी को जमीन के समानांतर रखें।

और पढ़ें – हर्पीस सिम्पलेक्स वायरस: लक्षण, कारण और इलाज

ब्रिस्क वॉक करने का सही तरीका है चलते समय शोल्डर्स पीछे की तरफ खिंचा हुए, लेकिन ढ़ीले हों – Keep your shoulders pulled back, but relaxed

आपके कंधे भी आपके चलने की मुद्रा और तकनीक में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यदि आपके कंधे तनावग्रस्त हैं या आगे की ओर झुके हुए हैं, तो यह आपके कंधों, गर्दन और पीठ के ऊपरी हिस्से की मांसपेशियों और जोड़ों पर दबाव डाल सकता है। इसलिए पैदल चलते समय शोल्डर्स को हल्का सा पीछे की ओर खींच कर रखें।

वॉक करने का सही तरीका है अपनी आर्म्स को स्विंग करें – Swing your arms while walking

वॉक करते समय (पैदल चलते समय) अपनी आर्म्स को स्विंग कराना अच्छा माना जाता है। इस बात का हमेशा ध्यान रहे कि आप अपनी बाहों को अपने कंधों से स्विंग करें, न कि अपनी कोहनी से। इसके आलावा अपनी बाहों को बहुत ऊपर यानि छाती  तक न उठाएं।

वॉक धीमी गति के साथ शुरू करें – Walk start with slow pace

जब भी आप टहलने जाएं तो सबसे पहले खुद को वार्मअप करें। इसके लिए आप पहले हल्की गति से 5 से 10 मिनट तक चलें ताकि आप वार्मअप हो सके। वार्मअप के दौरान आप अपने कदम छोटे रखें और साथ ही अपने पैरों में अतरिक्त दबाव ना डालें।

और पढ़ें – मेनियार्स रोग क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

वार्म अप करने के बाद अपनी गति बढ़ाएं – Increase your speed after warming up

वार्मअप होने के बाद आप अपनी स्पीड को बढ़ा सकते हैं। स्टडी के अनुसार 30 mins तक तेज गति से चलना स्वस्थ के लिए काफी लाभदायक होता है।

तेज गति से चलने से हृदय तेजी से रक्त पंप करने लगता है और पूरे शरीर में आपका रक्त संचार अच्छी तरह से होने लगता है। स्टडी के अनुसार तेज स्पीड से वॉक करना रक्तचाप को कम करने और पैरों की मांसपेशियों के संकुचन को बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है।

धीमी गति से चलना समाप्त करें – Cool down at the end of your walk

जब आपको लगे की आपको अपनी वॉक समाप्त करनी है तो इसे तुरंत ना रोकें। इसके लिए आप पहले अपनी गति को कम करें और फिर वॉक को समाप्त करें। इस धीमी स्पीड में 5 से 10 मिनट तक वॉक करें। तेज चलने के बाद, एक कूलडाउन सत्र आपकी तेज़ हृदय गति को वापस लाने में मदद कर सकता है।

निष्कर्ष | Conclusion

सही तरीके के साथ चलने के कई फायदे होते हैं। यह आपकी मांसपेशियों पर अनावश्यक तनाव को कम कर सकता है, पीठ और कमर के दर्द को रोक सकता है और साथ ही गर्दन की चोट के जोखिम को कम कर सकता है। हालांकि, सही तरीके से चलने के लिए आपको कुछ नियमों का पालन करना है जिसमें चलते समय आपको आगे की ओर नहीं झुकना है, सिर ऊंचा रखना है, आर्म्स को स्विंग करते रहना है, शोल्डर्स पीछे की तरफ खिंचा हुआ रखना है आदि।

रोजाना 30-45 मिनट पैदल चलने के फायदे ब्‍लड प्रेशर कम करने से लेकर मधुमेह नियंत्रित करने में हो सकता है। इसके अलावा भी मॉर्निंग वॉक के फायदे विभिन्न प्रकार के रोगों के उपचार में होता है।

वॉकिंग के लिए ना आपको ज्यादा कुछ इन्वेस्ट करना पड़ता है ना ही आपको कोई विशेष तकनीक अपनानी होती है। बस आपको एक वॉकिंग शूज पहन कर वॉक पर निकल जाना है।

हालांकि, ऐसे रोगी जो जटिल ह्रदय रोग या अन्य जटिलताओं से गुजर रहें है उन्हें वॉक  अपने डॉक्टर के अनुसार ही करना चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल | FAQ in Hindi

Q. खाना खाने के बाद कितने कदम चलना चाहिए?

Ans. विशेषज्ञों का मानना है कि लंच या डिनर करने के बाद कम से कम 100 कदम (या 10 मिनट की पैदल दूरी) चलने से स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है। इसमें उचित पाचन, कैलोरी बर्न करना, रक्त शर्करा के स्तर का बेहतर नियंत्रण और शरीर में ट्राइग्लिसराइड्स शामिल हैं।

Q. 10000 कदम कितने किलोमीटर होते हैं?

10,000 कदम लगभग 8 किलोमीटर के बराबर होते हैं।

Q. तेज गति से चलने के फायदे क्या हैं?

तेज गति से चलने से स्वस्थ वजन बना रहता है। इसके अलावा यह हृदय रोग, स्ट्रोक, उच्च रक्तचाप, कैंसर और टाइप 2 मधुमेह सहित विभिन्न स्थितियों को नियंत्रित कर सकता है।

Q. शाम को घूमने के फायदे क्या हैं?

रात के खाने के बाद टहलने जाना “रक्त शर्करा के स्तर को थोड़ा और स्थिर रखने में मदद कर सकता है। इसके अलावा शाम को घूमने के फयदा अच्छी नींद लाने और पाचन क्रिया को ढंग से कार्य करने में मदद कर सकता है।

Q. 1 घंटा पैदल चलने से कितनी कैलोरी बर्न होती है?

ज्यादातर लोगों के लिए एक घंटे की सैर 210 और 360 कैलोरी के बीचबर्न होती है।

Q. एक दिन में कितने किलोमीटर चलना चाहिए?

नई स्टडी के अनुसार स्वस्थ रहने और लंबी उम्र के लिए एक दिन में 10,000 कदम चलना जरूरी नहीं है। बल्कि रोजाना 30-45 मिनट पैदल चलना सेहत के लिए अच्छा माना जाता है, चाहे आप कितने भी कदम चले हों।


ये हैं पैदल चलने के फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी। कमेंट में बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी। यदि आपको Benefits Of Walking in Hindi पोस्ट पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें।

वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए।

इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें।  

सन्दर्भ (References)

  1. Centers for Disease Control and Prevention : https://www.cdc.gov/diabetes/prevention/pdf/postcurriculum_session8.pdf
  2. Saint-Maurice PF, Troiano RP, Bassett DR, et al. Association of Daily Step Count and Step Intensity With Mortality Among US Adults. JAMA. 2020;323(12):1151–1160. https://jamanetwork.com/journals/jama/article-abstract/2763292
  3. Pleguezuelos E, Ramon MA, Moreno E, Miravitlles M. Caminar al menos 30 minutos al día 5 días por semana. ¿Por qué y cómo prescribir ejercicio físico en la enfermedad pulmonar obstructiva crónica? [Don’t forget to walk at least 30 minutes per day 5 days a week. Why and how to prescribe physical exercise in chronic obstructive pulmonary disease]. Med Clin (Barc). 2015 May 8;144(9):418-23. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25441024/ 
  4. Ideno Y, Hayashi K, Abe Y, et al. Blood pressure-lowering effect of Shinrin-yoku (Forest bathing): a systematic review and meta-analysis. BMC Complement Altern Med. 2017;17(1):409. Published 2017 Aug 16. doi:10.1186/s12906-017-1912-z- https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5559777/
  5. Ismail I, Keating SE, Baker MK, Johnson NA. A systematic review and meta-analysis of the effect of aerobic vs. resistance exercise training on visceral fat. Obes Rev. 2012 Jan;13(1):68-91. doi: 10.1111/j.1467-789X.2011.00931.x. Epub 2011 Sep 26. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21951360/
  6. Ohkawara K, Tanaka S, Miyachi M, Ishikawa-Takata K, Tabata I. A dose-response relation between aerobic exercise and visceral fat reduction: systematic review of clinical trials. Int J Obes (Lond). 2007 Dec;31(12):1786-97. doi: 10.1038/sj.ijo.0803683. Epub 2007 Jul 17. Erratum in: Int J Obes (Lond). 2008 Feb;32(2):395. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17637702/
  7. Hijikata Y, Yamada S. Walking just after a meal seems to be more effective for weight loss than waiting for one hour to walk after a meal. Int J Gen Med. 2011;4:447-450. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3119587/
  8. Qiu S, Cai X, Schumann U, Velders M, Sun Z, Steinacker JM. Impact of walking on glycemic control and other cardiovascular risk factors in type 2 diabetes: a meta-analysis. PLoS One. 2014;9(10):e109767. Published 2014 Oct 17. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4201471/
  9. Loretta DiPietro, Andrei Gribok, Michelle S. Stevens, Larry F. Hamm, William Rumpler; Three 15-min Bouts of Moderate Postmeal Walking Significantly Improves 24-h Glycemic Control in Older People at Risk for Impaired Glucose Tolerance. Diabetes Care 1 October 2013; 36 (10): 3262–3268. https://diabetesjournals.org/care/article/36/10/3262/30770/Three-15-min-Bouts-of-Moderate-Postmeal-Walking
  10. Creasy SA, Crane TE, Garcia DO, Thomson CA, Kohler LN, Wertheim BC, Baker LD, Coday M, Hale L, Womack CR, Wright KP, Melanson EL. Higher amounts of sedentary time are associated with short sleep duration and poor sleep quality in postmenopausal women. Sleep. 2019 Jul 8;42(7):zsz093. doi: 10.1093/sleep/zsz093. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30994175/
  11. Dolezal BA, Neufeld EV, Boland DM, Martin JL, Cooper CB. Interrelationship between Sleep and Exercise: A Systematic Review [published correction appears in Adv Prev Med. 2017;2017:5979510]. Adv Prev Med. 2017;2017:1364387. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5385214/
  12. Jun HJ, Kim KJ, Nam KW, Kim CH. Effects of breathing exercises on lung capacity and muscle activities of elderly smokers. J Phys Ther Sci. 2016;28(6):1681-1685. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4932035/
  13. Wojtys EM. Keep on Walking. Sports Health. 2015;7(4):297-298. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4481680/
  14. Connolly CP, Conger SA, Montoye AHK, et al. Walking for health during pregnancy: A literature review and considerations for future research. J Sport Health Sci. 2019;8(5):401-411. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6742678/
  15. Schagen SK, Zampeli VA, Makrantonaki E, Zouboulis CC. Discovering the link between nutrition and skin aging. Dermatoendocrinol. 2012;4(3):298-307. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3583891
  16. Yue, C.; Zhang, Y.; Jian, M.; Herold, F.; Yu, Q.; Mueller, P.; Lin, J.; Wang, G.; Tao, Y.; Zhang, Z.; Zou, L. Differential Effects of Tai Chi Chuan (Motor-Cognitive Training) and Walking on Brain Networks: A Resting-State fMRI Study in Chinese Women Aged 60. Healthcare 20208, 67. https://www.mdpi.com/2227-9032/8/1/67
  17. Murtagh EM, Murphy MH, Boone-Heinonen J. Walking: the first steps in cardiovascular disease prevention. Curr Opin Cardiol. 2010;25(5):490-496. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3098122/
  18. Saint-Maurice PF, Troiano RP, Bassett DR, et al. Association of Daily Step Count and Step Intensity With Mortality Among US Adults. JAMA. 2020;323(12):1151–1160. https://jamanetwork.com/journals/jama/fullarticle/2763292
  19. Bruno M, Cummins S, Gaudiano L, Stoos J, Blanpied P. Effectiveness of two Arthritis Foundation programs: Walk With Ease, and YOU Can Break the Pain Cycle. Clin Interv Aging. 2006;1(3):295-306. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2695175/
  20. Morris JN, Hardman AE. Walking to health. Sports Med. 1997 May;23(5):306-32. doi: 10.2165/00007256-199723050-00004. Erratum in: Sports Med 1997 Aug;24(2):96. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9181668/
  21. Kim D, Cho M, Park Y, Yang Y. Effect of an exercise program for posture correction on musculoskeletal pain. J Phys Ther Sci. 2015;27(6):1791-1794. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4499985/
  22. How to Walk Properly with Good Posture (Healthline)- https://www.healthline.com/health/how-to-walk
  23. How to Improve Your Walking Posture (verywellfit)- https://www.verywellfit.com/how-to-walk-walking-posture

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.