खाली पेट गुड़ खाने के फायदे और नुकसान

Benefits of Eating Jaggery | खाली पेट गुड़ खाने के फायदे और नुकसान

Benefits of Eating Jaggery in Hindi : गुड़ में कई तरह के विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो शरीर के कई रोगों को दूर करने में फायदेमंद हो सकते हैं। कई हेल्थ एक्सपर्ट खाली पेट गुड़ का सेवन करने की सलाह देते हैं। खाली पेट गुड़ का सेवन करने से पाचन को मजबूती मिलती है और शरीर में खून की कमी से भी राहत मिल सकती है। हालांकि, खली पेट गुड़ का अधिक सेवन स्वास्थ के लिए हानिकारक भी हो सकता है। इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको खाली पेट गुड़ खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बता रहे हैं। इसके अलावा सही गुड़ का चुनाव कैसे करें? यह भी बता रहे हैं।

आइये अब इस लेख को शुरू करते हैं। 

Contents hide

गुड़ क्या है? | Jaggery in hindi meaning

गुड़ एक प्रकार की अपरिष्कृत चीनी है जो मुख्य रूप से गन्ने के रस से बनाई जाती है जिसे तब तक उबाला जाता है जब तक कि यह जम न जाए। (1)

गुड़ को चीनी के मुकाबले ज्यादा गुणकारी माना जाता है। आयुर्वेद में तो गुड़ का इस्तेमाल औषधी के रूप में भी किया जाता है। 

गुड़ में कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फोलिक एसिड और आयरन जैसे अनेक पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो कई बिमारियों में फायदेमंद होते हैं।

गुड़ में मौजूद कैल्शियम और मैग्नीशियम हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। इतना ही नहीं गुड़ वजन घटाने, पाचन क्रिया तंदरुस्त करने, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने आदि में भी मदद करता है।

और पढ़ें – सूखे आलूबुखारा (सूखे पल्म) के फायदे और नुकसान 

गुड़ और चीनी में क्या अंतर है? | Difference Between Jaggery and Sugar in Hindi

गुड़ और चीनी में अंतर इस प्रकार हैं –

  • चीनी में सिर्फ कैलोरी होती है, जबकि गुड़ में कैलोरी के अलावा खनिज लवण, लोहा और कुछ फाइबर होते हैं, जो शरीर के लिए जरूरी होते हैं।
  • चीनी की बनावट कठोर, क्रिस्टलीकृत और ठोस होती है, जबकि गुड़ की बनावट अर्ध-ठोस, नरम और अनाकार होती है।
  • चीनी और गुड़ दोनों को गन्ने के रस से बनाया जाता है, लेकिन इन्हें अलग तरह से प्रोसेस किया जाता है।
  • दोनों गन्ने के रस को उबालकर बनाए जाते हैं। चीनी को स्पष्ट और पारदर्शी रूप देने के लिए चीनी की चाशनी को चारकोल के साथ मिलाया जा सकता है। दूसरी ओर, गुड़ को किसी भी प्रकार का ट्रीटमेंट नहीं दिया जाता है, सिवाय इसके कि गन्ने की चाशनी को गाढ़ा पेस्ट बनाने के लिए कई घंटों तक उबाला जाता है, जिसे बाद में एक सख्त आकार पाने के लिए एक सांचे में रखा जाता है।
  • चीनी को तैयार करते समय इसमें मौजूद महत्वपूर्ण पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं, जबकि गुड़ कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फोलिक एसिड और आयरन जैसे अनेक पोषक तत्व मौजूद रहते हैं।
  • गुड़ में मौजूद इन पोषक तत्वों की मौजूदगी के कारण यह चीनी से ज्यादा सेहतमंद होता है।

चलिए अब गुड़ खाने के फायदे और नुकसान को समझते हैं। 

खाली पेट गुड़ खाने के फायदे | Benefits of Eating Jaggery on Empty Stomach in Hindi | Khali Pet Gud Khane Ke Fayde

Benefits of Eating Jaggery in Hindi, खाली पेट गुखाने के फायदे और नुकसान,

गुड़ खाने के फायदे इस प्रकार हैं – 

1.  गुड़ खाने का लाभ एनर्जी बढ़ाने के लिए – Gud Ke Fayde for Energy in Hindi

गुड़ का सेवन करने से शरीर को कार्बोहाइड्रेट प्राप्त होता है। गुड़ में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं जो शरीर को एनर्जी देते हैं।

इसलिए बहुत ज्‍यादा थकान और कमजोरी महसूस करने वाले लोगो के लिए गुड़ बहुत फायदेमंद (khali pet gud khane ke fayde) होता है।

और पढ़ें – ये हैं चौलाई (राजगिरा) खाने के 14 फायदे और नुकसान

2. हड्डियों को मजबूत करने में गुड़ के फायदे – Benefits of Eating Jaggery for Bone in Hindi

अगर आप जोड़ों के दर्द या सूजन से परेशान हैं तो गुड़ आपके लिए बहुत काफी फायदेमंद हो सकता है। यह गठिया में होने वाली अन्य समस्याओं से राहत दिलाने में भी प्रभावी है।

गुड़ में मौजूद कैल्शियम और फॉस्फोरस हड्डियों को मजबूत (Jaggery benefits in Hindi) बनाने में सहायता करता है। इसके अलावा रोजाना गुड़ के एक टुकड़े के साथ अदरक लेने से सर्दियों में गर्माहट मिलती है, जिससे जोड़ों के दर्द से राहत मिल सकती है।

और पढ़ें – डायबिटीज से लेकर कैंसर तक में साबुत अनाज के फायदे

3. खाली पेट गुड़ खाने के फायदे आयरन की कमी को दूर करने में – Khali Pet Gud Khane Ke Fayde for Anemia in Hindi

गुड़ आयरन का एक प्रमुख स्रोत है। यह एनीमिया के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसलिए एनीमिया के शिकार लोगों को चीनी की जगह पर गुड़ खाने की सलाह दी जाती है।

खासतौर पर महिलाओं के लिए गुड़ का सेवन बहुत जरूरी होता है।

गुड़ हीमोग्लोबिन की गिनती को बढ़ाकर विभिन्न रक्त विकारों और बीमारियों को रोकने में भी मदद करता है। (2)

गुड़ प्रतिरक्षा तंत्र (immune system) को भी बढ़ाता है जिससे यह रक्त संबंधी विभिन्न समस्याओं की रोकथाम में मदद करता है।

और पढ़ें – एक अच्छे कुकिंग ऑयल का चुनाव कैसे करें?

4. पाचन क्रिया को दुरुस्‍त करने में गुड़ के लाभ – Gud Ke Fayde for Digestion in Hindi

पोषक तत्वों से भरपूर गुड़ का सेवन शरीर में मल त्याग और पाचन एंजाइमों की सक्रियता को प्रोत्साहित करने में मदद कर सकता है।

भोजन के बाद एक टुकड़ा  गुड़ खाने से कब्ज की समस्या नहीं रहती है।

इसके अलावा एक गिलास पानी या दूध के साथ गुड़ खाने से पेट में गैस की समस्या नहीं रहती है। इसलिए गुड़ को खाने से आपका मेटाबॉल्जिम ठीक बना रहता है।

और पढ़ें – आहार जिनमें होते हैं खूब कार्बोहाइड्रेट (अच्छे और खराब कार्ब्स)

5. खांसी जुकाम में राहत पाने में खाली पेट गुड़ का उपयोग – Jaggery Ke Fayde for Cold and Flu in Hindi

गुड़ की तासीर गर्म होने की वजह से इसका सेवन साधारण सर्दी – खांसी में काफी आरामदायक हो सकता है।

इसके अलावा बेहतर लाभ पाने के लिए गर्म दूध में गुड़ मिलाएं या अपनी चाय में स्वीटनर के रूप में इसका इस्तेमाल करें।

आप सर्दी – खांसी  में गुड़ को अदरक और काली मिर्च मिला कर खा सकते हैं।

इसके अलावा गले में खराश के कारण आवाज बैठ जाने की समस्‍या होने पर दो काली मिर्च, 50 ग्राम गुड़ के साथ खाने से यह समस्या दूर (Jaggery benefits in Hindi) हो जाती है और गले को भी आराम मिलता है।

और पढ़ें – पोटेशियम की कमी दूर करते हैं ये आहार

6. महिलाओं के लिए फायदेमंद है खाली पेट गुड़ खाना  – Jaggery Khane Ke Fayde Women in Hindi

जिन महिलाओं या लड़कियों को पीरियड्स के दौरान पेट दर्द होता है, उनके लिए गुड़ काफी फायदेमंद हो सकता है।

यह शरीर के दर्द और ऐंठन को कम करने में प्रभावी है और साथ ही यह ब्लड फ्लो को भी बेहतर बनता है।

सुबह खाली पेट गुड़ खाने या गर्म दूध के साथ गुड़ खाने से ऐंठन से राहत मिलती है।

और पढ़ें – लो कैलोरी डाइट के फायदे, नुकसान और आहार योजना।

7. शरीर को डिटॉक्स करता है गुड़ – Benefits of Eating Jaggery for Detoxifies the Body in Hindi

शरीर की अंदरूनी सफाई के लिए गुड़ खाने की सलाह दी जाती है। 

यह फेफड़ों, श्वसन पथ, पेट, आंतों और भोजन नली को साफ करके शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है साथ ही गुड़ रक्त को भी शुद्ध करता है।

अत्यधिक प्रदूषित क्षेत्रों जैसे कारखानों या कोयला खदानों में काम करने वाले लोगों के लिए सुबह खाली पेट गुड़ खाना फायदेमंद हो सकता है।

और पढ़ें – जानिए मधुमेह रोगी डायबिटीज में क्या खाएं और क्या न खाएं।

8. गुड़ खाने के फायदे त्वचा के लिए – Gud Ka Upyog for Skin in Hindi

गुड़ स्किन के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। गुड़ खून से खराब टॉक्सिन को दूर करने में मदद करता है जिससे ब्लड साफ हो जाता है। सुबह खाली पेट गुड़ खाने से त्वचा में चमक आती है साथ ही मुहांसे और झुर्रियों की समस्या भी दूर होती है।

और पढ़ें – आयरन की कमी को दूर करते हैं ऐसे आहार।

9. अस्थमा में खाली पेट गुड़ खाने के फायदे – Gud Ka Fayda for Asthma in Hindi

अस्‍थमा के मरीज़ों के लिए खाली पेट गुड़ खाना फायदेमंद (khali pet gud khane ke fayde) हो सकता है। इसमें मौजूद एंटी एलर्जिक गुणों के कारण इसका सेवन अस्‍थमा के मरीजों के लिए काफी लाभकारी हो सकता है।

और पढ़ें – किडनी स्टोन में लो ऑक्सलेट डाइट के फायदे।

10. रक्तचाप को नियंत्रित करने में गुड़ का उपयोग – Gud Ka Fayda for Blood Pressure in Hindi

गुड़ में सोडियम और पोटेशियम जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं जो रक्तचाप को बनाए रखने (Jaggery health benefits in Hindi) में विशेष भूमिका निभाते हैं।

और पढ़ें – हृदय रोगियों के लिए डाइट प्लान।

11. वजन घटाने में गुड़ के लाभ – Benefits of Eating Jaggery in Weight Loss in Hindi

गुड़ पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत है जो इलेक्ट्रोलाइट्स को संतुलित करने, चयापचय को बढ़ावा देने और मांसपेशियों के निर्माण में मदद करता है।

इसके अलावा, पोटेशियम शरीर में मौजूद अतरिक्त पानी को निकलने में भी मदद करता है, इसलिए वजन घटाने में गुड़ एक प्रमुख भूमिका निभा सकता है। (3)

और पढ़ें –  इन एंटीऑक्सीडेंट आहार से करें अपना वजन कम।

सही गुड़ का चुनाव कैसे करें? | How To Choose The Right Jaggery in Hindi

जब भी आप गुड़ खरीदने के लिए बाहर जाएं तो इसकी शुद्धता की जांच करना जरूरी है।

आमतौर पर एक अच्छे गुणवत्ता वाले गुड़ की पहचान निम्नलिखित तरीकों से की जा सकती है।

  • अच्छे गुड़ का स्वाद मीठा होता है। यदि इसका स्वाद नमकीन है तो यह इंगित करता है कि इसमें खनिज लवणों की उच्च सांद्रता शामिल है। नमकीन स्वाद यह भी बता सकता है कि गुड़ ताजा है या नहीं, यह जितना पुराना होता है, गुड़ उतना ही नमकीन होता जाता है। 
  • अगर गुड़ में कोई कड़वाहट है, तो इसका मतलब है कि यह उबलने की प्रक्रिया के दौरान कारमेलिज़ेशन (रासायनिक क्रिया) की प्रक्रिया से गुज़रा है। शुद्ध गुड़ का स्वाद मीठा होता है।
  • यदि गुड़ में क्रिस्टल मिलते हैं, तो इसका मतलब है कि गुड़ मिठास की अन्य प्रक्रियाओं से भी गुजरा है। जिसमें रासायनिक क्रियाएँ शामिल हो सकती हैं।
  • आदर्श रूप से गुड़ का रंग गहरा भूरा होना चाहिए। गुड़ में पीला रंग रासायनिक उपचार का संकेत दे सकता है।
  • हमेशा सख्त गुड़ खरीदें, सख्त गुड़ इस बात को सुनिश्चित करता है कि गन्ने के रस को उबालते समय कोई एडिटिव्स नहीं मिलाए गया होंगे।

और पढ़ें – सर्वाइकल दर्द में करें इन खाद्य पदार्थों का परहेज।

प्रतिदिन कितना गुड़ खाना चाहिए? | How Much Jaggery Should Be Eaten Daily in Hindi

आप रोजाना लगभग 10 ग्राम गुड़ खा सकते हैं। निस्संदेह, यह चीनी का एक स्वस्थ और पौष्टिक रूप है, लेकिन आप यह न भूलें की गुड़ में भी शक़्क़र होती है। इसलिए जरुरत से ज्याद सेवन स्वस्थ के लिए हानिकारक हो सकता है।

अगर आपको बीपी या  खून की कमी की समस्‍या है तो आपको गुड़ का सेवन हर द‍िन करना चाह‍िए। हालांकि, मधुमेह रोगी इसके सेवन से बचें।

चलिए अब समझते हैं खाली पेट गुड़ खाने के क्या नुकसान हो सकते हैं।

और पढ़ें – फ्लेक्सिटेरियन डायट : फायदे, नुकसान और डाइट प्लान।

खाली पेट गुड़ खाने के नुकसान | Side Effects of Eating Jaggery on Empty Stomach in Hindi

गुड़ खाने के फायदे से साथ साथ इसके कई नुकसान भी हैं।

  • गुड़ की तासीर गर्म होती है। गर्मी के मौसम में गुड़ ज्यादा खा लेने से नाक में से रक्त निकल सकता है।
  • शुगर के मरीजों को गुड़ का अधिक मात्रा में सेवन करने से शुगर लेवल बढ़ सकता है।
  • गुड़ का अधिक मात्रा में और ज्यादा समय तक लगातार सेवन करने से आप का वजन बढ़ सकता है।
  • अल्सरेटिव कोलाइटिस में गुड का सेवन नहीं करें। (अल्सरेटिव कोलाइटिस एक ऐसी आम समस्या है, जिसकी वजह से बड़ी आंत में सूजन और जलन की शिकायत होती है।)
  • अगर आप के शरीर में सूजन है तो गुड का सेवन नहीं करना चाहिए। यह आपके शरीर की सूजन बढ़ा सकता है।
  • अगर गुड़ ठीक से तैयार नहीं किया गया तो इसका सेवन करने से आंतों में कीड़े या परजीवी होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • दुर्भाग्य से, अधिकांश गुड़ अपेक्षाकृत अस्वच्छ परिस्थितियों में बनाया जाता है जिसमें रोगाणुओं (microbes) की संभावना अधिक होती है।
  • अगर आपको गुड़ से एलर्जी है तो नाक बहना या बंद होना, रैशेज, सिरदर्द, थकान, बुखार, जी मिचलाना और उल्टी जैसे साइड इफेक्ट दिखाई दे सकते हैं।
  • यदि आप उपरोक्त विकारों का अनुभव करते हैं तो आपको गुड़ के सेवन से बचना चाहिए।

और पढ़ें – स्वस्थ रहने के लिए शुरू करें लो कार्ब डाइट।

गुड़ की तासीर | Gud Ki Taseer in Hindi

गुड़ की तासीर गरम होती है इसलिए सर्दियों में गुड़ के सेवन की सलाह दी जाती है।

हालांकि, आप गुड़ को गर्मियों के मौसम में भी खा सकते हैं लेकिन कम मात्रा में ही इसका सेवन करें।

गुड़ का उपयोग गर्मियों में शरीर के तामपान को बराबर रखने के लिए किया जा सकता है।

जानकर रोजाना इसके एक मध्यम (10gm) आकार के टुकड़े का सेवन करने की सलाह देते हैं, इससे आपके शरीर का तामपान उचित बना रहता है। 

गुड़ में पाए जाने वाले पोषक तत्व | Nutritional Value of Jaggery in Hindi 

गुड़ में कई प्रकार के स्वास्थ्यवर्धक पोषक तत्व  (Cinnamon in Hindi) होते हैं, जिनमें निम्नलिखित विटामिन और खनिज शामिल हैं:

100 ग्राम गुड़ में पोषक तत्व इस प्रकार हैं – (4)

पोषक तत्व

मात्रा 

कैलोरी  383
फैट  1 ग्राम
सुक्रोज 65-85 ग्राम
फ्रुक्टोज और ग्लूकोज 10-15 ग्राम
प्रोटीन 280 मिलीग्राम (मिलीग्राम),
पोटेशियम 1056 मिलीग्राम
मैग्नीशियम 70-90 मिलीग्राम
कैल्शियम 40-100 मिलीग्राम
मैंगनीज .2–0.5 मिलीग्राम
फास्फोरस 20-90 मिलीग्राम
आयरन  11 मिलीग्राम
विटामिन ए 3.8 मिलीग्राम
विटामिन सी 7.0 मिलीग्राम
विटामिन ई 111.30 मिलीग्राम

क्या गुड़ चीनी से ज्यादा पौष्टिक है? | Is Jaggery More Nutritious Than Sugar in Hindi

यदि आप सफेद चीनी की जगह गुड़ ले रहे हैं, तो आपको गुड़ के सेवन से कुछ अतिरिक्त पोषक तत्व मिलेंगे।

रिफाइंड चीनी की तुलना में गुड़ में पोषण का स्तर काफी अधिक होता है। गुड़ में कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फोलिक एसिड और आयरन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। 

गुड़ में मौजूद पोषक तत्व ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करते हैं, आयरन की कमी करे दूर करते हैं साथ ही पाचन सम्बन्धी बिमारियों से भी छुटकारा दिलाते हैं।

हालांकि, गुड़ भी एक प्रकार की शुगर ही है इसलिए इसका अधिक सेवन स्वस्थ के लिए हानिकारक हो सकता है।

और पढ़ें – सुपरफूड क्या हैं, जानिए इसके स्वास्थ्यवर्धक फायदे।

गुड़ का उपयोग कैसे किया जा सकता है? | Jaggery Uses for Health in Hindi

आप गुड़ का उपयोग निम्नलिखित तरीकों से कर सकते हैं –

  • व्यंजनों में ब्राउन या सफेद चीनी की जगह गुड़ का उपयोग करें।
  • चाय या दूध को मीठा करने के लिए गुड़ का उपयोग करें।
  • कॉफी और गर्म या ठंडे पेय पदार्थों को मीठा करने के लिए गुड़ का उपयोग करें।
  • सादे दही में एक चम्मच गुड़ की चाशनी मिला कर खाएं।
  • अगर आप कैंडी मेकर हैं तो चीनी की जगह गुड़ का इस्तेमाल करें।
  • गुड़ के साथ तैयार किए जाने पर मफिन और बिस्कुट स्वादिष्ट और पौष्टिक होते हैं।
  • सफेद या ब्राउन शुगर की जगह कद्दूकस किए हुए गुड़ से चॉकलेट चिप कुकीज बनाएं।

क्या मधुमेह में गुड़ खा सकते हैं? | Jaggery good for diabetes?

शुगर में गुड़ खा सकते हैं या नहीं? अक्सर हमारे मन में यह प्रश्न होता है। पर इसका जवाब है नहीं।

गुड़ का सेवन डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद नहीं है। अगर आप चीनी की जगह गुड़ का सेवन करने के बारे में सोच रहे हैं तो आप यह जान लें कि गुड़ का सेवन भी मधुमेह में नुकसानदायक हो सकता है।

डायबिटीज के मरीजों में इस बात को लेकर भ्रम होता है कि वो चीनी के बजाए गुड़ का सेवन कर सकते हैं, परन्तु, ये बात सच नहीं है। अगर किसी को डायबिटीज की समस्या नहीं है, तब गुड़ आपके लिए चीनी का अच्छा विकल्प हो सकता है।

और पढ़ें – इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय।

गुड़ का सेवन करने का सबसे अच्छा मौसम कौन सा है?

गुड़ की तासीर गरम होती है, इसलिए स्वास्थ्य विशेषज्ञ सर्दियों में गुड़ के सेवन की सलाह देते हैं।

गर्मियों में गुड़ का सेवन करने से पेट की समस्या हो सकती है। इसलिए, गर्म मौसम में गुड़ का कम सेवन करना बेहतर होता है।

और पढ़ें – क्या Green coffee स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है? जानिए रिसर्च क्या कहती हैं।

निष्कर्ष | Conclusion

गुड़ एक प्रकार की अपरिष्कृत चीनी है जो मुख्य रूप से गन्ने के रस से बनाई जाती है।

गुड़ में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जिसमें कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फोलिक एसिड और आयरन प्रमुख हैं।

खाली पेट गुड़ का सेवन करने से पाचन क्रिया मजबूत होती है, बीपी ठीक रहता है, और साथ ही शरीर में खून की कमी से भी राहत मिलती है। इसलिए अगर आपको बीपी या खून की कमी की समस्‍या है तो गुड़ का सेवन हर द‍िन करना चाह‍िए।

जानकर रोजाना लगभग 10 ग्राम गुड़ खाने की सलाह देते हैं। हालांकि, गुड़ की तासीर गर्म होती है। इसलिए गर्मी के मौसम में गुड़ का ज्यादा सेवन नुकसानदायक भी हो सकता  है।


ये हैं खाली पेट गुड़ खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बताई गई पूरी जानकारी। कमेंट में बताएं आपको Benefits of Eating Jaggery in Hindi पोस्ट कैसी लगी। अगर आपको पोस्ट पसंद आई हो, तो इसे शेयर जरूर करें।

वेब पोस्ट गुरु ब्लॉग में आने और पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। 

Disclaimer : ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह से शैक्षणिक दृष्टिकोण से दी गई है। इस जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा किसी भी चीज को अपनी डाइट में शामिल करने या हटाने से पहले किसी योग्य डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ (Dietitian) की सलाह जरूर लें। 

सन्दर्भ (References)

1. Lamdande AG, Khabeer ST, Kulathooran R, Dasappa I. Effect of replacement of sugar with jaggery on pasting properties of wheat flour, physico-sensory and storage characteristics of muffins. J Food Sci Technol. 2018 Aug;55(8):3144-3153. doi: 10.1007/s13197-018-3242-7. Epub 2018 Jun 1. PMID: 30065425; PMCID: PMC6046027.

2. Warner MJ, Kamran MT. Iron Deficiency Anemia. [Updated 2021 Aug 11]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2022 Jan-. Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK448065/

3. Gallen IW, Rosa RM, Esparaz DY, Young JB, Robertson GL, Batlle D, Epstein FH, Landsberg L. On the mechanism of the effects of potassium restriction on blood pressure and renal sodium retention. Am J Kidney Dis. 1998 Jan;31(1):19-27. doi: 10.1053/ajkd.1998.v31.pm9428447. PMID: 9428447.

4. Huynh Thi Le, Dung et al. “Sustainable Processes and Chemical Characterization of Natural Food Additives: Palmyra Palm (Borassus Flabellifer Linn.) Granulated Sugar.” Sustainability 12 (2020): 2650.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.